Home /News /sports /

On This Day: कभी मोटापे का उड़ाते थे सभी मजाक, फिर नीरज चोपड़ा ने खत्‍म किया भारत का 121 साल का सूखा

On This Day: कभी मोटापे का उड़ाते थे सभी मजाक, फिर नीरज चोपड़ा ने खत्‍म किया भारत का 121 साल का सूखा

नीरज चोपड़ा ने टोक्‍यो ओलंपिक में गोल्‍ड मेडल जीता था  (Instagram)

नीरज चोपड़ा ने टोक्‍यो ओलंपिक में गोल्‍ड मेडल जीता था (Instagram)

टोक्‍यो ओलंपिक में भारत को एथलेटिक्‍स का पहला ओलंपिक गोल्‍ड दिलाने वाले नीरज चोपड़ा (neeraj chopra) आज अपना 24वां जन्‍मदिन मना रहे हैं. नीरज का जन्‍म 24 दिसंबर 1997 को हरियाणा में हुआ था. जब वह 12 साल के थे, तक उनका वजन 85 किलो था और गांव के लड़के इस वजह से उनका मजाक उड़ाते थे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. टोक्‍यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में भारत के 121 के सूखे को खत्‍म करते हुए भारत के स्‍टार जवेलिन थ्रो खिलाड़ी नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने देश की झोली में गोल्‍ड मेडल डाला था. ओलंपिक इतिहास में एथलेटिक्‍स में भारत को पहली बार गोल्‍ड मेडल दिलाने वाले नीरज चोपड़ा आज अपना 24वां जन्‍मदिन मना रहे हैं. नीरज ओलंपिक में व्‍यक्तिगत गोल्‍ड जीतने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं. उनसे पहले शूटिंग में अभिनव बिंद्रा ने यह कमाल किया था.

    24 दिसंबर 1997 को हरियाणा में जन्‍में नीरज ने टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में 87.58 मी‍टर का थ्रो करके गोल्‍ड जीता था. पूरा देश सालों से एथलेटिक्‍स में इसी मेडल का इंतजार कर रहा था, उनके इस इंतजार को नीरज चोपड़ा ने खत्‍म किया. नीरज देखते ही देखते आइकन बन गए. एक समय था, जब गांव के लड़के उनका मजाक उड़ाया करते थे. उनके अधिक वजन के कारण गांव के लड़के उन्‍हें सरपंच कहकर उनका मजाक उड़ाते थे. इसके बाद ही उनके पिता ने उन्‍हें जिम भेजना शुरू किया.

    बिना ट्रेनिंग के ही 40 मीटर तक जेवलिन फेंकते थे नीरज
    दरअसल जब नीरज 12 साल के थे, तब मलाई बूरा शक्‍कर खाने की वजह से उनका वजन 85 किलो तक हो गया था. ऐसे में जब वह कुर्ता पहनकर बाहर निकलते थे तो गांव के लड़के गांव का सरपंच कहकर उनका मजाक उड़ाया करते थे.

    Pro Kabaddi League: पटना पायरेट्स की प्रो कबड्डी लीग में जीत से शुरुआत, हरियाणा स्टीलर्स को मिली हार

    FIH: वर्ष की आखिरी रैंकिंग में भारतीय पुरुष हॉकी टीम तीसरे, महिला टीम नौवें स्थान पर

    हालांकि जिम में सबसे छोटे होने के कारण उन्‍होंने वहां जाने से मना कर दिया. इसके बाद उन्‍होंने मैदान पर कदम रखा और कोच जयवीर सिंह ने उनके टैलेंट को पहचान लिया. बिना ट्रेनिंग के ही नीरज 40 मीटर तक जेवलिन फेंक रहे थे. इसके बाद नीरज का एक नया सफर शुरू हुआ.

    Tags: Neeraj Chopra, On This Day, Sports news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर