कॉमनवेल्थ से शूटिंग हटाने के कारणों से सहमत नहीं है भारतीय शूटर - हिना सिद्धू

बर्मिंघम में 2022 में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटिंग को शामिल नहीं किया गया है जिसके कारण भारतीय शूटर्स निराश है

Riya Kasana | News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 6:37 PM IST
कॉमनवेल्थ से शूटिंग हटाने के कारणों से सहमत नहीं है भारतीय शूटर - हिना सिद्धू
दो बार की ओलिंपियन शूटर हीना सिद्धु (ap)
Riya Kasana | News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 6:37 PM IST
बर्मिंघम में 2022 में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटिंग के हट जाने से भारतीय खिलाड़ी काफी निराश हैं. आईओए की तमाम कोशिशों वह शूटिंग को अगले कॉमनवेल्थ में शामिल कराने में नाकाम रहा. भारत की पहली महिला वर्ल्ड नंबर वन शूटर हिना सिद्धू का मानना है कि शूटिंग के हट जाने से खिलाड़ियों के हाथों से प्रतिभा दिखाने का बड़ा मौका छिन रहा है, वहीं इससे भारत को भी काफी नुकसान होगा.

शूटिंग के हटने से भारत को नुकसान

दो बार की ओलिंपियन हिना सिद्धू ने कहा, 'कॉमनवेल्थ गेम्स भारतीय शूटर्स के लिए प्रतिभा दिखाने का बड़ा मंच होता है. भारत को कॉमनवेल्थ के कराण ही कई बड़े शूटर्स मिले हैं, कॉमनवेल्थ गेम्स की मदद से ही खिलाड़ियों को रैंकिंग में सुधार करने का मौका मिलता है.'

heena sidhu, commonwealth games 2019, shooting
हीना सिद्धू ने गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल हासिल किया था. (ap)


2018 में ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में आयोजित किए गए खेलों में भारत ने कुल 66 पदक जीते थे, जिनमें से 16 पदक सिर्फ निशानेबाजी में थे. भारत ने 2018 में इन खेलों में पदक तालिका में तीसरा स्थान भी हासिल किया था. हिना ने बताया कि शूटिंग के ना होने से मेडल टेली में भारत के स्थान पर भी फर्क पड़ेगा. उन्होंने कहा, 'शूटिंग के कारण भारत को कॉमनवेल्थ की मेडल टेली में अच्छा स्थान हासिल करने में मदद मिलती थी. कॉमनवेल्थ में इसके ना होने से भारत को जरूर नुकसान होगा.'

हिना बोली चाहे तो रेंज बना सकता है मेजबान

कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन के कार्यकारी बोर्ड की बैठक में महिला क्रिकेट, बीच वॉलीबॉल और पैरा टेबल टेनिस को बर्मिंघम में 2022 में होने वाले खेलों में शामिल करने को मंजूरी दे दी. इस पर सीजीएफ के 51 प्रतिशत सदस्यों की मंजूरी मिलना जरूरी है. हालांकि बोर्ड शूटिंग को लेकर रजामंद नहीं हुआ. बोर्ड के मुताबिक वह शूटिंग रेंज पर खर्च करने के लिए तैयार नहीं है. हांलाकि भारतीय शूटर्स इन कारणों से पूरी तरह सहमत नही हैं.
Loading...

बोर्ड के मुताबिक वह अपने देश में रेंज बनाने पर पैसा खर्च नहीं कर सकते. उनके देश में लागू नियमों के कारण के अगर वह रेंज बना भी लें तो बाद में उसका उपयोग नहीं हो सकता. हिना सिद्धु इस बात से कतई सहतम नही हैं. उन्होंने कहा, 'कोई भी शूटर कॉमनवेल्थ से शूटिंग हटाए जाने के कारणों से सहमत नहीं है. वह चाहें तो शिफ्ट रेंज बना सकते हैं जिसका बाद में किसी और चीज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर वह चाहें तो बास्केट बॉल कोर्ट और बैंकट हॉल जैसी जगहों को आसानी से शिफ्ट रेंज में बदल सकते हैं.'

shooting, heena sidhu, commonwealth games
2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटिंग को शामिल नहीं किया गया है. (ap)


हिना ने यह भी कहा कि जब लंदन ओलिंपिक के दौरान नियमों में बदलाव करके शूटिंग को शामिल किया गया तो कॉमनवेल्थ के समय ऐसा क्यों किया जा रहा है जबकि ओलिंपिक के मुकाबले कॉमनवेल्थ गेम्स में कम प्रतिभागी होते हैं. हीना ने यह भी बताया कि ब्रिटेन में पहले से ही शूटिंग रेंज है लेकिन वहां की फेडरेशन उसका इस्तेमाल नहीं करना चाहती. हीना फिलहाल शूटिंग से ब्रेक पर हैं और वह जल्द ही ओलिपिंक क्वालिफिकेशन के लिए ट्रेनिंग पर वापसी  करेंगी.

विराट जाएंगे वेस्टइंडीज़ दौरे पर, लेकिन इन तीन नामों पर सस्पेंस

ऑस्ट्रेलिया के इस महान खिलाड़ी को हुआ कैंसर, 5 हफ्तों से लड़ रहा है मौत से जंग!
First published: July 18, 2019, 6:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...