होम /न्यूज /खेल /हिमा दास का 'घर' बाढ़ में डूबा पर देश को 15 दिन में जिताया चौथा गोल्‍ड मेडल

हिमा दास का 'घर' बाढ़ में डूबा पर देश को 15 दिन में जिताया चौथा गोल्‍ड मेडल

हिमा दास.

हिमा दास.

वर्ल्ड जूनियर चैंपियन और 400 मीटर में नेशनल रिकॉर्ड होल्डर हिमा का सर्वश्रेष्ठ समय 23.10 सेकंड का हैं, जो उन्होंने पिछल ...अधिक पढ़ें

    भारत की युवा स्प्रिंटर हिमा दास का सुनहरा सफर जारी है. उन्‍होंने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए 15 दिनों के भीतर चौथा स्वर्ण पदक जीत लिया है. उन्होंने चेक गणराज्य में हुए टाबोर एथलेटिक्स टूर्नामेंट में 200 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण जीता. हिमा ने बुधवार को 23.25 सेकंड में 200 मीटर रेस पूरी की और सोना जीता. भारत की ही वीके विसमाया 23.43 सेकंड का समय निकालते हुए दूसरे पायदान पर रही. यह इस सीजन का उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है.

    पुरुष वर्ग में राष्ट्रीय रिकॉर्ड होल्डर मोहम्मद अनस ने 400 मीटर की स्पर्धा में 45.40 सेकेंड का समय निकालते हुए स्वर्ण जीता. अनस ने 13 जुलाई को इसी स्पर्धा में 45.21 सेकेंड के समय के साथ सोना जीता था. 2 जुलाई के बाद से हिमा का यूरोप के टूर्नामेंट में यह चौथा स्वर्ण है.

    जीत के बाद उन्होंने ट्वीट किया, 'आज 200 मीटर में फिर एक स्वर्ण जीता और टाबोर में अपना समय बेहतर करके 23.25 सेकेंड किया.'

    उन्होंने दो जुलाई को पोलैंड में हुई पहली रेस को 23.65 सेकेंड में जीता था. अपने इस गोल्डन सफर को हिमा ने कुंटो एथलेटिक्स टूर्नामेंट में भी जारी रखा. आठ जुलाई को पोलैंड में हुई प्रतियोगिता में हिमा ने 23.97 सेकंड का लेकर 200 मीटर का गोल्ड जीता.

    14 जुलाई को क्लांदो मेमोरियल एथलेटिक्स प्रतियोगिता में हिमा ने 200 मीटर स्पर्धा का गोल्ड अपने नाम किया. भारत की इस धाविका ने इस रेस को पूरा करने में 23.43 सेकंड का समय लिया.

    वर्ल्ड जूनियर चैंपियन और 400 मीटर में नेशनल रिकॉर्ड होल्डर हिमा का सर्वश्रेष्ठ समय 23.10 सेकंड का हैं, जो उन्होंने पिछले साल हासिल किया था. हालांकि हिमा बैक की समस्या से जूझ रही है और ऐसे में भी वह लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है, लेकिन वह अपने सर्वश्रेष्ठ समय से काफी दूर हो गई है.

    हिमा दास असम की रहने वाली हैं और यह राज्‍य अभी बाढ़ से जूझ रहा है. हिमा ने पिछले दिनों बाढ़ से जूझ रहे लोगों की मदद की अपील भी की थी. उन्‍होंने भी अपनी आधी सैलेरी मदद के लिए दे दी थी.

    आधी सैलेरी दान करके बोलीं हिमा दास, मेरे असम ‌को बचा लो

    हिमा दास का गोल्डन सफर जारी, लगाई हैट्रिक

    Tags: Athletics, Hima Das, Sports

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें