Home /News /sports /

Under 19 World Cup: फाइनल में छाया हरियाणा का निशांत सिंधू, अर्धशतक लगा बना जीत का भागीदार

Under 19 World Cup: फाइनल में छाया हरियाणा का निशांत सिंधू, अर्धशतक लगा बना जीत का भागीदार

क्रिकेटर निशांत सिंधू के घर बधाई देने वालों का तांता

क्रिकेटर निशांत सिंधू के घर बधाई देने वालों का तांता

Under-19 World Cup Cricket Final: निशांत के पिता सुनील निजी कंपनी में नौकरी करते हैं और मां वंदना स्कूल टीचर हैं. परिवार के लोग निशांत को पहले बॉक्सर बनाना चाहते थे और इसको लेकर उन्होंने ट्रेनिंग भी दिलाई. लेकिन निशांत को क्रिकेट बेहद पसंद था, इसलिए परिवार ने भी उसका स्थानीय क्रिकेट एकेडमी में एडमिशन करा दि

अधिक पढ़ें ...

रोहतक. अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल (Under-19 World Cup Final) में टीम इंडिया (Team India) ने इतिहास रचते हुए पांचवीं बार खिताब अपने नाम किया है. फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड को हराकर इंडिया ने एक बार फिर से अपनी बादशाहत का परिचय दिया है. इंडिया के यंगस्टर ने रोचक मुकाबले में जीत दर्ज कर भारत का गौरव बढ़ाया है. इस बार का वर्ल्ड कप हरियाणा (Haryana) के लिए भी काफी खास था, क्योंकि इस बार टीम इंडिया में प्रदेश के 3 खिलाड़ी रोहतक के निशांत सिंधू, हिसार के दिनेश बाना और भिवानी के गर्व सांगवान देश का प्रतिनिधित्व कर रहे थे. टीम के कैप्टन यस ढुल भी हरियाणा के रोहतक के ही रहने वाले हैं, लेकिन वे दिल्ली की तरफ से खेलते हैं.

फाइनल मुकाबले को लेकर हरियाणा के लोगों में काफी उत्साह था, जिसे प्रदेश के खिलाड़ियों ने बरकरार भी रखा. रोहतक के रहने वाले निशांत सिंधु (Nishant Sindhu) अर्धशतक बनाकर नाबाद रहे और फाइनल मुकाबला जीतने में अहम योगदान दिया. निशांत सिंधू के पिता सुनील और माता वंदना को पहले से ही यकीन था कि भारतीय टीम फाइनल मुकाबला जीतकर आएगी.

टीम इंडिया की जीत के बाद निशांत के घर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. बेटे की इस उपलब्धि पर माता-पिता बेहद खुश हैं. निशांत के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि उसे बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक है. क्रिकेट को लेकर उसके अंदर इतना जुनून है कि वह हर वक्त क्रिकेट के बारे में ही सोचता रहता है और क्रिकेट को ही जीता है.

निशांत के पिता सुनील निजी कंपनी में नौकरी करते हैं और मां वंदना स्कूल टीचर हैं. परिवार के लोग निशांत को पहले बॉक्सर बनाना चाहते थे और इसको लेकर उन्होंने ट्रेनिंग भी दिलाई. लेकिन निशांत को क्रिकेट बेहद पसंद था, इसलिए परिवार ने भी उसका स्थानीय क्रिकेट एकेडमी में एडमिशन करा दिया.
अपने बेटे की उपलब्धि पर परिवार काफी गौरवान्वित महसूस कर रहा है.

निशांत की मां और पिता को उम्मीद है कि उनका बेटा जल्द ही भारतीय सीनियर टीम का हिस्सा बनकर देश का गौरव बढ़ाएगा. निशांत की एकेडमी के कोच और साथी खिलाड़ी भी बेहद खुश हैं कि उनके साथ खेलने वाले दोस्त देश का नाम रोशन कर रहे हैं.

Tags: Haryana news, Under-19 World Cup 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर