टोक्यो ओलिंपिक पर आई बड़ी खबर, जानिए दोबारा स्थगित हुए तब क्या होगा

टोक्यो ओलिंपिक पर आई बड़ी खबर, जानिए दोबारा स्थगित हुए तब क्या होगा
उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया समूह न्यूज कोर की एक परिचर्चा में कहा कि जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने साफ तौर पर कहा है कि टोक्यो ओलिंपिक दूसरी बार टाले नहीं जा सकते.

विश्व युद्ध (World War) के बाद ये पहला मौका है जब ओलिंपिक खेलों (Olympics Games) को टाला गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2020, 2:01 PM IST
  • Share this:
टोक्यो. दुनियाभर में कोहराम मचा चुके कोरोना वायरस (Coronavirus) की मार टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) पर भी पड़ चुकी है. इस साल 24 जुलाई से शुरू होने वाले खेलों को एक साल के लिए टाला जा चुका है. अब ये खेल 23 जुलाई से आठ अगस्त 2019 तक खेले जाने हैं. दिलचस्प बात ये है कि विश्व युद्ध के बाद ये पहला मौका है जब ओलिंपिक खेलों को स्थगित किया गया है. जबकि ओलिंपिक खेलों के इतिहास का ये पहला अवसर है जब इन खेलों को किसी महामारी की वजह से टाला गया है. हालांकि अब सभी की निगाहें इस बात पर टिकी हैं कि क्या अगले साल इन खेलों का आयोजन संभव हो सकेगा.

सवाल बड़ा है. अगर टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) को कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते अगले साल भी स्थगित करने की नौबत आ गई तब क्या होगा. क्या इन खेलों को दोबारा स्थगित किया जाएगा या फिर इन्हें रद्द ही कर दिया जाएगा. खेल प्रेमियों के इसी सवाल का जवाब अब टोक्यो ओलिंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने दिया है.

23 जुलाई 2021 से आगे नहीं बढ़ाया जा सकता
टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) आयोजन समिति के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने साफ कर दिया है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण एक साल के लिए स्थगित किए गए खेलों को और आगे नहीं बढ़ाया जा सकता है. टोक्यो 2020 के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने कहा, ‘खेलों को 23 जुलाई 2021 से आगे नहीं बढाया जा सकता. खेल प्रबंधन के अलावा खिलाड़ियों और तमाम मसलों के बारे में सोचिए. इसे दो साल के लिए टालना तकनीकी तौर पर संभव नहीं है.’
कोरोना वायरस पर इंसानियत की जीत के परिचायक होंगे टोक्यो ओलिंपिक


योशिरो मोरी ने कहा कि उन्होंने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से पहले पूछा था कि क्या खेलों को दो साल के लिए टालना होगा, इस पर प्रधानमंत्री ने ही एक साल के स्थगन का फैसला लिया था. आयोजकों ने कहा है कि ये खेल कोरोना वायरस पर इंसानियत की जीत के परिचायक होंगे लेकिन अब सवाल उठने लगे हैं कि क्या एक साल के भीतर खेल हो भी सकेंगे.

इस सप्ताह कोबे यूनिवर्सिटी के संक्रामक रोग विभाग के प्रोफेसर केंतारो इवाता ने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि खेल अगले साल भी हो सकेंगे. इसके लिए जापान ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस काबू में लाना होगा.’

पार्थिव पटेल ने बयां किया 12 साल पुराना वाकया, कहा-एमएस धोनी कप्तान थे इसलिए..

संन्यास की दहलीज पर खड़े गेल को झटका, बड़े टूर्नामेंट से पहले टीम ने किया बाहर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading