लाइव टीवी

Olympic Count down 165 Days: भारतीय उम्मीदों को झटका, 32 साल से सजा ताज पाकिस्तान ने छीन लिया था

News18Hindi
Updated: February 10, 2020, 1:35 PM IST
Olympic Count down 165 Days: भारतीय उम्मीदों को झटका, 32 साल से सजा ताज पाकिस्तान ने छीन लिया था
मैच के दौरान भारत और पाकिस्तान की टीमें (फाइल फोटो)

1960 में रोम में पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत का स्वर्णिम सफर रोक दिया था. 1928 के बाद पहली बार भारत हॉकी में गोल्ड नहीं जीत पाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 10, 2020, 1:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उस दौर में जब ओलिंपिक में भारत का स्वर्णिम दौर चल रहा रहा था, 1960 रोम ओलिंपिक (Rome Olympics) में पूरे देश को करारा झटका लगा. 1956 ओलिंपिक में मिली हार का हिसाब पूरा करते हुए रोम में पाकिस्तान ने भारत का गोल्डन सफर रोक दिया था. 1928 के बाद ऐसा पहली बार हुआ था कि जब भारतीय पुरुष हॉकी टीम गोल्ड नहीं जीत पाई. खिताबी मुकाबले में पाकिस्तान ने भारत को 1-0 के अंतर से हराया था. पाकिस्तान के अहमद नासीर ने शुरुआती छह मिनट में विजयी गोल दागा था, जिसे भारत कभी नहीं भूल पाया.

ऑस्ट्रेलिया में गोल्ड जीतने तक के सफर में भारत ने एक भी गोल नहीं खाया था.
1956 ओलिंपिक में भारत ने अपने अभियान में एक भी गोल नहीं खाया था (फाइल फोटो)


टीम का सफर
1956 ओलिंपिक में भारत ने अपने अभियान में एक भी गोल नहीं खाया था, लेकिन रोम ओलिंपिक (Rome Olympics) में ग्रुप दौर में ही उसे गोल खाने पड़ गए. खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही भारत को न्यूजीलैंड, नेदरलैंड्स और डेनमार्क के साथ ग्रुप ए में रखा गया. जहां वह छह अंकों के साथ शीर्ष पर रही. ग्रुप के अपने पहले मुकाबले में भारत ने डेनमार्क को 10-0 से,  नेदरलैंड्स को 4-1 और न्यूजीलैंड को 3-0 से हराया था. क्वार्टरफाइनल में भारत ने एक्‍स्ट्रा टाइम में ऑस्ट्रेलिया  को 1-0 से हराया और सेमीफाइनल में ग्रेट ब्रिटेन को 1-0 से हराया.

महिला ओलिंपिक (Olympic) फुटबॉल टूर्नामेंट 2020 के एशियन क्वालीफायर फरवरी में होने हैं.
पाकिस्तान के अहमद नासीर ने शुरुआती छह मिनट में विजयी गोल दागा था.  (सांकेतिक तस्वीर )


शुरुआती मिनट में भी भारत को लग गया था झट‌का
भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच नौ सितंबर 1960 को खेले गए खिताबी मुकाबले में माना जा रहा था कि टक्कर बराबर की देखने को मिलेगी.  लेकिन शुरुआती छह मिनट में ही नासीर ने गोल करके भारतीयों का दिल तोड़ दिया. हालांकि मैच का पासा पलटने के लिए भारत के पास समय था, लेकिन इस गोल ने टीम पर दबाव बना दिया.
india olympics hosting, india 2032 olympics games, olympic games india, india olympic host, इंडिया ओलिंपिक गेम्‍स, इंडिया ओलिंपिक मेजबानी, 2032 ओलिंपिक मेजबानी
1928 के बाद ऐसा पहली बार हुआ था कि जब भारतीय पुरुष हॉकी टीम गोल्ड नहीं जीत पाई.  (सांकेतिक तस्वीर )


पूरे मुकाबले में भारत ने बराबरी की कोशिश की, लेकिन पाकिस्तान के डिफेंस को तोड़ नहीं पाई और भारत को मुकाबले से हाथ धोना पड़ा.पाकिस्तान की इस जीत से खुश होकर पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति ने हॉकी को राष्ट्रीय खेल घोषित कर दिया था.

सिल्वर जीतने वाली टीम
जोसेफ एं‌टिक,लेस्ली क्लॉडियस, जमान लाल शर्मा, मोहिंदर लाल, शंकर लक्ष्मण, गोविंद सांवत, जॉन पीटर, रघबीर सिंह भोला, उधम सिंह कुल्हार, चरणजी सिंह, जसवंत सिंह, जोगिन्दर सिंह, पृथ्वीपाल सिंह

बंटवारे के बाद पहली बार आमने- सामने आए भारत-पाक, देश ने जीता छठा था गोल्ड

1952 Olympic : बलबीर सिंह के वर्ल्ड रिकॉर्ड ने दिलाया भारत को पांचवां गोल्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 1:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर