लाइव टीवी

16 घंटे 49 मिनट का समय लेकर भारत के लक्ष्मण ने जीती 160 किलोमीटर की हिमालयन रेस

News18Hindi
Updated: November 13, 2019, 4:11 PM IST
16 घंटे 49 मिनट का समय लेकर भारत के लक्ष्मण ने जीती 160 किलोमीटर की हिमालयन रेस
निदेशक सीएस पाण्डेस लक्ष्मण सिंह को सम्मानित करते हुए

महिला वर्ग में इंग्लैंड की अमांडा स्टर्लिंग ने 25 घंटे 27 मिनट का समय लेकर खिताब जीता

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2019, 4:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दार्जिलिंग परिक्षेत्र में माउंट एवरेस्ट और कंचनजंघा के साये में 29वीं अंतरराष्ट्रीय हिमालयन रन एंड ट्रेक स्पर्धा का अयोजन किया गया. रेस डायरेक्टर सीएस पांडेय के अनुसार इस बार रेस में जर्मनी, यूके, अमेरिका आदि विभिन देशों के धावकों ने भाग लिया. इस दौड़ में पुरुष वर्ग में भारत के  लक्ष्मण सिंह ने 16 घंटे 49 मिनट का समय लेकर प्रथम स्थान हासिल किया. इंग्लैंड के जॉन व्हीटलेय 23 घंटे 34 मिनट का समय लेकर दूसरे स्थान पर और इंग्लैंड के पॉल होलिस 24 घंटे का समय लेकर तीसरे स्थान पर रहे.

महिला वर्ग में इंग्लैंड कि अमांडा स्टर्लिंग 25 घंटे 27 मिनट के साथ प्रथम, इंग्लैंड की क्लेयर स्मॉलवुड दूसरे स्थान पर और अमेरिका की निकोल हौंडा  तीसरे स्थान पर रहीं. हिमालय के पर्यावरण एव संस्कृति की रक्षा के संदेश से आयोजित हुई इस रेस में संत नागपाल बाबा, छतरपुर, दिल्ली की स्मृति में दिया जाने वाला स्वर्ण पदक ओवर ‌ऑल विजेता का पुरस्कार लक्ष्मण सिंह को दिया गया. रेस का आयोजन नवंबर के पहले सप्ताह में किया गया था. इस रोमांचक दौड़ को दुनिया की सर्वोत्तम, खूबसूरत व साहसिक दौड़ भी कहा जाता है.

lakshman singh,himalayan run and trek, sports news, sports news लक्ष्मण सिंह, स्पोर्ट्स न्यूज
पुरुष वर्ग के विजेता खिलाड़ी


 सफाई करते हुए दौड़ते हैं एथलीट

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे स्‍थानीय पुलिस प्रशासन इफ्तार हुसैन ने सीएस पांडेय की तारीफ करते हुए कहा कि वह उनके इस साहसपूर्ण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए किए जा रहे कार्यों एवं हिमालयन रन एंड ट्रेक से बेहद प्रभावित हैं. पांच दिनों की 160 किलोमीटर की यह हिमालयन रेस पांच चरणों में पूरी हुई. प्रतियोगिता की शुरुआत 1991 के दशक में हुई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य हिमालय में दार्जिलिंग के प्रसिद्ध संग्रीला क्षेत्र का पर्यावरण संरक्षण रहा है. साथ ही में संग्रीला परिक्षेत्र को साहसिक खेलों के लिए विश्वभर में चर्चित करना है. प्रतियोगी पिछले वर्षों के भांति इस वर्ष भी रेस के दौरान इस क्षेत्र का कूड़ा-कचरा, जो दूसरे पर्यटकों द्वारा छोड़ा गया था, उसे उठाकर लाए और उस कचरे को स्थानीय वन व वाइल्डलाइफ विभाग के पास जमा कराया.

यह भी पढ़ें :

आईसीसी महिला टी20 वर्ल्ड कप में लाइव परफॉर्म करेंगी कैटी पैरीटेनिस दिग्गज लिएंडर पेस को लगा बड़ा झटका, 19 साल में पहली बार हुआ ऐसा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 3:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर