Tokyo Olympic: पहली बार महिला-पुरुष खिलाड़ियों की संख्या बराबर, अब आईओए ने उठाया बड़ा कदम

टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई से होना है. (Tokyo Olympics Twitter)

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के मुकाबले 23 जुलाई से शुरू होने हैं. इस बार पुरुष और महिला खिलाड़ियों की संख्या पहली बार बराबर रहेगी. हालांकि कोरोना के कारण कई बड़े खिलाड़ियाें के उतरने पर संशय बना हुआ है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने कहा कि लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के लिए भारत आगामी टोक्यो ओलंपिक में पहली बार दो ध्वजवाहक के साथ उतर सकता है, जिसमें एक पुरुष और एक महिला होगी. बत्रा ने कहा कि इनके नामों का खुलासा जल्द किया जाएगा. ओलंपिक के मुकाबले 23 जुलाई से होने हैं. हालांकि कोरोना के कारण इसके आयोजन पर संशय है. इस बार पहली बार ओलंपिक में महिला और पुरुष खिलाड़ियों की संख्या बराबर है. इस कारण यह कदम उठाया जा रहा है.

    नरिंदर बत्रा ने कहा, ‘अब तक इस पर फैसला नहीं किया गया है. यह मामला अब भी सलाह मशविरे के चरण पर है, लेकिन संभावना है कि इस साल लैंगिक समानता के लिए दो ध्वजवाहक एक पुरुष और एक महिला होंगे.’ देश के एकमात्र ओलंपिक व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा 2016 रियो ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में ध्वजवाहक थे. टोक्यो खेलों का उद्घाटन समारोह 23 जुलाई को होगा. कोविड-19 महामारी के कारण एक साल के लिए स्थगित किए गए गेम्स में भारत के 100 से अधिक खिलाड़ी पदक के लिए चुनौती पेश करेंगे.

    अभी क्वालिफिकेशन मुकाबले बाकी

    नरिंदर बत्रा ने कहा अभी तक सभी इवेंट में भारतीय टीम की घोषणा नहीं हुई है. तीरंदाजी में क्वालिफिकेशन मुकाबले बाकी हैं. हमें जब फाइनल सूची मिल जाएगी, हम ध्वज वाहक के नाम की घोषणा कर देंगे. हमें इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी से उद्घाटन समारोह को लेकर बात भी करनी है. कोरोना की वजह से इसमें बदलाव किए जा सकते हैं. ऐसे में ये देखना होगा कि यह सेरेमनी होता भी है या नहीं.

    खिलाड़ी एक साथ टोक्यो नहीं जाएंगे

    आईओए अध्यक्ष नरिंद्र बत्रा ने कहा कि सभी खिलाड़ी एक साथ टोक्यो नहीं जाएंगे. आयाेजनकर्ताओं की ओर से बनाए गए प्रोटोकॉल के अनुसार खिलाड़ियों को इवेंट से 5-6 दिन पहले ही टोक्यो पहुंचना है. ऐसे में इवेंट के हिसाब से खिलाड़ियों की रवानगी होगी. मालूम हो कि शूटिंग के खिलाड़ी विदेशी दौरे पर हैं. वे वहां से सीधे टोक्यो जाएंगे. इस साल खिलाड़ियों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है. पिछली बार हमें सिर्फ दो मेडल मिले थे. नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने कहा कि अगर फैंस इवेंट के दौरान नहीं रहेंगे तो वे गेम्स में नहीं उतरेंगे. अब तक फैंस को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है.