इंडिया ओपन: इंतानोन को हराकर फाइनल में पहुंचीं सिंधू

इंडिया ओपन: इंतानोन को हराकर फाइनल में पहुंचीं सिंधू
भारत की पीवी सिंधू ने थाईलैंड की रतचानोक इंतनोन को सीधे गेम में हराकर लगातार दूसरी बार इंडिया ओपन 2018 बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला एकल फाइनल में जगह बनाई.

भारत की पीवी सिंधू ने थाईलैंड की रतचानोक इंतनोन को सीधे गेम में हराकर लगातार दूसरी बार इंडिया ओपन 2018 बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला एकल फाइनल में जगह बनाई.

  • Share this:
शीर्ष वरीय बैंडमिंटन खिलाड़ी और पिछली बार की चैंपियन पीवी सिंधू ने थाईलैंड की तीसरी वरीय रतचानोक इंतनोन को रोमांचक मुकाबले में सीधे गेम में हराकर लगातार दूसरी बार 350000 डालर इनामी इंडिया ओपन 2018 बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स फाइनल में जगह बनाई.

ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू ने सिरी फोर्ट खेल परिसर में शनिवार आधी रात से लगभग एक घंट पहले खत्म हुए सेमीफाइनल मुकाबले में आक्रामक खेल दिखाते हुए पूर्व विश्व चैंपियन थाईलैंड की तीसरी वरीय इंतानोन को 48 मिनट में 21-13 21-15 से जीत दर्ज की. इंतानोन के खिलाफ सिंधू की यह लगातार दूसरी और सात मैचों में कुल तीसरी जीत है जबकि चार बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा है.

फाइनल में उनका सामना अमेरिका की पांचवीं वरीय बेईवान झेंग से होगा जिन्होंने अंतिम चार के एक अन्य मुकाबले में हांगकांग की छठी वरीय च्युंग यी को हराया.



दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी बेईवान ने तीन गेम तक चले कड़े मुकाबले में दुनिया की 29वें नंबर की खिलाड़ी च्युंग यी को 63 मिनट में 14-21 21-12 21-19 से हराया. बेईवान ने पहली बार सुपर सीरीज स्तर के किसी टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है. इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2016 में था जब वह फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची थी. बेईवान और सिंधू के बीच अब तक तीन मुकाबले खेले गए हैं और इसमें से भारतीय खिलाड़ी ने दो में जीत दर्ज की है. दोनों के बीच हालांकि मुकाबले काफी कड़े रहे हैं और तीनों मैच का नतीजा तीन गेम में निकला.
इंतानोन के खिलाफ सिंधू शुरू से ही लय में दिखीं, जबकि थाईलैंड की खिलाड़ी ने काफी सहज गलतियां की. सिंधू ने 1-3 के स्कोर पर लगातार 12 अंक के साथ 13-3 की मजबूत बढ़त बनाई. सिंधू ने इस दौरान कुछ दमदार स्मैश लगाए जबकि इंतानोन ने कई शाट बाहर और नेट पर मारे. इंतानोन ने शानदार ड्राप शाट के साथ सिंधू के अंक हासिल करने के क्रम को रोका. सिंधू ने इसके बाद स्कोर 16-8 किया. इंतानोन ने लगातार दो शाट नेट पर मारकर भारतीय खिलाड़ी को आठ गेम प्वाइंट दिए. इंतानोन ने एक अंक बचाया लेकिन इसके बाद नेट पर शाट मारकर पहला गेम सिंधू की झोली में डाल दिया.

दूसरे गेम में भी इंतानोन लय में नहीं दिखी. उन्होंने काफी गलतियां की और उन्हें मूवमेंट में भी परेशानी आ रही थी. वहीं सिंधू के स्मैश में पूरी धार थी लेकिन उन्होंने कुछ शाट बाहर मारे जिससे स्कोर 5-5 से बराबर था. इंतानोन हालांकि फिर नेट पार कराने में जूझती दिखी और भारतीय खिलाड़ी ब्रेक तक 11-7 से आगे थी. इंतानोन वापसी करते हुए स्कोर 12-13 करने में सफल रही. सिंधू को हालांकि इसके बावजूद बढ़त बरकरार रखने में कोई परेशानी नहीं हुई. सिंधू ने शानदार ड्राप शाट के साथ छह मैच प्वाइंट हासिल किए. इंतानोन ने एक अंक बचाया लेकिन फिर शाट बाहर मार बैठी.

इससे पहले बेईवान ने धीमी शुरुआत की जिसका फायदा उठाकर च्युंग यी ने 8-8 के स्कोर के बाद बढ़त हासिल की और अंत तक इसे बरकरार रखते हुए पहला गेम जीत लिया.

बेईवान ने दूसरे गेम में जोरदार वापसी की और एक बार भी विरोधी खिलाड़ी को बराबरी हासिल करने का मौका नहीं दिया.

तीसरे और निर्णायक गेम में भी बेईवान 2-2 के स्कोर के बाद हमेशा आगे ही रही और जीत दर्ज करने में सफल रही.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज