लाइव टीवी

पाकिस्तानी घुड़सवार ने की घटिया हरकत, घोड़े का नाम रखा 'आजाद कश्मीर', सरेआम हुई बेइज्जती

News18Hindi
Updated: February 8, 2020, 3:26 PM IST
पाकिस्तानी घुड़सवार ने की घटिया हरकत, घोड़े का नाम रखा 'आजाद कश्मीर', सरेआम हुई बेइज्जती
पाकिस्तान के घुड़सवार उस्मान खान

पाकिस्तान (Pakistan) के लिए घुड़सवारी में टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वालिफाई करने वाले उस्मान खान (Usman Khan) का घोड़ा विवादों में घिर गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 8, 2020, 3:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) और भारत (India) के बीच इन दिनों तनावपूर्ण रिश्ते चल रहे हैं. इस बीच ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले पाकिस्तानी घुड़सवार का घोड़ा चर्चा का विषय बन गया है, जिसके खिलाफ इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन (Indian Olympic Association) ने शिकायत दर्ज की है.

दरअसल, पाकिस्तानी घुड़सवार उस्मान खान (Usman Khan) इस साल टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं. हालांकि जिस घोड़े से उन्होंने ऐसा किया उसका नाम आजाद कश्मीर (Azaad Kahmir) है, जिस पर भारत ने ऐतराज जताया है. हॉर्स डेटाबेस के मुताबिक, उस्मान ने 12 साल के इस घोड़े को ऑस्ट्रेलिया में पिछले साल बेलिंडा इसबिस्टर से खरीदा था. खरीदते वक्त उसका नाम हेयर-टू-स्टे था, हालांकि उस्मान (Usman Khan) ने इसे बदलकर आजाद कश्मीर रख दिया. वह ओलिंपिक में इसी घोड़े का इस्तेमाल करने वाले हैं.

क्या कहते हैं ओलिंपिक नियम
भारतीय फेडरेशन के मुताबिक यह ओलिंपिक चार्टर रूल 50 के खिलाफ है जो कहता है कि ओलिंपिक के हर इवेंट, जगह या वेन्यू पर हर कीमत पर राजनीतिक तटस्थता बनाए रखना अनिवार्य है. किसी भी इशारे या वस्तु से किसी राष्ट्र की धार्मिक, राजनैतिक भावना को ठेस नहीं पहुंचाया जा सकता. अगर इसके खिलाफ कोई शिकायत दर्ज कराता है तो आरोपी देश का ओलिंपिक कोटा रद्द किया जा सकता. भारत को लगता है कि घोड़े का नाम ऐसी जगह पर रखना जिसे लेकर पहले से ही विवादों की स्थिति है, नियमों के खिलाफ है.

Fouaad Mirza,Tokyo Olympic 2020, sports news, फवाद मिर्जा, टोक्यो ओलिंपिक, स्पोर्ट्स न्यूूज
भारत के फवाद मिर्जा भी इसी इवेंट में ओलिंपिक कोटा हासिल कर चुके हैं


भारतीय ओलिंपिक एसोसिएशन की दो टूक
हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा (Narinder Batra) ने कहा कि, 'ओलिंपिक खेलों में हर हाल में तटस्थता बनी रहनी चाहिए. लोगों को खेलों में शरारत करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है.'इसी बीच पाकिस्तान फेडरेशन ने कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी उनके खिलाफ कोई शिकायत करती है तो वह उस्मान से इस बारे में बात करेंगे. उन्होंने कहा, 'उस्मान ने उसी घोड़े के साथ क्वालिफाई किया था. ऐसे में वह अब नाम नहीं बदल सकता.' साथ ही उन्होंने कहा कि अगर मुद्दा बड़ा बनता है तो वह उस्मान से बात करेंगे कि क्या वह वह इसके लिए तैयार है और नाम की जगह एफईआई आईडेंटी का इस्तेमाल करने का विकल्प हमेशा हमारे पास है.' बता दें कि FEI एक यूनिक अल्फा-न्यूमेरिक कोड होता है, प्रतियोगिता में दौड़ने वाले घोड़ों को उनके नाम से इतर एक पहचान देता है.

olympic, sports,sports news
नरिंदर बत्रा ने कहा खेल के नाम पर नहीं होगा मजाक


पाकिस्तान फेडरेशन का बड़ा बयान
हालांकि पाकिस्तानी वेबसाइट पीके के मुताबिक पाकिस्तानी घुड़सवारी फेडरेशन से इस बारे में कोई बात नहीं की गई है. पाकिस्तानी ओलिंपिक एसोसिएश के अध्यक्ष रिटायर्ड जनरल आरिफ हसन ने कहा कि भारतीय मीडिया से इस बारे में कोई बात नहीं की गई है. उन्होंने कहा, 'जिस इंसान ने बात करने की बात कही गई है उसे बहुत वक्त पहले ही बाहर कर दिया गया था.

बचपन में पोलियो की शिकार, फिर भी पाई चीते सी रफ्तार, ओलिंपिक में जीते 3 गोल्ड!

64 साल में 41 रणजी ट्रॉफी जीती, इसबार नॉकआउट के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी टीम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर