इटली में फैला कोरोनावायस, फिर भी ट्रेनिंग कैंप छोड़ वापस नहीं आएंगे मैरीकॉम और अमित पंघाल

इटली में फैला कोरोनावायस, फिर भी ट्रेनिंग कैंप छोड़ वापस नहीं आएंगे मैरीकॉम और अमित पंघाल
छह बार की विश्व चैंपियन मुक्केबाज मैरीकॉम राज्यसभा सांसद हैं.

भारतीय टीम में 13 मुक्केबाज और इतने ही सहयोगी सदस्य हैं जो इटली (Italy) के असिसी में ट्रेनिंग शिविर में हिस्सा ले रहे हैं

  • भाषा
  • Last Updated: February 26, 2020, 10:57 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
असिसी. टोक्यो ओलिंपिक 2020 (Tokyo Olympic 2020) के क्वालिफायर टूर्नामेंट की तैयारी के सिलसिले में इटली में प्रशिक्षण ले रहे भारतीय मुक्केबाजों को नोवेल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए समय से पहले घर वापस आने का विकल्प दिया गया था लेकिन टीम ने वहां रुके रहने का फैसला किया.

भारतीय खिलाड़ी असिसी स्थित प्रशिक्षण शिविर में अभ्यास कर रहे हैं जो इटली में इस जानलेवा बीमारी के केन्द्र से काफी दूर है. भारतीय टीम में 13 मुक्केबाज और इतने ही सहयोगी सदस्य हैं. टीम इटली (Italy) के मध्य क्षेत्र के उम्ब्रिया स्थित पहाड़ी शहर असिसी में अभ्यास कर रही है. इटली में कोरोनोवायरस का प्रकोप उत्तरी लोम्बार्डी क्षेत्र में है जहां इससे सात लोगों की मौत हो गयी है जब कि 229 लोग संक्रमित है.

इटली में भी फैल चुका है कोरोनावायरस
भारतीय टीम के हाई परफोरमेंस निदेशक सैंटियागो नीवा ने असिसी से पीटीआई को कहा, ‘हम असिसी में बने रहेंगे, हमे कल भी अभ्यास करना है. जब हमने इटली में कोरोना वायरस के प्रसार के बारे में सुना तो चिंतित हो गये थे लेकिन हमें मालूम है कि हम वहां से काफी दूर है.’



उन्होंने कहा, ‘हमने इटली के अधिकारियों से भी बात की और महसूस किया कि अभी हमारे लिए चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है.’ ओलिंपिक के लिए मुक्केबाजी के क्वालिफायर के मुकाबले तीन मार्च से जार्डन में होंगे. इस प्रतियोगिता को पहले चीन के वुहान में होना था लेकिन इस शहर के कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद जॉर्डन को इसकी मेजबानी सौंप दी गयी.



जॉर्डन में होनी है एशियन चैंपियनशिप
एमसी मैरीकॉम (MC Marykom), अमित पंघाल (Amit Panghal) और विकास कृष्णा (Vikas Krishan) सहित भारतीय मुक्केबाज शुक्रवार को रोम से जॉर्डन (Jordan) के लिए रवाना होंगे. नीवा ने राष्ट्रीय महासंघ के साथ कोरोना वायरस के प्रसार पर चिंता जतायी थी जिसके बाद टीम को बुधवार को वहां से समय से पहले निकलने का विकल्प दिया गया था.

नीवा ने कहा, ‘हां महासंघ ने हमें यहां से समय से पहले निकलने का विकल्प दिया था लेकिन हम यहां रूक कर योजना के मुताबिक अपने शिविर को पूरा करेंगे. हम खतरे वाले क्षेत्र से काफी दूर है.’

Olympic Countdown 149 Days: महज 2 साल की उम्र में थाम ली थी बंदूक, फिर 2012 में भारत को दिलाया ओलंपिक मेडल

सड़क पर शर्ट उतारकर लड़कियों के साथ नाचता दिखा धोनी का दोस्त, जिता चुका है 2 वर्ल्ड कप
First published: February 26, 2020, 10:01 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading