लाइव टीवी

Tokyo Olympic : ओलिंपिक क्वालिफिकेशन ट्रायल्स के लिए फिट नहीं सुशील कुमार

News18Hindi
Updated: January 2, 2020, 12:08 PM IST
Tokyo Olympic : ओलिंपिक क्वालिफिकेशन ट्रायल्स के लिए फिट नहीं सुशील कुमार
दो ओलिंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार फिलहाल चोट से उबरने में लगे हैं. (फाइल फोटो)

टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) 24 जुलाई से शुरू होकर 9 अगस्त तक चलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2020, 12:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) चोट से उबरने में जुटे हैं. यही वजह है कि सुशील शुक्रवार को होने वाले ओलिंपिक क्वालिफिकेशन ट्रायल्स के लिए अभी तक फिट नहीं हुए हैं. इसके चलते भारत के ‌इस दिग्गज पहलवान ने ट्रायल्स स्‍थगित करने की मांग की है. इन ट्रायल्स पर ही सुशील का अगले महीने होने वाली एशियन चैंपियनशिप और मार्च में होने वाले ओलिंपिक क्वालिफिकेशन ट्रायल्स में खेलना निर्भर करेगा..

आखिरी फैसला गुरुवार को
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने कहा है कि उन्हें अपने कंधे की चोट से उबरने के लिए अभी और वक्त चाहिए. उन्होंने भारतीय कुश्ती फेडरेशन (Wrestling Federation of India) को अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भी दे दिया है. 36 साल के सुशील कुमार ने आग्रह किया है कि वे लंबे समय से इसकी तैयारी कर रहे हैं इसलिए उम्मीद है कि फेडरेशन इस पर विचार करते हुए 74 किग्रा. भारवर्ग के ट्रायल्स स्‍थगित कर देगी. माना जा रहा है कि फेडरेशन उनका ये आग्रह स्वीकार कर सकता है. हालांकि भारतीय कुश्ती फेडरेशन के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा है कि इस मामले पर आखिरी फैसला गुरुवार को लिया जाएगा.

sports, olympics, sushil kumar, tokyo olympics, wrestling, trials, स्पोर्ट्स न्यूज, सुशील कुमार, टोक्यो ओलिंपकि, ओल‌िंपिक, कुश्ती, पहलवान, कुश्ती ट्रायल्स
सुशील कुमार साल 2019 में वर्ल्ड चैंपियनशिप के बाद से कोई टूर्नामेंट नहीं खेले हैं. (फाइल फोटो)


रियो में 74 किग्रा. में नहीं खेला था कोई भारतीय पहलवान
रियो ओलिंपिक (Rio Olympic) में हुए विवाद के बाद सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने साल 2018 से बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लेना शुरू कर दिया था. उन्होंने कॉमनवेल्‍थ गेम्स में स्वर्ण पदक अपने नाम किया, हालांकि उन्हें एशियन गेम्स और 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में बिना पदक के लौटना पड़ा. रियो ओलिंपिक में 74 किग्रा. भारवर्ग में कोटा होने के बावजूद भारत का कोई पहलवान इस वर्ग में नहीं खेला था. सुशील ने वर्ल्ड चैंपियनशिप के बाद से किसी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया, जिसमें नेशनल चैंपियनशिप भी शामिल है. सुशील की गैरमौजूदगी में 18 साल के गौरव बालियान ने 74 किग्रा. भारवर्ग में चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. हालांकि नेशनल चैंपियनशिप में सुशील और गौरव के मुकाबले की पूरी उम्मीद थी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका.

sports, olympics, sushil kumar, tokyo olympics, wrestling, trials, स्पोर्ट्स न्यूज, सुशील कुमार, टोक्यो ओलिंपकि, ओल‌िंपिक, कुश्ती, पहलवान, कुश्ती ट्रायल्स
भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने हाल ही में शानदार प्रदर्शन किया है. (पीटीआई)
बजरंग को ट्रायल्स से छूट
शुक्रवार को होने वाले ट्रायल्स इसलिए भी अहम हैं क्योंकि फेडरेशन (Wrestling Federation of India) ने साफ कर दिया है कि इसमें जीतने वाले पहलवान तीन बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे. इनमें 25 से 28 जनवरी तक रोम में होने वाला टूर्नामेंट भी शामिल है. इसके अलावा 18 से 25 फरवरी के बीच नई दिल्ली में एशियन चैंपियनशिप और फिर मार्च में चीन में होने वाले ओलिंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट पर भी सभी की नजरें हैं. फेडरेशन ने लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) (65 किग्रा.) को ट्रायल्स से छूट दी है. यहां तक कि रवि दाहिया (57 किग्रा.), दीपक पूनिया (86 किग्रा.) और विनेश फोगाट (53 किग्रा.) भी ट्रायल्स में हिस्सा लेंगे जो पहले ही कोटा हासिल कर चुके हैं.

हार्दिक पंड्या की सगाई से विराट कोहली हैरान, फोटो पर कर दिया ये कमेंट

इंग्लैंड के 11 खिलाड़ियों की बीमारी पर आई बड़ी खबर, आर्चर को लगा तगड़ा झटका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 2, 2020, 12:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर