अ‌भिनव बिंद्रा के काम के कायल हुए आईओसी अध्यक्ष, तारीफ करते हुए कही बड़ी बात

अ‌भिनव बिंद्रा के काम के कायल हुए आईओसी अध्यक्ष, तारीफ करते हुए कही बड़ी बात
अभिनव बिंद्रा भारत को ओलिंपिक में एकमात्र व्यक्तिगत गोल्ड मेडल दिलाने वाले खिलाड़ी हैं (फाइनल फोटो)

अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) दो शरणार्थी खिलाड़ियों की टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वालीफाई करने में मदद कर रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष  भारत ‌को ओलिंपिक में एकमात्र व्यक्तिगत गोल्ड मेडल दिलाने वाले दिग्गज निशानेबाज अभिनव ‌बिंद्रा (Abhinav Bindra) के काम के कायल हो गए हैं और उन्हाेंने खास पत्र लिखकर उनका आभार जताया. आईओसी (IOC) के अध्यक्ष थाॅमस बाक ने ‘टेकिंग रिफ्यूजी’ परियोजना के लिए चैंपियन निशानेबाजों अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) और निकोलो कैम्प्रियानी (Niccolo Campriani) का आभार जताया है. इस परियोजना के तहत ये दोनों शरणार्थी खिलाड़ियों की टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के लिए क्वालीफाई करने में मदद कर रहे हैं. बिंद्रा ने पिछले साल दिसंबर में बेंगलुरू में अपने फाउंडेशन में दो शरणार्थी निशानेबाज खाओला और माहदी की मेजबानी की थी.


International Olympic Committee, ioc, Thomas Bach, Abhinav Bindra,Niccolo Campriani, olympic, sports news, आईओसी, अभिनव बिंद्रा, ओलिंपिक, स्पोर्ट्स न्यूज






पत्र लिखकर दी जानकारी
बाक ने कहा कि मुझे वह पत्र लिखने के लिए धन्यवाद, जिसमें ‘टेकिंग रिफ्यूजी’ परियोजना की प्रगति के बारे में मुझे जानकारी दी गई थी. खिलाड़ियों की प्रगति से मैं काफी खुश हूं और साथ ही इस पहल के तहत जवाबदेही और पारदर्शिता बढ़ाने के लिए संचालन के स्तर पर उठाए गए कदमों से भी.






International Olympic Committee, ioc, Thomas Bach, Abhinav Bindra,Niccolo Campriani, olympic, sports news, आईओसी, अभिनव बिंद्रा, ओलिंपिक, स्पोर्ट्स न्यूज
शरणार्थी निशानेबाज खाओला और माहदी के साथ अभिनव बिंद्रा और निकोलो कैम्प्रियानी


बिंद्रा (Abhinav Bindra) और कैम्प्रियानी (Niccolo Campriani) को लिखे पत्र में बाक ने कहा कि परियोजना ना सिर्फ सराहनीय है बल्कि पूरी तरह से आईओसी (IOC) के उद्देश्यों के अनुरूप है जो युवा शरणार्थी खिलाड़ियों का समर्थन करता है. बिंद्रा ने आईओसी अध्यक्ष का आभार जताते हुए कहा कि वह सम्मानित महसूस कर रहे हैं. टेकिंग रिफ्यूजी’ परियोजना उनके दिल के काफी करीब है.

International Olympic Committee, ioc, Thomas Bach, Abhinav Bindra,Niccolo Campriani, olympic, sports news, आईओसी, अभिनव बिंद्रा, ओलिंपिक, स्पोर्ट्स न्यूज
ट्रेनिंग के दौरान खाओला और माहदी  (फाइल फोटो)


भारत के एकमात्र व्यक्तिगत स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा इटली के अपने दोस्त कैम्प्रियानी के साथ इस परियोजना से सक्रिय रूप से जुड़े हुए हैं. इस पहल से जरिए इन दोनों का लक्ष्य शरणार्थी निशानेबाजों को एयर राइफल में ट्रेनिंग देना और उन्हें शरणार्थी ओलिंपिक टीम में जगह दिलाने में मदद करना है. इस टीम ने 2016 रियो ओलिंपिक (Rio Olympic) में पदार्पण किया था.

केजरीवाल के 'कर्जदार' हैं टेनिस स्टार नागल, शपथ समारोह का मिला था खास न्योता

मैदान से निकलकर रैंप पर पहुंचे यह खेल सितारे, अपने अलग अंदाज से सबको किया हैरान

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading