निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप के आयोजन को आईओए से मंजूरी मिलना बाकी

IOA महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि अभी की हालत को देखते हुए इन चैंपियनशिप का आयोजन मुश्किल है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

IOA महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि अभी की हालत को देखते हुए इन चैंपियनशिप का आयोजन मुश्किल है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि कोविड-19 के कारण राष्ट्रमंडल निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप की मेजबानी चंडीगढ़ में करना मुश्किल होगा. मेहता ने कहा कि अभी बड़ी संख्या में लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं लगी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) ने कोविड-19 के चलते मुश्किल परिस्थितियों के कारण अभी तक 2022 राष्ट्रमंडल निशानेबाजी और तीरंदाजी चैंपियनशिप की मेजबानी की पुष्टि नहीं की है, जिससे इनका संचालन करना कठिन हो सकता है. आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने कहा कि कोविड-19 के कारण स्थिति की गंभीरता और अरबों लोगों के टीकाकरण के लंबित होने को देखते हुए, चंडीगढ़ में इन दोनों टूर्नामेंट की सात महीने बाद मेजबानी करना वास्तव में मुश्किल होगा.

मेहता ने पीटीआई से कहा, ‘चैंपियनशिप को औपचारिक रूप से मंजूरी देने और उसके अनुसार योजना बनाने के लिए हमें कार्यकारी समिति या ‘जनरल हाउस’ की एक बैठक की जरूरत है. महामारी के कारण हम शारीरिक मौजूदगी के साथ बैठक नहीं कर पा रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि तीरंदाजी चैंपियनशिप को दिल्ली में आयोजित करने को लेकर बात चल रही है.

इसे भी पढ़ें, ओलंपिक के लिए टोक्यो जाने से पहले भारतीय दल के सभी सदस्यों का पूरा होगा टीकाकरण: IOA

आईओए के महासचिव राजीव मेहता ने आगे कहा, ‘आयोजन स्थल के संबंध में भी बात करें तो कुछ तीरंदाजी संघ इसे चंडीगढ़ के बजाय दिल्ली में आयोजित करना चाहते हैं. इसलिए, कुछ भी तय नहीं किया गया है और महामारी ने हमारे लिए वास्तव में स्थिति को बेहद मुश्किल बना दिया है.’

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज