आईओए अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा- कॉमनवेल्‍थ गेम्स समय की बर्बादी, पूरी तरह से हटे भारत

भारतीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा

2022 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स (Commonwealth Games 2022) से शूटिंग को हटाने के बाद भारत इसका बहिष्कार करने का मन बना रहा है

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्ली.  भारतीय ओलिंपिक एसोसिएशन (Indian Olympic Association) के अध्यक्ष नरिन्द्र ध्रुव बत्रा (Narinder Dhruv Batra) का कहना है कि कॉमनवेल्‍थ गेम्स (Commonwealth Games ) के एक सत्र का बहिष्कार करने की बजाय भारत को इन गेम्‍स से ही हट जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके बजाय भारत को उन बड़े इंटरनेशनल इवेंट में हिस्सा लेने पर ध्यान लगाना चाहिए, जहां प्रतियोगिता का स्तर बड़ा हो और ओलिंपिक की तैयारियां अच्छी हो सके. उन्होंने कहा कि वह इस प्रस्ताव को आईओए की कार्यकारी बैठक में रखेंगे, जो अगले माह में हो सकती है. यदि सदस्य इसे मजूंरी दे देते हैं तो ओलिंपिक बॉडी इसे सरकार के पास ले जाएगी और फिर बाद में कॉमनवेल्‍थ अध्यक्ष के पास, जब वह नवंबर में भारत के दौरे पर आएंगी.

    आईओए (IOA) अध्यक्ष ने कहा कि इन गेम्स का कोई लेवल नहीं है. उनके लिए यह समय और धन दोनों की बर्बादी है. हम लोग कॉमनवेल्‍थ गेम्स में 70 मेडल, 100 मेडल जीतते हैं, जबकि ओलिंपिक में हम दो पर ही रुक जाते हैं. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने रियो में भारत के मेडल पर चर्चा करते हुए कहा ‌कि इसका मतलब है कि कॉमनवेल्‍थ गेम्स (Commonwealth Games ) का लेवल ज्यादा ऊपर नहीं हैं. यह रैंकिंग टूर्नामेंट भी नहीं हैं. तो आखिर क्यों समय की बर्बादी कर रहे हैं. हमें अच्छे कॉम्पिटिशन में जाना चाहिए और ओलिंपिक की तैयारी करनी चाहिए.

    14 नवंबर को मार्टिन आ सकती हैं भारत 
    2022 में होने वाले बर्मिंघम कॉमनवेल्‍थ गेम्स (Birmingham Commonwealth Games 2022) में शूटिंग को हटाने के बाद जुलाई में आईओए ने 2022 कॉमनवेल्‍थ गेम्स से बहिष्कार करने का प्रस्ताव रखा था. उम्मीद है कि 14 नवंबर  को कॉमनवेल्‍थ गेम्स फेडरेशन की अध्यक्ष लुसी मार्टिन नई दिल्ली आएंगी और आईओए अधिकारी और खेल मंत्री किरेन रिजिजू से मुलाकात करेंगी. बत्रा ने कहा कि वह बहिष्कार करने के पक्ष में नहीं हैं. खेल में आप बहिष्कार शब्द का इस्तेमाल कभी न करें. उनका मानना है कि हम हमेशा के लिए इस खेलों से हट जाएं या फिर हिस्सा लें और पूरा करें. उन्होंने कहा कि 14 नवंबर को मीटिंग से पहले आईओए आंतरिक रूप से चर्चा करेगा.

    Birmingham Commonwealth Games 2022, Indian Olympic Association, Narinder Batra, कॉमनवेल्‍थ गेम्स
    2022 कॉमनवेल्‍थ गेम्स से शूटिंग को हटा दिया गया है


    भारत ने 2010 में 101, 2014 में 64 और 2018 में 66 मेडल जीते. विजेता खिला‌ड़ियों को अच्छी इनामी  राशि भी दी जाती है. गोल्ड मेडलिस्ट को 30 लाख, सिल्वर मेडलिस्ट को 20 लाख और ब्रॉन्ज मेडलिस्ट  काे 10 लाख रुपये दिए जाते हैं. इसके अलावा भी उनको राज्य सरकार से अलग से इनामी राशि मिलती है. बत्रा ने यह भी कहा कि वह जानते हैं कि खिलाड़ी इसके लिए उनसे नफरत करेंगे, क्योंकि उन्हें इन गेम्स के लिए अच्छी इनामी राशि मिलती है. उन्होंने कहा कि वह सरकार से अपील करेंगे कि इस इनामी राशि को अच्छे स्तर के टूर्नामेंट में बांट दिया जाए.

    फाइनल के बाद रातभर फाइट देखता रहा, मेरी समझ में कुछ नहीं आया : अमित पंघाल

    मुकाबले के दौरान हो गई बॉक्सर की मौत, भाई के नाम पर कर रहा था फाइट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.