Sunday special : खेल जगत के इन कोरोना योद्धाओं को सलाम, जानिए कैसे निभा रहे फर्ज

Sunday special : खेल जगत के इन कोरोना योद्धाओं को सलाम, जानिए कैसे निभा रहे फर्ज
पूर्व भारतीय ओलिपिंयन सहित क्रिकेटर्स और कबड्डी खिलाड़ी कोरोना से जंग लड़ रहे हैं

जोगिन्‍दर शर्मा (Joginder Sharma), अखिल कुमार सहित कई ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं, जो इस समय पुलिस की ड्यूटी निभाने के साथ ही जरूरमंद लोगों की मदद कर रहे हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 6:05 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. नई दिल्‍ली. पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने भारी तबाही मचा दी है. इस समय इस तबाही के प्रचंड रूप को रोकने के लिए हर किसी की उम्मीद सिर्फ दो चीजों पर टिकी हुई हैं. पहला भगवान और दूसरा योद्धा. भगवान, जो डॉक्‍टर्स के रूप में लोगों को मौत के मुंह से खींच कर ला रहे और दूसरे योद्धा, जो पुलिस, आर्मी आदि रूप से कोरोना वायरस को घर के अंदर घुसने से रोक रहे हैं.

कोरोना से जंग में देश को विजयी बनाने में जुटे कुछ योद्धा ऐसे भी हैं, जो खेल के मैदान में तिरंगे का मान बढ़ा चुके हैं. जिन्होंने एक समय खेल के मैदान पर भारत का सिर गर्व से ऊंचा किया था और भारत को विजेता बनाया था. किसी ने क्रिकेट के मैदान पर तो किसी ने रिंग में देश का गौरव बढ़ाया. अब वह उसी जीत वाली शक्ति को फिर से इकट्ठा कर सड़क पर कोरोना को हराने के जुटे हुए हैं.

इन योद्धाओं में कुछ नाम तो आप बखूबी जानते होंगे, मगर कुछ नाम से आप शायद आज भी अनजान होंगे. जोगिन्दर शर्मा, अखिल कुमार, गगन अजीत सिंह, राजपाल सिंह, हरवंत कौर ऐसे ही कुछ योद्धाओं के नाम हैं, जो दिन रात देश को इस संकट की घड़ी से निकालने में लगे हैं.



joginder sharma, akhil kumar, corona virus, covid 19, sports news, ajay thakur
क्रिकेटर्स, मुक्‍केबाज, हॉकी खिलाड़ी हर कोई देश को बचाने में जुटा हुआ हैं.

जोगिन्‍दर शर्मा:  2007 टी20 वर्ल्‍ड कप के फाइनल में आखिरी गेंद पर भारत को पाकिस्‍तान पर जीत दिलाने वाले जोगिन्‍दर शर्मा हरियााणा पुलिस में हैं और फिलहाल हिसार में ड्यूटी कर रहे हैं. जोगिन्‍दर पूरे शहर में पेट्रोलिंग करते हैं. अक्‍सर वो लोगों को समझाते हैं कि कोरोना वायरस से कैसे निपटें. इस समय वह दिन रात काम रहे हैं और आपातकाल की स्थिति के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. सुबह छ‍ह बजे से ही उनकी नौकरी शुरू हो जाती है. यहां तक कि वो घर भी नहीं जा रहे हैं.जबकि उनका घर हिसार से 110 किमी दूर रोहतक में है और रोज वह डेढ़ घंटे का सफर तय कर रोहतक जाते हैं. मगर अपने घर नहीं जाते. दरअसल जोगिन्‍दर अपने परिवार को मुश्किल में नहीं डालना चाहते. पहले वो जांच पड़ताल और पब्लिक मीटिंग में सुरक्षा को बनाए रखने में शामिल थे, मगर अब यह सब रुक गया है. जोगिन्‍दर के अनुसार यह क्रिकेट मैच से भी मुश्किल है. इस समय उन्‍हें खुद को बचाते हुए लोगों को जागरुक भी करना होगा. 36 साल के जोगिन्‍दर ने भारत की ओर से 4 वनडे और 4 टी20 मैच खेले हैं.

अखिल कुमार: 2006 कॉमनवेल्थ चैंपियन अखिल कुमार गुरुग्राम में ट्रैफिक पुलिस में सहायक आयुक्‍त हैं. लॉकडाउन शुरू होने से वह दिल्‍ली हरियाणा की सीमा को सील करने के बाद व्‍यस्‍त हो गए हैं. अखिल के अनुसार यह काफी मुश्किल समय है.उन्‍होंने अपनी आंखों के सामने के काफी लोगों को पैदल घर जाते हुए देखा. कुछ को तो उन्‍होंने खाना और पानी देकर मदद भी की और वह ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं. दो बार के ओलिंपियन अखिल सेनेटाइजर और खाने का सामना खरीदकर जरूरमंद लोगों की मदद भी कर रहे हैं.

जितेंद्र कुमार: एशियन ब्रॉन्‍ज मेडलिस्‍ट और 2008 बीजिंग ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्‍व करने वाले मुक्‍केबाज 31 साल के जितेंद्र कुमार रेवाड़ी में पोस्‍टेड हैं और वो पिछले कुछ दिनों में कई कई घंटे काम कर रहे हैं. जितेंद्र के अनुसार उनकी पूरी पुलिस टीम सर्वश्रेष्‍ठ करने की कोशिश कर रही है. लोग घर के अंदर ही रहे. उनकी कोशिश ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों तक पहुंचने कर उन्‍हें जागरूक करने की है.
अजय ठाकुर: 2014 एशियन गेम्‍स के गोल्‍ड मेडलिस्‍ट भारतीय कबड्डी खिलाड़ी अजय ठाकुर हिमाचल प्रदेश पुलिस में डीएसपी के पद पर हैं. वह 2017 से यहां पर काम कर रहे हैं. अजय बिलासपुर में रोज गश्‍त लगाते रहते हैं. अजय लोगों को जागरूक करने में व्‍यस्‍त है.

गगन अजीत सिंह: भारतीय हॉकी टीम के पूर्व स्‍टार फॉरवर्ड गगन अजीत सिंह पंजाब पुलिस में हैं और वह अमृतसर में ड्यूटी कर रहे हैं. गगन अपने एरिया में कानून व्यवस्था को पूरी तरह से पालन करवाने में व्यस्त हैं. इसके साथ ही वह जरूरतमंद लोगों को खाने के पैकेट भी बांट रहे हैं. उनके अनुसार खतरा तो काफी पड़ा है, मगर ड्यूटी सबसे पहले है. गगन अजीत ने 2000 और 2004 ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया था. वह 2001 में चैंपियन चैलेंज का खिताब जीतने वाली टीम का हिस्‍सा भी रहे हैं.

joginder sharma, akhil kumar, corona virus, covid 19, sports news, ajay thakur
इन प्‍लेयर्स में कभी मैदान पर बाजी मारी थी


राजपाल सिंह: भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्‍तान राजपाल सिंह भी पंजाब पुलिस में हैं और मोहाली में ड्यूटी कर रहे हैं. उनके अनुसार लोगों को लॉकडाउन और कर्फ्यू में अंतर बताना मुश्किल हो रहा है. राजपाल भी अपने जिले की झुग्‍गी झोपडि़यों में खाने का सामान और जरूरी चीजें पहुंचा रहे हैं. 36 साल के राजपाल के नाम 2007 एशिया कप का गोल्‍ड, 2007 और 2009 चैंपियंस चैलेंज का ब्रॉन्‍ज, 2010 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स का सिल्‍वर मेडल, सुल्‍तान अजलान शाह कप का गोल्‍ड और एशियन गेम्‍स का ब्रॉन्‍ज मेडल है.

हरवंत कौर: पूर्व डिस्‍कस थ्रोअर ओलिंपिक हरवंत कौर पाटियाला में वीमंस और चाइल्‍ड सेल में हैं. कौर ने एक लड़की की मदद की, जो राज्‍यों की सीमाएं सील होने के बावजूद पंजाब से हरियाणा जा रही थी. उसकी मां गंभीर स्थिति में थी. उनकी स्थिति को देखते हुए हरवंत ने अपने साथियों की मदद से उनके यात्रा की सुविधा मुहैया करवाई और हरियााणा पुलिस से संपर्क किया. इस तरह वह जरूरतमंद लोगों की मदद की कर रही हैं. हरवंत कौर ने 2002 एशियन चैंपियनशिप में सिल्‍वर मेडल जीता था. 2004 ओलिंपिक गेम्‍स में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया. हरवंत ने 2010 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में सिल्‍वर जीता था.

Love Story:चोरी छिपे शादी, 4 महीनों तक छिपाया, ये हैं फेल्प्स की जिंदगी के राज

कोरोना वायरस की भेंट चढ़ गया ये साल, जानिए 2021 में टीम इंडिया का शेड्यूल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज