लाइव टीवी

SAI जाने को तैयार हुए कंबाला एथलीट श्रीनिवास गौड़ा, ट्रैक पर दौड़ने का लेंगे प्रशिक्षण!

News18Hindi
Updated: February 26, 2020, 1:31 PM IST
SAI जाने को तैयार हुए कंबाला एथलीट श्रीनिवास गौड़ा, ट्रैक पर दौड़ने का लेंगे प्रशिक्षण!
श्रीनिवास गौड़ा कंबाला रेस के बाद रातोंरात सुर्खियों में आ गए थे. (फाइल फोटो)

श्रीनिवास गौड़ा (Srinivas Gowda) पहले इसके लिये तैयार नहीं थे क्योंकि वह दलदली खेतों और ट्रैक पर दौड़ने के अंतर को जानते हैं लेकिन बाद में वह सहमत हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 1:31 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. पारंपरिक खेल प्रतियोगिता में 100 मीटर की दूरी 9.55 सेकेंड में पूरी करके चर्चा में आये कंबाला धावक श्रीनिवास गौड़ा (Srinivas Gouda) बेंगलुरु स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) परिसर में प्रशिक्षण ले सकते हैं. साइ के दक्षिण भारत के निदेशक अजय कुमार बहल की अगुवाई में अधिकारियों ने हाल में केरल के कासरगोड जिले के पैवालाइक में आयोजित अन्ना थम्मा कंबाला को देखा था और उन्होंने गौड़ा से बात करके उन्हें बेंगलुरु में प्रशिक्षण में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया.

गौड़ा को जूते पहनकर ट्रैक पर दौड़ने की ट्रेनिंग दी जाएगी
कंबाला अकादमी के समन्वयक गुणपाल कदंब ने बताया कि साइ के एथलेटिक कोच कुरियन पी मैथ्यू और हरीश भी चर्चा के दौरान उपस्थित थे. उन्होंने कहा कि गौड़ा को ट्रैक और एथलेटिक्स में दौड़ने का अनुभव नहीं है इसलिए अकादमी उन्हें शहर के मूदबिदरी के स्वराज मैदान और मंगला स्टेडियम में जूते पहनकर ट्रैक पर दौड़ने का शुरुआती प्रशिक्षण देगी.

गौड़ा को उनके प्रयास के कारण ‘कंबाला का उसैन बोल्ट’ कहा जाने लगा था. केंद्रीय खेल मंत्री किरन रीजीजू ने मीडिया के जरिये उनकी उपलब्धियों की जानकारी मिलने के बाद उन्हें साइ में प्रशिक्षण लेने के लिये आमंत्रित किया था.



गौड़ा पहले इसके लिये तैयार नहीं थे क्योंकि वह दलदली खेतों और ट्रैक पर दौड़ने के अंतर को जानते हैं लेकिन बाद में वह सहमत हो गए. वह कंबाला का वर्तमान सत्र समाप्त होने के बाद अप्रैल में साइ के बेंगलुरु स्थित केंद्र से जुड़ सकते हैं. वर्तमान सत्र में अभी तक वह रिकॉर्ड 39 पदक जीत चुके हैं.

गौड़ा को रिजिजू ने दिया था साई आने का निमंत्रण
कंबाला रेस में बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए श्रीनिवास गौड़ा को मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने सम्मानित किया था. साथ ही राज्य सरकार ने उन्हें 3 लाख रुपये बतौर पुरस्कार देने का भी ऐलान किया था. इसके बाद खेल मंत्री किरण रिजिजू ने श्रीनिवास गौड़ा को भारतीय खेल प्राधिकरण के बेंगलुरु स्थित सेंटर पर ट्रॉयल देने को कहा था. हालांकि तब गौड़ा ने ट्रायल की बजाय दस मार्च को कंबाला रेस में दूसरी बार दौड़ने को तरजीह देने का फैसला किया.

तेंदुलकर पर 'भड़के' इंजमाम उल हक, कहा-भारत के युवाओं का 'बड़ा नुकसान' किया

सड़क पर शर्ट उतारकर लड़कियों के साथ नाचता दिखा धोनी का दोस्त, जिता चुका है 2 वर्ल्ड कप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 1:31 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर