माराडोना की याद में केरल का बिजनेसमैन बनाएगा म्‍यूजियम, लगेगी सोने की बड़ी प्रतिमा

पिछले महीने ही माराडोना ने दुनिया को अलविदा कह दिया था (PHOT0: AP)

केरल के इस व्यवसायी ने कहा कि माराडोना (Diego Maradona) की कद काठी की सोने की प्रतिमा ‘द हैंड ऑफ गॉड’ का प्रतिनिधित्व करेगी

  • Share this:
    कोच्चि.अर्जेंटीना को फुटबॉल की दुनिया का विश्‍व चैंपियन बनाने वाले महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना (Diego Maradona Dead) ने पिछले महीने दुनिया को अलविदा कह दिया था. वो 60 साल के थे. माराडोना का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ था. माराडोना को घर पर ही दिल का दौरा पड़ा था. निधन से दो हफ्ते पहले ही उनके दिमाग में क्लॉटिंग भी हुई थी, जिसके बाद उनकी सर्जरी करनी पड़ी.
    अब इस‍ दिग्‍गज फुटबॉलर की याद में केरल का एक व्‍यवसायी म्‍यूजियम बनाने जा रहा है. केरल के इस व्यवसायी ने सोमवार को कहा कि डिएगो माराडोना की याद में एक विश्वस्तरीय संग्रहालय तैयार किया जाएगा जिसमें अर्जेंटीना के इस दिग्गज फुटबॉलर की सोने से बनी प्रतिमा मुख्य आकर्षण होगी.

    द हैंड ऑफ गॉड का प्रतिनिधित्व करेगी प्रतिमा
    बॉबी चेम्मानुर इंटरनेशनल ग्रुप के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक बॉबी चेम्मानुर ने कहा कि माराडोना की कद काठी की प्रतिमा ‘द हैंड ऑफ गॉड’ का प्रतिनिधित्व करेगी. अर्जेंटीना के इस महान खिलाड़ी ने 1986 फीफा विश्व कप में अपने एक महत्वपूर्ण गोल को यही नाम दिया था. अर्जेंटीना ने उनकी अगुआई में यह विश्व कप जीता था. चेम्मानुर ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह प्रस्तावित संग्रहालय कोलकाता या दक्षिण भारत में बनाया जाएगा. इसमें माराडोना की पेशेवर और निजी जिंदगी की झलक होगी.

    यह भी पढ़ें : 

    जेहान दारूवाला ने रचा इतिहास, बने F2 रेस जीतने वाले पहले भारतीय

    विराट कोहली के बाद एक और स्‍टार क्रिकेटर लेगा पितृत्‍व अवकाश, नहीं खेलेगा दूसरा टेस्‍ट!

    अर्जेंटीना को बनाया था वर्ल्ड चैंपियन
    माराडोना एक ओर जहां मैदान पर एक बेहतरीन फुटबॉलर रहे, वहीं दूसरी ओर मैदान के बाहर वो कई विवादों की वजह से बदनाम भी हुए. माराडोना को शराब और नशे की लत पड़ गई थी. माराडोना ने साल 1986 में अर्जेंटीना को फुटबॉल वर्ल्ड कप जिताया था. उनके एक विवादित गोल ने इंग्लैंड को जीत से महरूम कर दिया था. गोल माराडोना के हाथ से लगकर हुआ था लेकिन रेफरी यह देख नहीं सके और नतीजा अर्जेंटीना वर्ल्ड चैंपियन बना. माराडोना का यही गोल फुटबॉल इतिहास में 'हैंड ऑफ गॉड' के नाम से मशहूर है. (भाषा इनपुट के साथ )