सुपर श्रीकांत: जीता फ्रेंच ओपन, साल का चौथा खिताब

सुपर श्रीकांत: जीता फ्रेंच ओपन, साल का चौथा खिताब
उन्होंने श्रीकांत से वादा किया था कि यदि वह कुछ अच्छा करेंगे तो उन्हें धोनी की तरफ से जरूर कोई स्पेशल गिफ्ट लाकर देंगे. श्रीकांत के पिछले महीने नंबर वन बनते ही प्रसाद ने अपना वादा पूरा कर दिया.

वह एक साल में चार या इससे अधिक सुपरसीरीज खिताब जीतने वाले दुनिया के केवल चौथे खिलाड़ी हैं.

  • Share this:
भारत के स्टार शटलर किदाम्बी श्रीकांत ने अपनी बेहतरीन फार्म जारी रखते हुए आज फ्रेंच ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के पुरूष एकल का खिताब जीता. उन्‍होंने जापान के क्वालीफायर केंटा निशिमोतो को सीधे गेम में 21-12, 21-13 से हराया.

इस सत्र में अपने पांचवें फाइनल में पहुंचकर नया भारतीय रिकॉर्ड बनाने वाले श्रीकांत का यह इस साल का चौथा और कुल छठा सुपर सीरीज खिताब है. इससे पहले उन्होंने इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया और डेनमार्क ओपन में खिताब जीते थे. वह एक साल में चार या इससे अधिक सुपरसीरीज खिताब जीतने वाले दुनिया के केवल चौथे खिलाड़ी हैं.

विश्व में चौथे नंबर के इस भारतीय ने शुरू से ही दबदबा बना दिया था और केवल 34 मिनट में उन्होंने मैच अपने नाम किया. वह फ्रेंच ओपन जीतने वाले पहले भारतीय पुरूष खिलाड़ी बन गये हैं. इस जीत से श्रीकांत ने निशिमोतो पर अपना दबदबा भी बरकरार रखा. इन दोनों खिलाड़ियों के बीच अब तक जो दो मैच खेले गये उनमें भारतीय ने बाजी मारी है.



जापानी खिलाड़ी ने पहले गेम में शुरू में श्रीकांत को बराबर की टक्कर दी और एक समय वह 4-2 से आगे था. श्रीकांत ने स्कोर 4-4 से बराबर किया लेकिन निशिमोतो लगातार चार अंक बनाकर 9-5 से आगे हो गये. श्रीकांत ने यहां से लय पकड़ी और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने अधिक आक्रामक खेल दिखाया और अपने करारे स्मैश से निशिमोतो को हैरान कर दिया.
श्रीकांत ने लगातार छह अंक बनाये और पहले गेम में ब्रेक तक वह 11-9 से आगे थे. इसके बाद उन्होंने स्कोर 14-10 और फिर 18-12 पर पहुंचाया और जब फिर लगातार दो अंक बनाकर पहला गेम अपने नाम किया.

दूसरे गेम में श्रीकांत ने शुरू से ही निशिमोतो को कोई मौका नहीं दिया. उन्होंने 4-0 से शुरूआत की और फिर जल्द ही 10-2 से आगे हो गये. जापानी खिलाड़ी ने लय हासिल करने की कोशिश की लेकिन श्रीकांत ब्रेक तक 11-5 से अच्छी स्थिति में दिख रहे थे.

इसके बाद भी कहानी नहीं बदली. जब वह 20-12 से आगे थे तब निशिमोतो ने एक मैच प्वाइंट बचाया लेकिन श्रीकांत ने अगला अंक हासिल करके मैच अपने नाम किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज