• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह कोरोना से हारे जंग, 91 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह कोरोना से हारे जंग, 91 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

'द फ्लाइंग सिख' से मशहूर महान एथलीट मिल्खा सिंह ने 18 जून को अंतिम सांस ली. (Instagram/JeevMilkha)

'द फ्लाइंग सिख' से मशहूर महान एथलीट मिल्खा सिंह ने 18 जून को अंतिम सांस ली. (Instagram/JeevMilkha)

Milkha Singh Death : 'फ्लाइंग सिख' से मशहूर देश के महान धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का कोरोना वायरस से लंबी जंग के बाद शुक्रवार को निधन हो गया. वह 91 साल के थे और चंडीगढ़ के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. महान एथलीट मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का कोविड-19 से लंबी जंग के बाद शुक्रवार को निधन हो गया. उनके परिवार ने यह जानकारी दी. वह 91 साल के थे. उन्हें तीन जून को ऑक्सीजन लेवल गिरने के बाद आईसीयू में भर्ती कराया गया था. पिछले महीने 20 मई को उनकी कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी.

    मिल्खा का चंडीगढ़ के PGIMER में इलाज चल रहा था. मिल्खा की पत्नी 85 वर्षीय निर्मल कौर के निधन के पांच दिन बाद ही उन्होंने अंतिम सांस ली. 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन और 1960 के रोम ओलंपियन मिल्खा के परिवार के एक रसोइये की कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी. इसके बाद उन्हें 24 मई को मोहाली के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

    30 मई को दोबारा भर्ती होने से पहले मिल्खा को अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी. पूर्व भारतीय एथलीट की हाल में कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई थी, जिसके बाद उन्हें कोविड आईसीयू से पीजीआईएमईआर के मेडिकल आईसीयू में स्थानांतरित कर दिया गया था.उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई मशहूर शख्सियतों ने शोक जताया.








    उनके बेटे और मशहूर गोल्फर जीव मिल्खा ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, 'पिताजी का निधन हो गया.' इससे पहले शुक्रवार को ही मिल्खा की तबीयत खराब होने की खबरें सामने आई थी. मिल्खा का जन्म 30 नवंबर, 1928 को गोबिंदपुरा (अब पाकिस्तान) में हुआ था. उन्होंने 1958 में कार्डिफ में तत्कालीन ब्रिटिश साम्राज्य और राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीता था और वह ऐसा करने वाले पहले भारतीय एथलीट बने थे. उन्होंने 1956 के एशियाई खेलों में 200 मीटर और 400 मीटर में खिताबी जीत दर्ज की, 1962 के एशियाई खेलों में 400 मीटर और 4X400 मीटर रिले में स्वर्ण समेत इन खेलों में कुल चार स्वर्ण पदक जीते थे.

    मिल्खा सिंह पिछले महीने कोरोना संक्रमित हुए थे
    मिल्खा सिंह पिछले महीने कोरोना संक्रमित हुए थे. इसके बाद उन्हें मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. यहां एक हफ्ते उपचार के बाद उन्हें घर लाया गया था. जहां उनका आक्सीजन लेवल गिर गया था, जिसके बाद उन्हें पीजीआई चंडीगढ़ में भर्ती कराया गया था. 91 साल के इस दिग्गज ने 1958 कॉमनवेल्थ गेम्स में 400 मीटर स्पर्धा में गोल्ड जीता था और वह यह कमाल करने वाले इकलौते भारतीय एथलीट बने थे.

    मिल्खा सिंह की पत्नी का कोरोना से निधन हुआ
    बता दें कि मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर (85) भी पति के कोविड-19 पॉजिटिव आने के बाद संक्रमित हो गईं थीं. कोविड-19 संबंधित जटिलताओं के कारण बीते रविवार को उनका मोहाली के निजी अस्पताल में निधन हो गया था. वह भारत की राष्ट्रीय महिला वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान भी थीं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन