लाइव टीवी

ओलिंपिक स्थगित होने के बाद फिर तैयारी में लगे सुशील, बोले- कौन क्या कहता है फर्क नहीं पड़ता

News18Hindi
Updated: April 6, 2020, 4:05 PM IST
ओलिंपिक स्थगित होने के बाद फिर तैयारी में लगे सुशील, बोले- कौन क्या कहता है फर्क नहीं पड़ता
सुशील कुमार भारतीय रेसलर हैं

सुशील कुमार (Sushil Kumar) बीजिंग और लंदन ओलिंपिक (London Olympics) में मेडल हासिल कर चुके हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. बीते कुछ समय में भारतीय कुश्ती में कुछ नए पहलवानों ने अपना नाम बनाया है. बजरंग पुनिया (Bajrang Punia), रवि दहिया (Ravi Dahiya) और दीपक पुनिया जैसे युवा खिलाड़ियों ने खुद को साबित करते हुए ओलिंपिक के लिए अपनी दावेदारी मजबूत कर ली है. इन तीनों ही खिलाड़ियों ने पिछले साल हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Championship) में देश के लिए मेडल हासिल किया था. इसी चैंपियशिप में भारत के दिग्गज पहलवान सुशील कुमार (Shushil Kumar) को पहले ही राउंड में हार का सामना करना पड़ा था.

ओलिंपिक की तैयारियों में जुटे हैं सुशील कुमार
सुशील पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के जिस पड़ाव पर है वहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है. हालांकि दो बार के ओलिंपिक मेडलिस्ट को ऐसा नहीं लगा. सुशील ने कहा कि वह इस बात पर ध्यान नहीं दे रहे हैं कि कौन उनके बारे में क्या सोचता है उनका ध्यान केवल ओलिंपिक पर है. सुशील ने पीटीआई को दिये साक्षात्कार में कहा, ‘लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है लेकिन इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.’ सुशील हालांकि ओलिंक के लिए क्वालीफाई करने के मामले में संघर्ष कर रहे थे लेकिन इस खेल के एक साल तक टलने के बाद एक बार फिर से पदक जीतने की उनकी उम्मीद परवान चढ़ रही है.

संन्यास को लेकर नहीं है सुशील की कोई योजना



सुशील अगले महीने 37 साल के हो जाएंगे और अगर वह इस साल जुलाई में प्रस्तावित ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करते तो यह उनके और टेनिस के दिग्गज लिएंडर पेस जैसे खिलाड़ियों का आखिरी टूर्नामेंट होता लेकिन इसके एक साल टलने से इन खिलाड़ियों की संन्यास योजना पर संशय बन गया है. सुशील ने हालांकि संन्यास की किसी योजना को खारिज कहा कि वह खेल जारी रखने के लिए रोज अभ्यास कर रहे हैं. उन्होने कहा, ‘मैं अभी कही नहीं जा रहा हूं. मुझे अधिक समय मिला है और अधिक समय का मतलब होता है बेहतर तैयारी.’



सुशील ने कहा, ‘कुश्ती एक ऐसा खेल है कि अगर आप चोट-मुक्त रहते हैं. अच्छी तरह से अभ्यास करते है और लक्ष्य निर्धारित कर उस पर काम करते हैं तो आप उसे हासिल कर सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं अभी रोजाना दो बार अभ्यास करता हूं. जाहिर है मैं मैट पर नहीं उतर रहा हूं लेकिन खुद को फिट रखने की कोशिश कर रहा है. भगवान ने चाहा तो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई जरूर करूंगा.’

सुशील 74 किग्रा भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते हैं जिसके लिए भारत ने ओलिंपिक कोटा हासिल नहीं किया था. सुशील का मानना है कि वह उम्र संबंधी चुनौतियों से पार पा लेंगे. उन्होंने कहा, ‘लोग 2011 में इसी तरह की बातें कह रहे थे. मुझे पता है कि इसे कैसे संभालना है. मैं इसके लिए रोज मेहनत कर रहा हूं.’

युवराज सिंह का बड़ा बयान, डेब्‍यू के समय 'आलसी' नजर आते थे रोहित 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 6, 2020, 4:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading