स्टार शूटर मनु भाकर को कॉलेज में मिला एडमिशन, पॉलिटिकल साइंस पढ़ेंगीं

स्टार शूटर मनु भाकर को कॉलेज में मिला एडमिशन, पॉलिटिकल साइंस पढ़ेंगीं
मनु भाकर को दिल्ली के प्रतिष्ठित लेेडी श्रीराम कॉलेज में दाखिला मिला है. (फाइल फोटो)

आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में कई गोल्ड मेडल जीतने वाली मनु भाकर ने स्पोर्ट्स कोटा के ज़रिए दाखिले का आवेदन किया था. वे किसी भी कॉलेज के किसी भी कोर्स में डायरेक्ट एडमिशन के लिए योग्य थीं.

  • Share this:
कॉमनवेल्थ और यूथ ओलिंपिक की गोल्ड मेडलिस्ट भारत की 17 वर्षीय मनु भाकर ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज में दाखिला लिया है, जहां वे पॉलिटिकल साइंस की पढ़ाई करेंगी. आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में कई गोल्ड मेडल जीतने वाली भाकर ने स्पोर्ट्स कोटा के ज़रिए दाखिले का आवेदन किया था. वे किसी भी कॉलेज के किसी भी कोर्स में डायरेक्ट एडमिशन के लिए योग्य थीं.

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (साई) ने ट्वीट करते हुए मनु भाकर को बधाई दी. साई ने ट्विटर पर लिखा, 'हमारी युवा शूटर मनु भाकर को दिल्ली के प्रतिष्ठित लेडी श्रीराम कॉलेज में पॉलिटिकल साइंस में दाखिला मिलने पर बधाई. हमारी इस एथलीट ने कॉमनवेल्थ गेम्स और कई वर्ल्ड कप में हमारे लिए गोल्ड मेडल जीता है और उन्होंने 2020 के टोक्यो ओलिंपिक में भारत के लिए कोटा प्राप्त किया है.'

खिलाड़ियों के लिए ये हैं नियम



दिल्ली यूनिवर्सिटी के नियमों के मुताबिक़, वे खिलाड़ी जिन्होंने भारत का उन टूर्नामेंट में प्रतिनिधित्व किया है, जो खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय द्वारा निधित किए गए हैं, उन्हें बिना किसी स्पोर्ट्स ट्रायल के डायरेक्ट एडमिशन दिया जाएगा. इन टूर्नामेंट में ओलिंपिक, वर्ल्ड चैंपियनशिप, वर्ल्डकप, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स, एशियन चैंपियनशिप, साउथ एशियन गेम्स और पैरालिंपिक गेम्स शामिल हैं.
shooting, manu bhakar, shooter, निशानेबाजी, मनु भाकर, निशानेबाज
मनु भाकर ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से भारत को 2020 में होने वाले टोक्यो ओलिंपिक में कोटा स्‍थान दिलाया है. (फाइल फोटो)


छोटी उम्र में बड़े कारनामे

मनु भाकर भले ही महज़ 17 वर्ष की हों लेकिन उन्होंने खेल जगत में अपने दम पर बहुत बड़ा नाम कमा लिया है. उन्हें अपनी पहली बड़ी सफलता 2017 में मिली जब उन्होंने एशियन जूनियर चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम किया. केरल में 2017 में आयोजित हुए राष्ट्रीय खेलों में भाकर ने कुल 9 गोल्ड मेडल अपने नाम किए. 2018 में मेक्सिको में आयोजित वर्ल्ड कप में भाकर ने वुमंस 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मेडल अपने नाम किया और भारत की तरफ से वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी बनीं.

भाकर ने वर्ल्ड कप में अपना दूसरा गोल्ड मेडल 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम इवेंट में जीता. 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में भाकर ने 400 में से 388 पॉइंट जीतकर फाइनल में अपना स्थान बनाया. फाइनल में उन्होंने 240.9 पॉइंट अर्जित कर कॉमनवेल्थ गेम्स में एक नया रिकॉर्ड स्थापित किया. 2018 के यूथ ओलिंपिक में 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड जीतते हुए भारत की तरफ से यूथ ओलिंपिक में गोल्ड जीतने वाले पहली महिला खिलाड़ी बनी. इसके अलावा मई में मनु भाकर ने भारत के लिए 2020 का ओलिंपिक कोटा अर्जित किया.

PKL 2019: हरियाणा के सामने चित हुई पुणेरी पलटन, नवीन रहे हीरो

Indonesia Open 2019: फाइनल में फिर हारी सिंधु, जापान की यामागुची ने दी मात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज