लाइव टीवी

इस खिलाड़ी के दम पर पहली बार ओलिंपिक के फाइनल में पहुंची थी भारतीय महिला टीम, रचा था इतिहास

News18Hindi
Updated: January 10, 2020, 7:33 AM IST
इस खिलाड़ी के दम पर पहली बार ओलिंपिक के फाइनल में पहुंची थी भारतीय महिला टीम, रचा था इतिहास
भारत की महिला एथलीट्स को ओलिंपिक जैसे बड़े स्तर पर ही दुनिया की बड़ी से बड़ी एथलीट को भी कड़ी चुनौती की हिम्मत देने वाली केरल की 59 साल की मनथूर देवासिया वलसम्मा ने 80 के दशक में खेल जगत में तहलका मचा दिया था

क्या आप जानते हैं कि भारतीय जमीं पर एशियन गेम्स (Asian Games) में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी कौन हैं?

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2020, 7:33 AM IST
  • Share this:
MD Valsamma, sports news,
भारत की महिला एथलीट्स को ओलिंपिक जैसे बड़े स्तर पर भी कड़ी चुनौती पेश करने की हिम्मत देने वाली खिलाड़ी केरल की 59 साल की मनथूर देवासिया वलसम्मा थीं, जिन्होंने 80 के दशक में खेल जगत में तहलका मचा दिया था.


MD Valsamma, sports news,
वलसम्मा ए‌शियन गेम्स में भारतीय जमीं पर व्यक्तिगत स्पर्धा में गोल्ड जीतने वाली भारत पहली और वैसे दूसरी खिलाड़ी थीं. उन्होंने 1982 में नई दिल्ली ए‌शियन गेम्स में 400 मीटर हर्डल में गोल्ड मेडल जीता था.


MD Valsamma, sports news,
इतिहास में पहली बार भारतीय महिला एथलीट टीम ओलिंपिक के फाइनल में पहुंची थी. 1984 में लॉस एंजिल्स में हुए ओलिंपिक में महिला एथलीट टीम ने फाइनल्स में पहुंचकर इतिहास रच दिया था. टीम ने फाइनल में 7वें स्‍थान ‌के साथ अपना अभियान खत्म किया था. वलसम्मा उस टीम का अहम हिस्सा थीं.


MD Valsamma, sports news,
वलसम्मा का जन्म 21 अक्टूबर 1960 को केरल के कन्नूर जिले में हुआ था और उन्होंने स्कूल के दौरान ही एथलेटिक्स को अपना करियर चुन लिया था. (पीवी सिंधु के साथ वलसम्मा)




MD Valsamma
वलसम्मा को एथलेटिक्स में शानदार प्रदर्शन के लिए 1982 में अर्जुन अवार्ड और 1983 में पदमश्री अवार्ड से नवाजा गया था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2020, 7:33 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर