ये हैं वो पहली भारतीय खिलाड़ी, जिसने मोटरस्पोर्ट्स में जीत ली दुनिया, स्टील की प्लेट और सात स्क्रू से जुड़ा है शरीर

ऐश्वर्या पिस्सी (aishwarya Pissay) मोटरस्पोर्ट्स (motorsports) में विश्व स्तर पर खिताब जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं. 2017 में शरीर में स्टील प्लेट और स्क्रू लगने के बाद उन्होंने बड़ा खिताब जीता.

News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 10:23 AM IST
ये हैं वो पहली भारतीय खिलाड़ी, जिसने मोटरस्पोर्ट्स में जीत ली दुनिया, स्टील की प्लेट और सात स्क्रू से जुड़ा है शरीर
ऐश्वर्या विश्व स्तर पर मोटरस्पोर्ट्स में खिताब जीतने वाली
News18Hindi
Updated: August 13, 2019, 10:23 AM IST
मोटरस्पोर्ट्स में हमारे देश के खिलाड़ी, ऐसा कम ही दिखाई देता है और ऊपर में महिला खिलाड़ी के बारे में तो शायद ही कभी सुना हो, लेकिन बेंगलुरु की ऐश्वर्या पिस्सी  (aishwarya Pissay) ने इसी खेल में इतिहास रच ‌दिया. उन्‍होंने मोटरस्पोर्ट्स का वर्ल्ड कप अपने नाम कर लिया है. वह विश्व स्तर पर इस खेल में खिताब जीतने वाली वह पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं.

हंगरी में सोमवार को हुए एफआईएम वर्ल्ड कप  के फाइनल राउंड के बाद ऐश्वर्या ने महिला कैटेगरी का खिताब अपने नाम किया. इस भारतीय खिलाड़ी ने दुबई में पहला राउंड जीता था, जबकि पुर्तगाल में तीसरे, स्पेन में पांचवें और हंगरी में चौथे पायदान पर रही. उन्होंने 65 अंकों के साथ अपना टूर्नामेंट खत्म किया. वह पुर्तगाल की रीटा से चार अंक ही आगे रही. हंगरी के चरण से पहले ऐश्वर्या 52 अंकों के साथ और रीटा 45 अंकों के साथ खिताब की मजबूत दावेदार मानी जा रही थी.  हंगरी में चौथा स्थान हासिल कर भारतीय खिलाड़ी के खाते में 13 अंक आए, जबकि रीटा तीसरे पायदान पर रही और उनके खाते में 16 अंक और जुड़े.

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए ऐश्वर्या ने कहा कि स्पेन में निराशजनक प्रदर्शन के बाद उन्होंने वापसी की और चैंपियनशिप अपने नाम किया.

ये रैली है अब चुनौती

इस खिलाड़ी ने कहा कि जब वह बड़ी चोटों से जूझ रही थी, तो उन्होंने विश्वास नहीं खोया और वह बाइक पर वापसी करने के लिए बेताब थी. उन्होंने कहा कि यह उनके लिए गर्व की बात है कि भारत को अंतरराष्ट्रीय मोटरस्पोर्ट्स के नक्‍शे पर वह लेकर आ पाईं.  उन्होंने जूनियर कैटेगरी में सेकंड पायदान हासिल किया था.



23 वर्षीय इस बाइकर का अब सपना डकार रैली ने अपने देश का झंडा ऊंचा करने का है.  उन्हें उम्मीद है कि इस क्रॉस कंट्री रेस के लिए  उन्हें स्पॉन्सर्स मिलेंगे.

2017 में हुआ था बड़ा हादसा

ऐश्वर्या के दो बड़े एक्सीडेंट  हो चुके हैं. 2017 में वह गिर गई थी, जिससे उनका कॉलर बोन टूट गया था. उनकी सर्जरी हुई और करीब दो माह तक वह हॉस्पिटल में रहीं. डॉक्टर्स के ऐश्वर्या के कॉलरबोन को जोड़ने के लिए स्टील की प्लेट और सात स्क्रू लगाए थे.

 

ओलंपिक में क्रिकेट को शामिल कराना चाहती है ICC!

वर्ल्ड कप फाइनल में गप्टिल के ओवर थ्रो पर समीक्षा अगले माह
First published: August 13, 2019, 10:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...