लाइव टीवी

नए क्वालिफाइंग नियमों का मीराबाई चानू को मिलेगा फायदा, ओलिंपिक खेलना तय!

भाषा
Updated: March 20, 2020, 6:36 PM IST
नए क्वालिफाइंग नियमों का मीराबाई चानू को मिलेगा फायदा, ओलिंपिक खेलना तय!
मीरा बाई चानू पूर्व वर्ल्ड चैंपियन हैं

पूर्व विश्व चैम्पियन चानू (Mirabai Chanu) इस समय महिलाओं के 49 किलो विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड 19 (Covid19) महामारी के चलते वेटलिफ्टिंग का ओलिंपिक क्वालीफाइंग शेड्यूल भले ही अस्त व्यस्त हो गया हो लेकिन भारत की मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) का
टोक्यो में खेलना तय है जबकि युवा जेरेमी लालरिन्नुगा (Jeremy Lallrinunga) भी क्वालीफाई कर सकते हैं.

पूर्व विश्व चैम्पियन चानू इस समय महिलाओं के 49 किलो विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है. आखिरी क्वालीफाइंग टूर्नामेंट एशियाई चैम्पियनशिप (Asian Championship) कोरोना वायरस के कारण रद्द हो गया था. नये क्वालीफिकेशन नियमों के तहत उसने अनिवार्य छह में से पांच टूर्नामेंटों में भाग ले लिया है.

रद्द हो चुकी है एशियन चैंपियनशिप



अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग फेडरेशन के कार्यकारी बोर्ड की 17 और 18 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई बैठक में आईओसी को ओलिंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंटों की जानकारी दी. सूत्रों ने कहा कि इसमें यह भी कहा गया कि कोविड 19 (Covid) महामारी के कारण पांचों उपमहाद्वीपीय चैम्पियनशिप रद्द होने के कारण क्वालीफिकेशन प्रक्रिया बंद की जा सकती है.

इसके मायने है कि मौजूदा विश्व रैंकिंग के आधार पर ओलिंपिक क्वालीफिकेशन स्थान तय होंगे. आईओसी अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ के सुझावों पर अंतिम फैसला लेगा. भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के महासचिव सहदेव यादव ने कहा , 'मीराबाई का ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करना तय है . वह फिलहाल विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है . विश्व रैंकिंग में शीर्ष आठमें शामिल खिलाड़ियों को क्वालीफिकेशन अवधि बीत जाने के बाद तोक्यो ओलंपिक में प्रवेश मिलेगा.’

उन्होंने कहा ,‘उसने पांच क्वालीफाइंग टूर्नामेंटों में भाग लिया लेकिन ताशकंद में एशियाई चैम्पियनशिप रद्द कर दी गई थी . मुझे लगता है कि और क्वालीफाइंग टूर्नामेंट नहीं होंगे और विश्व रैंकिंग के आधार पर ही तय होगा .’

जारी है टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियां
कोविड 19 के चलते ओलंपिक के आयोजन को लेकर अनिश्चितता के बीच खेलों की मशाल शुक्रवार को जापान पहुंच गई जिसका सादे समारोह में स्वागत किया गया. विशेष लालटेन से ढकी मशाल चार्टर्ड उड़ान से यहां पहुंची. इसके स्वागत के लिये 200 स्कूली बच्चों को बुलाने का कार्यक्रम आयोजकों को रद्द करना पड़ा.

पूर्व ओलिंपिक जूडो चैम्पियन साओरी योशिदा और तदाहिरो नोमूरा ने पारंपरिक कुंड में कुछ अधिकारियों या मेहमानों के सामने मशाल प्रज्जवलित की. टोक्यो 2020 के प्रमुख योशिरो मोरी ने कहा ,‘बच्चे इस मशाल का स्वागत करने आने वाले थे लेकिन सुरक्षा के मद्देनजर वह कार्यक्रम रद्द करना पड़ा.’

मां के पास नहीं थे पालने के पैसे, हुआ शारीरिक शोषण फिर भी जीते 4 ओलिंपिक गोल्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 20, 2020, 6:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर