होम /न्यूज /खेल /

ओलिंपिक से पहले दुती चंद को मिली खुशखबरी, परिवार ने स्वीकार कर लिया समलैंगिक रिश्ता

ओलिंपिक से पहले दुती चंद को मिली खुशखबरी, परिवार ने स्वीकार कर लिया समलैंगिक रिश्ता

दुती चंद स्टार भारतीय एथलीट हैं

दुती चंद स्टार भारतीय एथलीट हैं

दुती चंद (Dutee Chand) ने इस साल मई में अपने समलैंगिक रिश्ते को दुनिया के सामने स्वीकारा था.

    नई दिल्ली. भारत (India) की स्टार एथलीट दुती चंद (Dutee Chand) को ओलिंपिक में मेडल की बड़ी उम्मीद माना जा रहा है. दुती (Dutee Chand) ओलिंपिक (Olympic) की तैयारियों में लगी हुई हैं. पिछले कुछ महीने दुती चंद (Dutee Chand) के लिए आसान नहीं रहे हैं खासकर जबसे उन्होंने दुनिया के सामने अपने संलैंगिक रिश्ते की बात कबूली है. दुती चंद (Dutee Chand) को अपने इस कदम के बाद परिवार का भारी विरोध झेलना पड़ा था हालांकि अब उनका परिवार उनके साथ हैं.

    दुती चंद के परिवार ने स्वीकार कर लिया रिश्ता
    दुती चंद (Dutee Chand) ने मेड टुडे को दिए इंटरव्यू में बताया कि शुरुआत के दिनों में उन्हें मुश्किलें हुई लेकिन अब सब ठीक है. एशियन गेम्स में दो सिल्वर जीतने वाली दुती (Dutee Chand) ने कहा, 'शुरुआत के 15 दिन मेरे लिए अच्छे नहीं थे, मेरे लिए सबको इस बात का यकीन दिलाना मुश्किल था कि मैं अपने इस रिश्ते के बारे में क्या सोचती हूं. हालांकि मुझे कोई डर नहीं था क्योंकि 377 पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मुझे पता था कि मैं कुछ गलत नहीं कर रही हूं. मुझे अपने दोस्तों का काफी सहयोग मिला.'

    दुती चंद ने 2018 एशियन गेम्स में दो सिल्वर मेडल जीते थे


    दुती (Dutee Chand) ने बताया कि लंबे समय बाद ही सही पर उनके परिवार ने उनके रिश्ते को कबूल कर लिया है. दुती (Dutee Chand) ने बताया, 'मेरे परिवार ने अब मेरे इस रिश्ते को कबूल लिया है. शुरुआत में उन्हें परेशानी हुई और मुझे बहुत डांट भी पड़ी पर अब सब ठीक है. उन्होंने मुझसे कहा कि इन सब बारे में सोचना छोड़कर मैं देश को ओलिंपिक मेडल दिलाने पर मेहनत करूं.' साल 2018 में हुए एशियन मेडल में दो मेडल हासिल करने वाली दुती चंद ने इस साल मई में अपने समलैंगिक रिश्ते को दुनिया के सामने स्वीकारा था. वह दुनिया के उन चुनिंदा एथलीट्स में शामिल है जो अपने समलैंगिक रिश्ते को लेकर दुनिया के सामने आए हैं.

    टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियों में लगी है दुती चंद
    वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स (World University Games) में भारत (India) को ऐतिहासिक गोल्ड मेडल दिलाने दुती (Dutee Chand) ने कहा, 'मैं भुवनेश्वर में ट्रेनिंग कर रही हूं. सरकार ने मेरी ट्रेनिंग के लिए पूरी मदद की है लेकिन मुझे लगता है कि केवल यह काफी नहीं है. महिला खिलाड़ियों से ज्यादा प्रतिस्पर्धा नहीं मिलने के कारण मुझे भुवनेश्वर में पुरुष खिलाड़ियों के साथ ट्रेनिंग करनी पड़ रही है. साथ ही मुझे टोक्यो ओलिंपिक-2020 की तैयारी के लिए सही समर्थन भी नहीं मिल रहा है.'

    कोरोमिनास के गोल से एफसी गोवा ने दी एटीके को मात, पहले स्‍थान पर पहुंची

    विश्व विजेता फुटबॉलर ने दिखाया गुस्सा, बोले- मस्जिदें गिराई जा रही हैं

    Tags: Athletics, Dutee Chand, Sports news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर