लाइव टीवी

भारतीय वेटलिफ्टर्स पर लगे बैन का भारत के टोक्यो ओलिंपिक कोटा पर नहीं होगा असर - IWLF

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 5:40 PM IST
भारतीय वेटलिफ्टर्स पर लगे बैन का भारत के टोक्यो ओलिंपिक कोटा पर नहीं होगा असर - IWLF
रवि कुमार पर डोपिंग के चलते बैन लगा हुआ है

राष्ट्रमंडल खेल 2014 में भी रजत पदक जीतने वाले रवि (Ravi Kumar), जूनियर राष्ट्रमंडल खेलों की पदक विजेता पूर्णिमा पांडे (Purnima Pandey), हिरेंद्र सारंग, दीपिका श्रीपाल (Deepika Shreepal) और गौरव तोमर (Gourav Tomar) पर बैन लगा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 5:40 PM IST
  • Share this:
भारतीय वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (IWLF) के सचिव सहदेव यादव (Sahdev Yadav) ने कहा है कि राष्ट्रमंडल खेल 2010 (Commonwealth Games) के स्वर्ण पदक विजेता रवि कुमार कतालु (Ravi Kumar Katalu) और चार अन्य वेटलिफ्टर्स पर लगे चार साल के प्रतिबंध का टोक्यो (Tokyo) में अगले साल होने वाले ओलिंपिक (Olympic) में भारत (India) के कोटा स्थान पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

चार भारतीय वेटलिफ्टर्स पर लगा है बैन
ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेल 2014 में भी रजत पदक जीतने वाले रवि, जूनियर राष्ट्रमंडल खेलों की पदक विजेता पूर्णिमा पांडे, हिरेंद्र सारंग, दीपिका श्रीपाल और गौरव तोमर को प्रतियोगिता के दौरान और इतर हुए परीक्षण में प्रतिबंधित पदार्थों के लिए पॉजीटिव पाया गया है.

रवि कुमार को प्रतिबंधित पदार्थ ओस्टेरिन के लिए पाजीटिव पाया गया. ओस्टेरिन एक ‘सिलेक्टिव एंड्रोजेन रिसेप्टर माड्युलेटर (एसएआरएम)’ है जो मांसपेशियों को बढ़ा सकता है. उन्हें इस साल विशाखापत्तनम में राष्ट्रीय चैंपियनशिप के दौरान हुए परीक्षण में पाजीटिव पाया गया. यादव ने रवि कुमार के निलंबन की पुष्टि की लेकिन इन अटकलों को बकवास करार दिया कि आईडब्ल्यूएलएफ पर 2020 ओलंपिक कोटा स्थान गंवाने का खतरा मंडरा रहा है.

नाडा ने लगाया है वेटलिफ्टर्स पर बैन
यादव ने मंगलवार को पीटीआई से कहा, ‘हां, रवि कुमार कतालु को चार साल के लिए निलंबित किया गया है. उसे एसएआरएम के लिए पॉजीटिव पाया गया है.’ उन्होंने कहा, ‘मैं आपको नियम स्पष्ट कर दूं. अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के दौरान हुए डोपिंग उल्लंघनों को ही गिना जाता है जहां वाडा वेटलिफ्टर का परीक्षण करता है. नाडा की सजा अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में वैध नहीं होती.’ यादव ने कहा, ‘इसलिए इस सजा को नहीं गिना जाएगा और मैं आपको आश्वासन दे सकता हूं कि जब तक टोक्यो ओलिंपिक के कोटा स्थान का सवाल है तो भारतीय वेटलिफ्टर सुरक्षित हैं.’

नियमों के अनुसार भारत के कोटा स्थानों पर नहीं होगा असर
Loading...

अंतरराष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (आईडब्ल्यूएफ) के नए नियमों के अनुसार अगर 2008 और 2020 के बीच अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में (जहां वाडा ने परीक्षण किया हो) किसी देश के 20 या उससे अधिक खिलाड़ी डोपिंग उल्लंघन के दोषी पाए जाते हैं तो वह देश सिर्फ एक पुरुष और एक महिला वेटलिफ्टिंग को ही ओलिंपिक में भेज सकता है. बीस से कम डोपिंग उल्लंघन वाले देश दो पुरुष और दो महिला खिलाड़ियों को भेज सकते हैं. यह नई नीति पिछले साल प्रभावी हुई थी जब अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति ने डोपिंग रिकॉर्ड में सुधार करने में विफल रहने पर खेल को पेरिस 2024 खेलों के ओलिंपिक कार्यक्रम से हटाने की धमकी दी थी.

बर्थडे की बधाई देते हुए युवराज ने विराट को मारा 'ताना', शेयर की पुरानी तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 5:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...