लाइव टीवी

4 साल पहले लगा था बैन, अब Coronavirus के कारण भारतीय खिलाड़ी को हुआ बड़ा फायदा

News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 6:02 PM IST
4 साल पहले लगा था बैन, अब Coronavirus के कारण भारतीय खिलाड़ी को हुआ बड़ा फायदा
कोरोना केजेनेटिक टेस्ट में ज्यादा समय लगता है.वहीं सेरोलॉजिकल टेस्ट में समय कम लगता है और जल्दी ही नतीजे भी सामने आ जाते हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण टोक्‍यो ओलिंपिक, आईपीएल जैसे बड़े खेल इवेंट्स को टाल दिया गया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 6:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण पूरी दुनिया दशहत में हैं. दुनिया का हर एक व्‍यक्ति अपने घर में कैद हो गया है, जिसका असर लोगों के करोबार पर भी पड़ा है. खेल जगत में भी इस वायरस के कारण काफी नुकसान हो गया है. कोरोना वायरस जैसी भंयकर महामारी के कारण जहां टोक्‍यो ओलिंपिक, इंडियन प्रीमियर लीग, इंग्लिश प्रीमियर लीग, फ्रेंच ओपन आदि स्‍थगित हो गए हैं, वहीं भारतीय पहलवान नरसिंह पंचम यादव (Narsingh Pancham Yadav) को इससे फायदा भी हुआ है. चार साल पहले रियो ओलिंपिक में खिताब के प्रबल दावेदार माने जा रहे नरसिंह यादव पर ओलिंपिक में मुकाबला शुरू होने से कुछ घंटे पहले ही डोपिंग के चलते चार साल का प्रतिबंध लगा दिया था. मगर अब टोक्‍यो ओलिंपिक टलने की वजह से उन्‍हें ओलिंपिक में मेडल जीतने के अपने सपने को पूरा करने का एक मौका और मिल गया है.

जुलाई में खत्‍म होगा प्रतिबंध
नरसिंह को अगस्त 2016 में खेल पंचाट ने डोप टेस्ट में नाकाम रहने पर चार साल के प्रतिबंध की सजा सुनाई थी. रियो ओलिंपिक में उनका मुकाबला शुरू होने से चंद घंटे पहले विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी की अपील पर यह सुनवाई हुई थी. उनका यह प्रतिबंध जुलाई में खत्‍म हो रहा है.

74 किलो वर्ग में दावा कर सकते हैं



अब यह भी साफ हो गया है कि नरसिंह पंचम यादव अगर टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्‍वालीफाई  करने की कोशिश करते हैं तो भारतीय कुश्ती महासंघ उन्हें रोकेगा नहीं. ओलिंपिक अगर जुलाई अगस्त में होते तो नरसिंह के पास मौका नहीं था, लेकिन अब कोविड 19 के चलते ओलिंपिक एक साल के लिए टल चुके हैं. ऐसे में वह 74 किलो वर्ग में दावा कर सकता है, जिसमें भारत ने कोटा हासिल नहीं किया है.



सुशील और नरसिंह के बीच रियो ओलिंपिक को लेकर हुआ था विवाद
महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा कि हम उन्‍‍‍‍‍हें रोकेंगे नहीं, अगर वह हमारे पास आकर भाग लेने की इच्छा जताते हैं. हमने इस पर बात की है. उनका प्रतिबंध पूरा हो चुका है और वह वापसी कर सकते है. रियो ओलिंपिक से पहले उन्‍हें डोप टेस्ट में नाकाम रहने के बाद राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) ने स्वीकार कर लिया था कि उसके पेय पदार्थ में मिलावट की गई थी. उन्‍होंने ओलिंपिक के लिए क्‍वालीफाई  भी किया, लेकिन चोट के कारण ओलिंपिक क्वालीफिकेशन से चूके दो बार के पदक विजेता सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने ट्रायल की मांग की और नरसिंह को अदालत में घसीटा. नरसिंह डोप टेस्ट में नाटकीय रूप से नाकाम रहे और उस पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया गया.

(भाषा इनपुट के साथ )

 

corona:पत्नी को बचाने के लिए सचिन तेंदुलकर के नाम पर पैसे जुटा रहा ये क्रिकेटर

UP पुलिस ने शेयर की एमएस धोनी की 'दर्दनाक' तस्वीर, Coronavirus से है कनेक्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 6:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading