• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • ओलिंपिक की तैयारी के लिए योग का सहारा ले रहा यह गोल्ड मेडलिस्ट शूटर

ओलिंपिक की तैयारी के लिए योग का सहारा ले रहा यह गोल्ड मेडलिस्ट शूटर

अभिषेक वर्मा ने कहा शूटिंग मानसिक खेल है

अभिषेक वर्मा ने कहा शूटिंग मानसिक खेल है

अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) दस मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड वर्ग में यशस्विनी सिंह देसवाल (yashaswini Singh) के साथ सिल्वर मेडल जीता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्ली. पिछले सप्ताह वर्ल्ड कप (ISSF World Cup) में दूसरा गोल्ड मेडल जीतने वाले भारतीय शूटर अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) ने कहा कि ओलिंपिक मेडल जीतने के लिए अलग तरह की मानसिक स्थिरता की जरूरत होती है .

    हरियाणा के 30 बरस के इस निशानेबाज ने इस साल अप्रैल में बीजिंग विश्व कप में 10 मीटर एयर पिस्टल में स्वर्ण पदक जीतकर ओलिंपिक कोटा हासिल किया था. उन्होंने पिछले सप्ताह रियो में वर्ल्ड कप में ही दूसरा पीला तमगा जीता .

    उन्होंने दस मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड वर्ग में यशस्विनी सिंह देसवाल के साथ सिल्वर मेडल जीता था. अभिषेक ने प्रेस ट्रस्ट से कहा ,‘निशानेबाजी शारीरिक से ज्यादा मानसिक खेल है . ओलिंपिक में हमें अलग तरह की मानसिक स्थिरता और आत्मविश्वास की जरूरत होगी . मैं इसके लिये मानसिक व्यायाम, योग और ध्यान कर रहा हूं .’

    मानसिक शांति पर काम कर रहे हैं अभिषेक

    उन्होंने कहा ,‘मुझे पूरी तैयारी पर काम करना है लेकिन मुख्य फोकस मानसिक शांति पर होगा . फाइनल में जब आप निशाना साधते हैं और पीछे से शोर होता है तो फोकस हट जाता है . ऐसे में नौ या आठ के स्कोर आने लगते हैं . इसी पर फोकस करना है .’ भारत के पास इस समय निशानेबाजी में काफी युवा टीम है और अभिषेक ने कहा कि आपस में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा से निशानेबाजों को मदद मिल रही है .

    उन्होंने कहा ,‘यह अच्छा मौका है क्योंकि भारत में ही इतनी स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है . इससे आत्मविश्वास बढता है .’ उन्होंने कहा ,‘एशियन खेलों से ही मैं और सौरभ हर अभ्यास शिविर में एक कमरे में रहते हैं . हर प्रतिस्पर्धा में भी और अपने अनुभव एक दूसरे से बांटते हैं जिससे प्रदर्शन में निखार आता है .’

    चीन में 17 से 23 नवंबर तक होने वाले विश्व कप फाइनल्स के लिये रिकॉर्ड 14 भारतीय राइफल और पिस्टल निशानेबाजों ने कोटा हासिल कर लिया है . अभिषेक ने कहा ,‘विश्व कप फाइनल्स दो साल में बार होता है . इस बार हमारे पास बड़ी टीम है और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है.’

    पीवी सिंधु नई कोच को दिया वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने का श्रेय

    विरोधी की गर्लफ्रेंड के पीछे पड़ा यह खिलाड़ी, जमकर हुई पिटाई

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज