तेज हवाओं के कारण उड़ी स्टेडियम की छत, मैच टले

यह घटना उत्तरी नीदरलैंड (Netherland) में स्थित 17000 दर्शकों की क्षमता वाले एएफएएस स्टेडियम (AFAS Stadium) की है जिसे 13 साल पहले बनाया गया था.

भाषा
Updated: August 11, 2019, 7:36 PM IST
तेज हवाओं के कारण उड़ी स्टेडियम की छत, मैच टले
नीदरलैंड का एजेड अलकमार स्‍टेडियम.
भाषा
Updated: August 11, 2019, 7:36 PM IST
तेज हवाओं के कारण शनिवार को नीदरलैंड (netherlands) के क्लब एजेड अलकमार के स्टेडियम (Stadium) की छत का एक हिस्सा गिर गया. इस घटना के समय स्टेडियम खाली था जिससे अधिकारियों ने राहत की सांस ली. यह घटना उत्तरी नीदरलैंड में स्थित 17000 दर्शकों की क्षमता वाले एएफएएस स्टेडियम की है जिसे 13 साल पहले बनाया गया था.

क्लब के महाप्रबंधक रोबर्ट ऐनहोर्न ने कहा, ‘इससे हम सभी हैरान हैं. हम बेहद स्तब्ध हैं लेकिन हमें खुशी है कि किसी को भी चोट नहीं पहुंची. हम इस क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ जांच करेंगे. इस जांच के पूरा होने के बाद ही हम इस मामले में कुछ कह पाएंगे. इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी.’ ऐनहोर्न ने कहा, ‘अगर स्टेडियम सुरक्षित नहीं है तो यहां कोई मैच नहीं खेला जाएगा.’

बिजली गिरने से 15 खिलाड़ी हुए थे घायल

इससे पहले शुक्रवार को खबर आई थी कि जर्मनी में बिजली गिरने के चलते 15 खिलाड़ी घायल हो गए थे. स्‍थानीय समाचार एजेंसी डीपीए ने बताया था कि शनिवार को आकाशीय बिजली उस समय गिरी जब रोसेनफेल्ड-हेइलिगेनजिम्मेर्न मैदान में खिलाड़ी अभ्यास कर रहे थे. खिलाड़ी हालांकि मामूली रूप से ही घायल हुए लेकिन एहतियात के तौर पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

जर्मनी के बवारिया में पुलिस ने खुली जगह पर संगीत कंसर्ट में देखने आये हजारों प्रशंसकों को वापस भेज दिया. नेकरसुल्म में तेज हवा के कारण एक सर्कस का तंबू गिर गया. इस दौरान एक घोड़े को मारना पड़ा वहीं 15 घोड़े और ऊंट भाग गए थे और उन्‍हें पुलिस ने पकड़ा. बता दें कि यूरोप के कई देशों में इस खराब मौसम के चलते हादसे हो चुके हैं. ब्रिटेन में भी खराब मौसम की वजह से कई आउटडोर कार्यक्रम रद्द किए गए हैं. यूरोपीय देशों में बिजली गिरने के काफी मामले होते हैं.

बैन के बाद डिप्रेशन में पृथ्वी शॉ, देश छोड़ चले गए इंग्लैंड

स्‍टार पहलवान बजरंग पूनिया बोले- ना कश्मीर में ससुराल चाहिए
First published: August 11, 2019, 6:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...