लाइव टीवी

फिक्सिंग के आरोपों के बाद अब बॉक्सिंग में होगा बड़ा बदलाव, लागू होंगे नए नियम

News18Hindi
Updated: October 30, 2019, 12:13 PM IST
फिक्सिंग के आरोपों के बाद अब बॉक्सिंग में होगा बड़ा बदलाव, लागू होंगे नए नियम
वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत का प्रदर्शन शानदार रहा था

इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (IOC) ने एआईबीए (AIBA) से ओलिंपिक गेम्स में बॉक्सिंग (Boxing) कराने के अधिकार छीन लिए हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 30, 2019, 12:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टोक्यो (Tokyo) में होने वाले 2020 ओलिंपिक गेम्स (Olympic Games 2020) में बॉक्सिंग का भविष्य दांव पर लगा हुआ है. 2016 के रियो ओलिंपिक (Rio Olympics) में हुए स्कैंडल के बाद एआईबीए (International Boxing Association) को लगातार मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (International Olympic Committee) ने एआईबीए (AIBA) से ओलिंपिक (Olympic) में बॉक्सिंग (Boxing) के मुकाबले कराने का अधिकार छीन लिया है. इसके बाद से खेल में लोगों का विश्वास फिर से हासिल करने के लिए आईओसी (IOC) की बनाई गई टास्कफोर्स नए नियम लागू करने वाली है.

पारदर्शिता बनाए रखने के लिए बदले गए नियम
आईओसी (IOC) ने बॉक्सिंग (Boxing) के मुकाबले कराने का अधिकार एआईबीए (AIBA) से लेकर टास्कफोर्स को दिया है जो यह सुनिश्चित करेगी कि खेल निष्पक्ष हो. टास्कफोर्स ने फैसले किया है कि वह अंपायरिंग के नियमों में बदलाव करेंगे ताकी खेल में पारदर्शिता लाई जा सके. नए नियमों के मुताबिक अब पांचों जज का स्कोर अंत के बजाए पूरे मैच के दौरान टीवी स्क्रीन पर दिखाया जाएगा. जैस ही जज अंक के लिए बटन दबाएंगे वैसे ही स्क्रीन पर अंक दिखाया जाएगा. इस स्क्रीन को खिलाड़ी, रेफरी के अलावा स्टेडियम में बैठे दर्शक भी देख सकेंगे.

mary kom, nikhat zareen, women world boxing championship, loblina borgohain, boxer nikhat zareen, निकहत जरीन, मेरी कॉम, इंडियन बॉक्सिंग, महिला वर्ल्‍ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप
भारत को ओलिंपिक में दो बार ब्रॉन्ज मेडल हासिल हुआ है, साल 2008 में विजेंद्र सिंह और 2012 में मैरीकॉम ने मेडल हासिल किया था


बॉक्सिंग हासिल करना होगा फैंस का विश्वास
टास्कफोर्स के अध्यक्ष और जापान ओलिंपिक कमेटी के सदस्य मोरिनारी वातानबे ने कहा, 'बॉक्सिंग का भविष्य खतरे में है. हमारी कोशिश और प्राथमिकता है कि यह खेल फिर से फैंस का विश्वास हासिल कर सके. इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि मैच के निर्णय निष्पक्ष और पारदर्शी हों.' इस नए नियम का ट्रायल आगामी बॉक्सिंग टेस्ट मैचों में होगा जो ओलिंपिक की तैयारियों के लिए जापान के रायोगोको कोकुगिकन स्टेडियम में खेले जाएंगे. इसी स्टेडियम में टोक्यो ओलिंपिक के दौरान बॉक्सिंग के मुकाबले होन वाले हैं.

AIBA, AMIT panghal, tokyo olympics, olympic games
भारत को टोक्यों ओलिंपिक में बॉक्सिंग में भी मेडल की उम्मीद है

Loading...

रियो ओलिंपिक में हुई थी फिक्सिंग
एआईबीए ओलिंपिक के इतिहास की पहली फेडरेशन है जिसे ओलिंपिक में अपना ही खेल कराने का अधिकार नहीं है. हाल के कुछ सालों में एआईबीए की छवि काफी खराब हुई है खासकर रियो ओलिंपिक के बाद. रियो ओलिंपिक में 36 मैच अधिकारी और रेफरी को बाउट फिक्सिंग के चलते सस्पेंड कर दिया गया था. इसके बाद से ही एआईबीए और आईओसी के रिश्ते भी खराब हो गए.

शाकिब के समर्थन में आईं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना,दिया ये बड़ा बयान

IND vs Ban : सौरव गांगुली से अपील, दिल्ली की प्रदूषित हवा में नहीं कराएं मैच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 12:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...