कुश्‍ती की नेशनल चैंपियनशिप में उड़ी सोशल डिस्‍टेंसिंग की धज्जियां, खचाखच भरा रहा स्‍टैंड

सिर्फ कुछ दर्शकों ने ही मास्‍क लगा रखा था(सांकेतिक फोटो )

सिर्फ कुछ दर्शकों ने ही मास्‍क लगा रखा था(सांकेतिक फोटो )

नेशनल चैंपियनशिप के दौरान दर्शक खिलाड़ियों से मिल रहे थे. सेल्‍फी ले रहे थे. कई बार तो वह एक साथ खाते हुए भी नजर आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2021, 9:14 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लगे लॉकडउान के बाद नेशनल चैंपियनशिप का आयोजन कराने वाला कुश्‍ती पहला मेजर ओलिंपिक खेल बन गया है. पिछले साल दिसंबर में भारत के खेल मंत्रालय ने इस महामारी के खतरे के बीच कुश्‍ती की नेशनल चैंपियनशिप का आयोजन कराने के लिए 8 पेज की एसओपी रिलीज की थी. जिसमें साफ साफ कहा गया था कि इवेंट में गृह मंत्रालय के दिशा निर्देशों का सख्‍ती से पालन होना चाहिए. सरकार ने कहा कि आयोजक इस बात को सुनिश्चित करें कि दूरी बने रहे, जगह पर सपोर्ट स्‍टाफ की मौजूदगी सीमित रहे, फेस कवर्स, मास्‍क, ग्‍लव्‍ज और सेनेटाइजर जगह पर उपलब्‍ध रहे.

इसके साथ ही यह भी कहा गया था कि दर्शक स्‍टेडियम की कैपिसिटी से आधे होने चाहिए. मगर नोएडा में नेशनल चैंपियनशिप में अलग ही नजारा देखने को मिला. इंडियन एक्‍सप्रेस की खबर के अनुसार मैन्‍स फ्री स्‍टाइल चैंपियनशिप को देखने के लिए सैकड़ों दर्शक पहुंचे हुए थे. जहां सिर्फ कुछ ही लोग मास्‍क लगाए नजर आए. लोग आराम से घूम रहे थे. मुकाबले से पहले और बाद में दर्शक खिलाड़ियों से मिल रहे थे. सेल्‍फी ले रहे थे. कुछ मामलों में तो एक साथ खाना भी खा रहे थे.

यह भी पढ़ें : 

WWE सुपरस्‍टार ट्रिपल एच का विराट कोहली की टीम इंडिया को चैलेंज, कहा- एक क्रिकेट मैच हो जाए
ऑस्‍ट्रेलिया दौरे से लौटने के बाद वाशिंगटन सुंदर ने शेयर की अपनी 2 अनमोल संपत्ति की तस्‍वीर

इंडियन रेसलिंग फेडरेशन के अधिकारी ने कहा कि वे भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश रहे थे, मगर आदेश का पालन नहीं किया गया. उन्‍होंने कहा कि वे हमारी बात नहीं सुन रहे थे. स्‍टैंड में कुर्सियां न होने से हमारे लिए बैठने की वैकल्पिक व्‍यवस्‍था करना संभव नहीं था. इसकी बजाय दर्शक सीढ़ियों पर बैठ गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज