रिएलिटी शो पर बबीता फोगाट ने प्यार का ऐलान, आठ फेरे लेकर की थी शादी

रिएलिटी शो पर बबीता फोगाट ने प्यार का ऐलान, आठ फेरे लेकर की थी शादी
बबीता फोगाट ने की थी शादी

बबीता फोगाट (Babita Phogat) ने अपनी शादी में सात की जगह आठ फेरे लिए थे

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 31, 2020, 11:55 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत की स्टार रेसलर बबीता फोगाट (Babita Phogat) ने अपनी बड़ी बहन के नक्शेकदम पर चलते हुए देश को गौरव करने का मौका दिया. फोगाट परिवार की परंपरा को आगे ले जाने का काम किया. देश भर में नाम होने के बावजूद बबीता (Babita Phogat) असल जिंदगी में काफी सादगी से रहती हैं. उनकी यही अदा रेसलर विवेक सुहाग को इतनी पसंद आई कि दो साल वह केवल उन्हें देखते ही रहे. हालांकि धीरे-धीरे बातें शुरू हुई और विवेक ने बबीता का दिल जीत लिया.

साई सेंटर में हुई थी पहली मुलाकात
बबीता फोगाट (Babita Phogat) की विवेक सुहाग से पहली मुलाकात सोनीपत स्थित साईं सेंटर में कुश्ती खिलाड़ियों के लिए लगे एक राष्ट्रीय शिविर के दौरान वर्ष 2014 में हुई थी. विवेक बताते हैं, 'पहली मुलाकात में ही उन्हें बबीता की सादगी बहुत पसंद आई. वे हर बात में सुलझी व सरल हैं.' विवेक शुरुआत के दो साल बबीता को केवल देखते रहते थे. सोनीपत स्थित साईं सेंटर में हुई मुलाकात के बाद  दोनों में अक्सर बातें होने लगी.' बबीता और उनके परिवार का काफी नाम था ऐसे में विवेक को शुरुआत में बबीता से बात करने में डर लगता था. हालांकि धीरे-धीरे वह सहज हो गए औऱ बबीता के साथ खुलकर बात करते लगे. 2015 में हम दोनों ने शादी का फैसला किया.

रिएलिटी शो में किया था प्रपोज
दोनो ने रिएलिटी शो नच बलिए में हिस्सा लिया था. इसी शो के दौरान विवेक ने सबके सामने बबीता को शादी के लिए प्रपोज किया था. जज रवीना टंडन ने विवेक की टांग खींचते हुए उनसे पूछा- 'अगर आप बबीता से अकेले में मिल गए होते तो आप उन्हें कैसे प्रपोज करते?' इसके जवाब में विवेक ने बेहद गंभीरता और शालीनता से कहा, 'जब तू कुश्ती लड़े है ना, जब तेरे चोट लगे हैं, मेरे दिल में घना दर्द होवे है.' विवके के इस अंदाज ने सबका का दिल जीत लिया था.



रिकी पॉन्टिंग बोले- एमएस धोनी से बेहतर बल्लेबाज हैं ऋषभ पंत, फिर हो गया था बवाल!

आठ फेरे लेकर की थी शादी
18 मई को विवेक और बबीता की सगाई हुई थी. करीब 6 महीने बाद इस रविवार को दोनों ने 7 के बजाय 8 फेरे लिए. 8वां फेरा 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' संदेश के साथ था. उल्लेखनीय है कि हरियाणा बेटियों के साथ भेदभाव को लेकर काफी बदनाम रहा है. हालांकि बबीता जैसी लड़कियों के सामने आने के बाद स्थितियां तेजी से बदली हैं, विवेक ने शादी से पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि दहेज के सख्त खिलाफ हैं. बबीता के परिजन भी दहेज जैसी प्रथा को जड़ से मिटाना चाहते हैं.

लिहाजा विवेक ने सिर्फ 1 रुपए बतौर सगुन लिया. बबीता और विवेक ने अपनी शादी साधारण तरीके से की थी. बबीता ने 2014 और 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में रेसलिंग में गोल्ड मेडल जीता था. इस उपलब्धि को देखते हुए हरियाणा सरकार ने बबीता को पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर की जॉब दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading