लाइव टीवी

गोपीचंद की पीवी सिंधु को सीख- बिजी शेड्यूल की शिकायत करना बंद करो

भाषा
Updated: January 24, 2020, 7:50 PM IST
गोपीचंद की पीवी सिंधु को सीख- बिजी शेड्यूल की शिकायत करना बंद करो
पीवी सिंधु वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय शटलर हैं. (फाइल फोटो)

पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता लेकिन वह कोई अन्य टूर्नामेंट नहीं जीत पाई.

  • Share this:
कोलकाता: मुख्य राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद (Pullela Gopichand) ने स्वीकार किया है कि बीडब्ल्यूएफ (BWF) के व्यस्त कार्यक्रम के कारण परेशानियां हो रही हैं लेकिन इसके साथ ही उनका मानना है कि पीवी सिंधु (PV Sindhu) जैसी खिलाड़ी को इसको लेकर शिकायत करने के बजाय इससे सामंजस्य बिठाना होगा. सिंधु ने पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता लेकिन वह कोई अन्य टूर्नामेंट नहीं जीत पाई. गोपीचंद ने यहां एक कार्यक्रम से इतर पीटीआई से कहा, ‘मेरा मानना है कि व्यस्त कार्यक्रम शीर्ष खिलाड़ियों के लिए समस्या रहा है लेकिन यह मसला सभी खिलाड़ियों से जुड़ा है. शीर्ष खिलाड़ी होने के नाते यह उसका (सिंधु) कर्तव्य है कि वह शिकायत किये बिना इससे सामंजस्य बिठाए.’

गलतियों पर काम कर रही हैं सिंधु
उन्होंने कहा, ‘सिंधु अपनी कुछ गलतियों पर काम कर रही है और उम्मीद है कि हम इनका समाधान निकालने में सफल रहेंगे.’ गोपीचंद को विश्वास है कि सिंधु ओलिंपिक के समय पासा पलटने में सफल रहेगी. उन्होंने कहा, ‘हमारे पास अच्छी टीम है जिसमें कोच के रूप में पार्क (ताइ सैंग) हैं, हमारे पास श्रीकांत ट्रेनर है और फिजियो हैं. उम्मीद है कि आने वाले महीनों और ओलिंपिक से पहले हम अच्छी तैयारी करेंगे. निश्चित तौर पर हमें खेल के कुछ पहलुओं पर काम करना होगा और उम्मीद है कि हम जल्द ही उस मुकाम तक पहुंचेंगे.’'

pulela gopichand pv sindhu, badminton world federation, bwf schedule, pv sindhu tokyo olympic,  पुलेला गोपीचंद पीवी सिंधू, बिजी बैडमिंटन शेड्यूल, बैडमिंटन वर्ल्‍ड फैडरेशन, सायना नेहवाल
पुलेला गोपीचंद राष्ट्रीय बैडमिंटन कोच हैं


सिंधु के टोक्‍यो ओलिंपिक में मेडल जीतने की उम्‍मीद
गोपीचंद को उम्मीद है कि रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता सिंधू टोक्यो ओलिंपिक में पदक जीतने में सफल रहेगी. उन्होंने कहा, ‘उसके पास पदक जीतने का अच्छा मौका है. मेरा मानना है कि अच्छी तैयारियों के साथ वह बेहतर प्रदर्शन करेगी.’ सिंधू टोक्यो के लिए अपना टिकट सुनिश्चित कर चुकी है लेकिन साइना नेहवाल और किदाम्बी श्रीकांत के पास अपनी जगह पक्की करने के लिए कम समय बचा है, लेकिन गोपीचंद का मानना है कि ये दोनों दो-तीन टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करके अब भी क्वालीफाई कर सकते हैं.

साइना-श्रीकांत के पास रैंकिंग सुधारने के लिए 7 टूर्नामेंटसाइना और श्रीकांत ‘रेस टू टोक्यो बीडब्ल्यूएफ ओलंपिक क्वालीफिकेशन रैंकिंग’ में क्रमश: 22वें और 26वें स्थान पर है. प्रत्येक देश के लिए एकल में दो खिलाड़ियों का कोटा है जो 28 अप्रैल की समयसीमा तक उनके शीर्ष 16 में रहने पर तय होगा. उन्होंने कहा, ‘ओलिंपिक क्वालीफिकेशन तक सात टूर्नामेंट खेले जाने हैं. उन्हें ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए वास्तव में अच्छा प्रदर्शन करना होगा. एक-दो टूर्नामेंट में अच्छे प्रदर्शन से वे ओलिंपिक के लिए क्वालीफाई करने के करीब पहुंच सकते हैं.’

टीम इंडिया के चयनकर्ता बनना चाहते हैं अजीत अगरकर, कर सकते हैं बड़ा उलटफेर

न्‍यूजीलैंड को हराकर भारत ने लगाई रिकॉर्ड की झड़ी, बाकी टीमें आसपास भी नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 7:50 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर