पुलेला गोपीचंद के साथ शर्मनाक हादसा, BAI की ऑनलाइन क्लास में दिखाई देने लगी पोर्न तस्वीरें

पुलेला गोपीचंद के साथ शर्मनाक हादसा, BAI की ऑनलाइन क्लास में दिखाई देने लगी पोर्न तस्वीरें
गोपीचंद बाई के राष्ट्रीय कोच हैं

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण साई (SAI) केंद्र ने देश के बैडमिंटन खिलाड़ियों के लिए ऑनलाइन क्लास शुरू की थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2020, 6:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस  (Coronavirus) के समय में खिलाड़ियों को ट्रेन करने लिए सभी कोच और फेडरेशन ने ऑनलाइन कोचिंग की शुरुआत की. बाई ने भी सोमवार को जूम ऐप की मदद से कोचिंग की शुरुआत की थी. इसका पहला सत्र काफी कामयाब रहा था जिसमें राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद (Pullela Gopichand) ने भी हिस्सा लिया था. हालांकि शुक्रवार को यहां कुछ ऐसा हुआ कि जिससे पुलेला गोपीचंद समेच विदेशी कोच शर्मिंदा हो गए. खिलाड़ियों को दी जा रही ऑनलाइन वीडियो क्लास में अचानक पोर्न तस्वीरें दिखाई देने लगीं.

विदेशी कोच औऱ गोपीचंद भी क्लास में थे शामिल
बाई (BAI) ने 21 दिनों के लिए खिलाड़ियों के लिए यह कोचिंग क्लास रखी थी. इंडोनेशियाई कोच अगस ड्वी और नमरीह संतुसु और गोपीचंद भी यह क्लास देख रहे थे. तभी किसी हैकर ने यह वीडियो क्लास हैक की और क्लास में पोर्न तस्वीरें दिखाई देने लगीं. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक संतुसु इस क्लास को हेड कर रहे थे जब यह हुआ. उन्होंने बताया कि यह कुछ देर के लिए रुका लेकिन फिर ऐसा होने लगा. पूरी क्लास में यह कई बार हुआ. एक अन्य कोच ने कहा कि इस क्लास में कई युवा बच्चे और माता पिता भी जुड़े हुए थे. एक अन्य कोच ने कहा कि जूम में ऐसा कई बार हुआ है और अब इस पूरे वाकये की जांच हो रही है.

साई ने प्रोग्राम के हैक करने की बात को नकार दिया उन्होंने कहा कि यह सब एक तकनीकी कमी के कारण हुआ. साई के आईटी डिपार्टमेंट ने बयान में कहा, 'एक ऑनलाइन वर्कशॉप में किसी तकनीकी कमी के कारण स्क्रीन पर कुछ अनचाही तस्वीरें दिखाई देने लगीं. हालांकि हमने जांच की है और जूम वीडियो में कई हैकिंग नहीं हुई हैं.'
आठ महीने तक चलने वाला है यह कार्यक्रम


बीएआई के इससे पहले के ऑनलाइन कोच विकास कार्यक्रम में देश भर के करीब 800 प्रतिभागियों ने भाग लिया था. यह कार्यक्रम आठ मई तक चलने वाला है. यह कार्यक्रम तीन सप्ताह तक हफ्ते में पांच दिन चलेगा और पूरे कोर्स को 39 विषयों में बांटा गया है. इससे प्रशिक्षकों को भारतीय बैडमिंटन टीम के मुख्य कोच पुलेला गोपीचंद की अगुआई में शीर्ष स्तर के कोच से विस्तार से सीखने का मौका मिलेगा.  अवसर पर गोपीचंद ने कहा था, 'यह एक शानदार मंच है, जहां पर विदेशी कोचों का अनुभव हमारे देश में हर स्तर के कोचों के कौशल को निखारने में काम आएगा. कोचिंग और बुनियादी दृष्टिकोण में इस तरह की चीजें अद्भुत हैं, जिसके बारे में लॉकडाउन में किसी ने भी नहीं सोचा था.'

कोरोना वायरस के कारण क्ले कोर्ट पर होगी पूर्व वर्ल्ड नंबर वन खिलाड़ी की वापसी!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading