• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics 2020: पीवी सिंधु से होगी भारत को गोल्ड मेडल दिलाने की उम्मीद

Tokyo Olympics 2020: पीवी सिंधु से होगी भारत को गोल्ड मेडल दिलाने की उम्मीद

रियो में पीवी सिंधु ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन फाइनल में हार गई थीं. (PV Sindhu/Instagram)

रियो में पीवी सिंधु ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन फाइनल में हार गई थीं. (PV Sindhu/Instagram)

ओलंपिक पदार्पण में पांच साल पहले सिल्वर मेडल जीतने वाली मौजूदा विश्व चैम्पियन पीवी सिंधु शनिवार को यहां शुरू होने वाली बैडमिंटन स्पर्धा में भारत की गोल्ड मेडल हासिल करने की मुहिम की अगुवाई करेंगी.

  • Share this:
    टोक्यो. ओलंपिक पदार्पण में पांच साल पहले सिल्वर मेडल जीतने वाली मौजूदा विश्व चैम्पियन पीवी सिंधु शनिवार को यहां शुरू होने वाली बैडमिंटन स्पर्धा में भारत की गोल्ड मेडल हासिल करने की मुहिम की अगुवाई करेंगी. रियो में सिंधु ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन फाइनल में वह कड़े मुकाबले में हार गई थीं. यह भारतीय इस बार गोल्ड मेडल हासिल करने के लिए बेताब होंगी. वह अपना अभियान ग्रुप जे में शुरू कर रही हैं, जिसमें हांग कांग की चेयुंग एनगान यि (34वीं रैंकिंग) और इस्राइल की सेनिया पोलिकारपोवा (58वीं रैंकिंग) शामिल हैं.

    सिंधु रविवार को अपना शुरुआती मैच खेलेंगी जबकि हमवतन खिलाड़ी बी साई प्रणीत और चिराग शेट्टी और सात्विकसाइराज रंकीरेड्डी की पुरुष जोड़ी शनिवार को अपना अभियान शुरू करेंगे. सिंधु से रियो ओलंपिक से पहले उलटफेर करने की उम्मीद की जा रही थी लेकिन उन्हें मेडल का दावेदार नहीं माना जा रहा था. लेकिन इस बार वह गोल्ड मेडल की प्रबल दावेदारों में शामिल हैं, विशेषकर गत चैम्पियन कैरोलिना मारिन की अनुपस्थिति में जो चोट के कारण नहीं खेलेंगी.

    रियो के बाद से सिंधु ने हर बड़े टूर्नामेंट में मेडल जीते जिसमें 2018 में राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में सिल्वर मेडल, सत्र के अंत में बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स में एक गोल्ड और एक सिल्वर मेडल शामिल हैं. इसके अलावा वह 2019 में विश्व चैम्पियन बनी जबकि पिछले चरणों में वह तीन बार फाइनल्स तक भी पहुंची थीं.

    कोविड-19 महामारी के कारण ओलंपिक स्थगित होने के बाद सिंधु ने 2020 में लंदन में ट्रेनिंग की और फिर स्वदेश लौटने के बाद नये विदेशी कोच पार्क ताए सांग के साथ अभ्यास किया जिन्होंने पिछले कुछ महीनों में उनके डिफेंस पर काफी काम किया है. दुनिया की नंबर छह बैडमिंटन खिलाड़ी ने ड्रॉ के बारे में बात करते हुए कहा, ''ग्रुप चरण में यह अच्छा ड्रॉ है. लेकिन यह ओलंपिक है और यह आसान नहीं होगा, हर अंक अहम होगा.''

    उन्होंने कहा, ''हर कोई शीर्ष फार्म में है, मैं उम्मीद करती हूं कि मैं अच्छा करूं. प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है इसलिए मैं एक बार में एक मैच पर ही ध्यान लगाऊंगी.'' सिंधु के प्री क्वार्टरफाइनल में मिया ब्लिचफेल्ट से और क्वार्टर में दुनिया की पांचवें नंबर की खिलाड़ी अकाने यामागुची से भिड़ने की उम्मीद है.

    पुरुष एकल में प्रणीत ओलंपिक में स्वप्निल पदार्पण करना चाहेंगे जो अपना अभियान इस्राइल के मिशा जिल्बरमैन के खिलाफ शुरू करेंगे. ग्रुप डी में शीर्ष पर रहने के लिए 13वें वरीय भारतीय को नीदरलैंड के मार्क कालजोऊ को हराना होगा और फिर वह ग्रुप सी के विजेता से भिड़ेंगे.

    पुरुष युगल में चिराग और सात्विक को मुश्किल ड्रॉ मिला है, जिन्हें शनिवार को चीनी ताइपे के लीग यांग और वांग चि लिन की तीसरी रैंकिंग की जोड़ी से भिड़ना है. उन्हें ग्रुप चरण में इंडोनेशिया की शीर्ष वरीय जोड़ी और इंग्लैंड की 18वीं रैंकिंग की जोड़ी से भिड़ना है. युगल में ग्रुप की दो शीर्ष टीमें क्वार्टर फाइनल तक पहुंचेंगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज