होम /न्यूज /खेल /एम्स में इलाज करा रहे दिग्गज तीरंदाज लिंबा राम की मदद के लिए आगे आया खेल मंत्रालय

एम्स में इलाज करा रहे दिग्गज तीरंदाज लिंबा राम की मदद के लिए आगे आया खेल मंत्रालय

लिंबा का इलाज फिलहाल एम्स में चल रहा है जहां उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ है धीरे-धीरे हालात बिगड़ते जा रहे हैं

लिंबा का इलाज फिलहाल एम्स में चल रहा है जहां उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ है धीरे-धीरे हालात बिगड़ते जा रहे हैं

लिंबा का इलाज फिलहाल एम्स में चल रहा है जहां उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ है धीरे-धीरे हालात बिगड़ते जा रहे हैं

    भारत के दिग्गज भारतीय तीरंदाज और पूर्व ओलंपियन लिंबा राम के इलाज के लिए खेल मंत्रालय ने मंगलवार को पांच लाख रुपये जारी किए. कभी मैदान पर खड़े होकर मेडल्‍स पर निशाना साधने वाले तीन बार ओलिंपियन तीरंदाज लिंबा राम न्‍यूरो डिजनरेटिव कंडीशन में है. जिससे चलने फिरने में परेशानी हो रही थी, कभी-कभार जुबान भी फिसल जाती थी. ठीक से जवाब देने में भी परेशानी हो रही थी.

    लिंबा का इलाज फिलहाल एम्स में चल रहा है जहां उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ है धीरे-धीरे हालात बिगड़ते जा रहे हैं. खेल मंत्रालय ने लिंबा राम की मदद के लिए आगे आए हैं. इससे पहले द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता और राष्ट्रीय पर्यवेक्षक संजीव सिंह ने खेल मंत्रालय से उन्हें वित्तीय मदद करने की मांग की थी. इसके सात ही लिंबा राम की पत्नी ने भी मदद की गुहार लगाई थी

    मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के अधिकारियों ने उनसे मुलाकात की और उनके लिए पांच लाख रुपये जारी किए गए. साई ने ट्वीट किया, ‘लिंबा भारतीय खेलों के चैंपियन हैं और हम चाहते हैं कि वह जल्दी ठीक हो जाएं. साई के अधिकारियों ने उनसे मुलाकात की और उनके आगे के इलाज के लिए पांच लाख रुपए जारी किए जाएंगे.’

    धोनी ने बनाया आईपीएल इतिहास का 'सबसे बड़ा' रिकॉर्ड, तोड़ना लगभग नामुमकिन

    बार्सिलोना (1992) ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने से चूकने वाले 46 साल के इस खिलाड़ी का न्यूरोडीजेनेरेटिव बीमारी का इलाज एम्स में चल रहा है. लिंबा राम ने तीन बार ओलिंपक में भारत का प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने 1992 में बीजिंग में एशियन चैंपिनयनशिप में 30 मीटर के इवेंट के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की है. 1991 में उन्हें अर्जुन आवार्ड से सम्मानित किया गया. इसके बाद उन्होंने भारतीय टीम के कोच की भूमिका भी निभाई. साल 2012 में उन्हें पद्म श्री से नवाजा गया. लिंबा राम के कोच रहते भारत ने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में तीन स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य पदक जीते थे. लंदन ओलिंपिक 2012 में भारत के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उनके अनुबंध को आगे नहीं बढ़या गया.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Archery Tournament, Sports

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें