• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइंदर चौथी बार बने राइफल संघ के अध्यक्ष, बसपा सांसद को हराया

कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइंदर चौथी बार बने राइफल संघ के अध्यक्ष, बसपा सांसद को हराया

रणइंदर सिंह को चौथी बार राष्ट्रीय राइफल संघ का अध्यक्ष चुना गया. (Twitter)

रणइंदर सिंह को चौथी बार राष्ट्रीय राइफल संघ का अध्यक्ष चुना गया. (Twitter)

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जिस दिन पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया. उसी दिन उनके बेटे रणइंदर (Raninder Singh) ने भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (NRAI) का अध्यक्ष पद का चुनाव जीता. वह चौथी बार इस संघ के अध्यक्ष चुने गए हैं. रणइंदर ने बसपा सांसद श्याम सिंह यादव (Shyam Singh Yadav) को हराया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    मोहाली. अनुभवी प्रशासक और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइंदर सिंह (Raninder Singh) को चौथी बार भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (NRAI) का अध्यक्ष चुना गया. खास बात है कि अमरिंदर सिंह ने शनिवार को ही पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और इसी दिन रणइंदर चुनाव जीते. रणइंदर ने मोहाली में हुए चुनावों में बसपा सांसद श्याम सिंह यादव (Shyam Singh Yadav) को 56-3 मत से हराया. कुंवर सुल्तान को निर्विरोध राष्ट्रीय संस्था का महासचिव चुना गया, जबकि रणदीप मान को कोषाध्यक्ष बनाया गया.

    ओडिशा के सांसद कलीकेश नारायण सिंह देव महासंघ के आठ उपाध्यक्षों के अलावा सीनियर उपाध्यक्ष बने रहेंगे. पवन कुमार सिंह भी शेला कानुंगो के साथ शीर्ष संस्था के संयुक्त सचिव बने रहेंगे. एनआरएआई ने दिल्ली हाई कोर्ट में यादव की याचिका के बाद खेल मंत्रालय के नये सिरे से चुनाव प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश के बावजूद चुनाव कराने का फैसला किया. यादव उत्तर प्रदेश के जौनपुर लोकसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी के सांसद हैं.

    इसे भी देखें, ‘थारे बाप का घर नहीं, चुपचाप खड़ा रह’, बिग बी को नीरज ने सिखाई हरियाणवी- Video

    एनआरएआई ने चुनाव निर्धारित समय पर कराने का फैसला इसलिये कायम रखा, क्योंकि उच्च न्यायालय से अभी इस पर कोई ‘स्टे ऑर्डर’ नहीं मिला था. यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय में लंबित है और सुनवाई की अगली तारीख दिसंबर है. चुनाव आईएस बिंद्रा स्टेडियम में कराए गए. अपनी याचिका में यादव ने चुनावों के लिए मेहताब सिंह गिल को चुनाव अधिकारी नियुक्त किए जाने में ‘हितों के स्पष्ट टकराव’ का हवाला दिया है. यादव ने रणइंदर के कार्यकाल को लेकर भी आपत्ति उठाई थी, लेकिन मंत्रालय ने पाया कि वह फिर से चुनाव लड़ सकते हैं.

    खेल संहिता के अनुसार, भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) सहित किसी भी एनएसएफ (राष्ट्रीय खेल महासंघ) का अध्यक्ष अधिकतम 12 साल तक अपने पद पर रह सकता है. इस आधार पर रणइंदर सिंह की उम्मीद्वारी वैध है, क्योंकि वह 2022 के आखिर में 12 साल पूरा करेंगे. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के पुत्र रणइंदर ने इससे पहले 2010 और 2017 के चुनावों में भी अध्यक्ष पद के चुनाव में यादव को हराया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज