• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Role Model: कमाई का 10% चर्च को दान करते हैं नेमार, 19 वर्ष में बने पिता

Role Model: कमाई का 10% चर्च को दान करते हैं नेमार, 19 वर्ष में बने पिता

नेमार ने इंस्टाग्राम पर यह फोटो पोस्ट कर लोगों से फिट रहने की अपील की है.

नेमार ने इंस्टाग्राम पर यह फोटो पोस्ट कर लोगों से फिट रहने की अपील की है.

स्टार फुटबॉलर नेमार (Neymar) कोरोना वायरस के समय दो बार चर्चा में आए. पहली बार उन पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने का आरोप लगा. दूसरी बार उन्होंने 10 लाख डॉलर दान कर सुर्खियां बटोरीं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. नेमार जूनियर (Neymar Jr.). मौजूदा समय में फुटबॉल जगत में सिर्फ यही एक नाम है, जो क्रिस्टियानो रोनाल्डो और लियोनेल मेसी की बराबरी पर खड़ा किया जाता है. ब्राजील (Brazil) का यह खिलाड़ी खेल से लेकर एंडोर्समेंट तक हर जगह दिग्गजों को टक्कर देता है. करीब-करीब हर क्लब रिकॉर्ड कीमत देकर भी नेमार को अपनी टीम में शामिल करना चाहता है. लेकिन जो खिलाड़ी अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा दान कर देता हो, उसके लिए कीमत ज्यादा मायने नहीं रखती. यही वजह है कि 28 साल के नेमार बार्सिलोना, रियल मैड्रिड, युवेंटस की तमाम कोशिशों के बावजूद फ्रांस के पेरिस सेंट जर्मेन (Paris Saint Germain) की टीम में बने हुए हैं.

    कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते जब खेलों की दुनिया पर ब्रेक लगा हुआ है, तब नेमार (Neymar) दो बार अलग-अलग कारणों से चर्चा में आए. पहली बार उन पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने का आरोप लगा. इसके बाद नेमार एक बार फिर चर्चा में आए, जब उन्होंने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 10 लाख डॉलर (करीब 7.6 करोड़ रुपए) दान किए. नेमार आज दुनिया के सबसे अमीर फुटबॉलरों में शुमार हैं. वे पैसों कीमत जानते हैं. यही कारण है कि यह खिलाड़ी मदद करने का शायद ही कोई मौका गंवाता हो.

    विरासत में मिला खेल
    नेमार डा सिल्वा सैंटोस का जन्म 1992 में ब्राजील के मोगी दास क्रुज़ेस में हुआ. उनके पिता नेमार सैंटोस भी फुटबॉलर रहे हैं. इस तरह उन्हें यह खेल विरासत में मिला. नेमार (Neymar Junior) इसी कारण अपने नाम में जूनियर शब्द लगाते हैं. नेमार ने फुटसॉल भी खूब खेली है. इससे उन्हें ड्रिबलिंग और बॉल को कंट्रोल करने में मदद मिली. नेमार ब्राजील के एकमात्र फुटबॉलर हैं, जिन्हें टाइम मैगजीन के कवर पर जगह मिली है.

    11 साल की उम्र में सैंटोस से जुड़े
    नेमार का परिवार 2003 में साओ विसेंटे में रहने लगा. उन्होंने पुर्तगीज सांतिस्ता की युवा टीम की तरफ से खेलना शुरू किया. वे इसी साल ब्राजील के प्रमुख फुटबॉल क्लब सैंटोस से जुड़ गए. वे इस क्लब के लिए चार साल तक खेले. इसके बाद बार्सिलोना (Barcelona) से करार किया. इस स्पेनिश क्लब में उनकी लियोनेल मेसी और सुआरेज के साथ तिकड़ी बेहद प्रभावी रही. बार्सिलोना ने इन तीनों के दम पर खूब मैच जीते. साल 2017 में नेमार सबसे बड़ी डील के तहत फ्रेंच क्लब पीएसजी (PSG) से जुड़ गए. वे अभी इसी क्लब से खेलते हैं.

    रियल मैड्रिड में आते-आते रह गए नेमार
    जब नेमार 14 साल के थे, तब रियल मैड्रिड ने उन्हें क्लब में शामिल होने का ऑफर दिया. नेमार ने स्पेन के लिए उड़ान भरी. उन्होंने सभी ट्रायल और टेस्ट भी पास कर लिए. वे रियल मैड्रिड से करार करते, इससे पहले ही उनके ब्राजीलियन क्लब सैंटोस ने उनकी अनुबंध राशि दोगुनी कर दी. नडाल यह ऑफर नहीं ठुकरा सके और रियल भी इससे बड़ी राशि देने को तैयार नहीं हुआ.

    19 साल की उम्र में बने पिता
    नेमार जब महज 19 साल के थे तब वे पिता बने. नेमार ने हालांकि, तब बेटे या उसकी मां का खुलासा नहीं किया. उन्होंने यह जरूर कहा, ‘मैं मैंने पिता बनने की बात सुनी तो खूब रोया. पहले मुझे डर लगा.  फिर खुशी हुई। यह नई जिम्मेदारी है और मैं अब इसका आनंद ले रहा हूं.’ नेमार के बेटे का नाम डेवी लुक्का है, जिसकी मां उनकी गर्लफ्रेंड कैरोलिना डेंटस है. नेमार ने अपनी बांह पर बहन राफाएला बेकरन के चेहरे का टैटू बनवाया है. बहन बेकरन ने भी अपने भाई की आँखों को अपनी बांह पर गुदवाया है.

    2010 में टीम में जगह नहीं, 2011 के बेस्ट प्लेयर
    नेमार को 2008 से दुनिया के बेहतरीन खिलाड़ियों में गिना जाने लगा था. लेकिन 2010 के वर्ल्ड कप में कोच डुंगा ने उन्हें नेशनल टीम में शामिल नहीं किया. कई पूर्व खिलाड़ियों ने नेमार के पक्ष में बयान दिए. ऑनलाइन पिटिशन भी दायर हुई. लेकिन कोच डुंगा ने अपना फैसला नहीं बदला. ब्राजील की टीम वर्ल्ड कप नहीं जीत सकी. इसके बाद इसी साल नेमार की नेशनल टीम में एंट्री हो गई. साल 2011 और 2012 में नेमार ने दक्षिण अमेरिकी फुटबॉलर ऑफ द ईयर अवार्ड जीता.

    कमाई का बड़ा हिस्सा दान करते हैं
    नेमार ईसाई हैं. वे कहते हैं कि आप जीवन में तभी कुछ बड़ा काम कर पाते हो, जब जीसस क्राइस्ट आपकी मदद करते हैं. जब 2016 में ब्राजील ने ओलिंपिक का गोल्ड मेडल जीता तो इस फुटबॉलर ने माथे पर 100% जीसस का बैंड पहना हुआ था. नेमार अपनी कमाई का 10% चर्च को दान करते हैं. वे हर साल एक चैरिटी मैच भी कराते हैं, जिसकी कमाई गरीबों के खाने पर खर्च की जाती है.

    खुद को बताया सबसे महान खिलाड़ी
    नेमार ने एक बार कहा था कि इस धरती के सबसे महान फुटबॉलर वे हैं, ना कि रोनाल्डो या मेसी. हालांकि, उन्होंने यह बात मजाक में कही थी. उन्होंने ऐसा कहते हुए कहा था कि रोनाल्डो और मेसी तो इस ग्रह के हैं ही नहीं. नेमार वैसे अपना फेवरे खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो, वेन रूनी, आंद्रेस इनिएस्ता, ज़ावी को बताते हैं.

    यह भी पढ़ें: 

    वकार यूनुस की गुहार, मदद करें क्योंकि पाकिस्तान कर्ज में डूबा है

    अखबार में नाम छापने के लिए सचिन के खाते में जोड़े एक्स्ट्रा रन, पूरा किस्सा...

    16 साल-40 भिड़ंत, फिर भी ऐसे खुश हुए फेडरर-नडाल जैसे पहली बार मिले हों, VIDEO

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज