• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • OTHERS SAGAR DHANKHAR MURDER CASE AFTER ARREST OLYMPIAN SUSHIL KUMAR FIRST VIDEO SURFACES IN WHICH HE IS HIDING HIS FACE

सुशील कुमार मुंह छिपाकर हुए पुलिस के सामने पेश, दो बार ओलिंपिक में लहराया था भारत का परचम

रेसलर सागर धनखड़ की हत्या के मामले में आरोपी ओलिंपियन सुशील कुमार को 18 दिन बाद दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया. (ANI Twitter)

पहलवान सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) को जूनियर नेशनल चैम्पियन सागर धनखड़ की हत्या (Sagar Dhankhar Murder Case) के आरोप में दिल्ली पुलिस ने मुंदका इलाके से गिरफ्तार किया. इसके बाद सुशील का दिल्ली के साकेत पुलिस स्टेशन से एक वीडियो सामने आया है. इसमें वो मुंह छिपाते नजर आए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय खेल के इतिहास में सुशील कुमार (Wrestler Sushil Kumar) का नाम बड़े सम्मान से लिया जाता रहा है. उन्होंने लगातार दो ओलिंपिक में देश के लिए मेडल जीते हैं. पहली बार 2008 के बीजिंग ओलिंपिक में इस पहलवान ने कांस्य पदक जीतकर भारत का पहचम लहराया था, तो वहीं 4 साल बाद लंदन में रजत पदक जीता था. वो वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भी गोल्ड मेडल जीत चुके हैं. इन्हीं कामयाबियों के बाद इस रेसलर को खेल रत्न, पद्मश्री जैसे सम्मान मिले. लेकिन आज वो सलाखों के पीछे हैं.

    उन पर जूनियर नेशनल चैम्पियन रेसलर सागर धनखड़ की हत्या का आरोप है. वो चार मई को हुए इस हत्याकांड के बाद से ही फरार चल रहे थे और कई राज्यों में फरारी काटने के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढ़ गए.

    दिल्ली के साकेत पुलिस स्टेशन से उनका एक वीडियो सामने आया है. इसमें देश का सबसे बड़ा खेल सम्मान पाने वाले रेसलर मुंह छिपाते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो को देखकर शायद हर खेल प्रेमी मायूस होगा. क्योंकि सुशील सिर्फ एक खिलाड़ी नहीं, बल्कि देश की साख और सम्मान का प्रतीक हैं. ऐसे में इस खिलाड़ी का संगीनों के साए में जनता के सामने आना. शायद ही किसी को पसंद आए. लेकिन आज यही हकीकत है. वो पुलिस की गिरफ्त में हैं. उन्हें पेशेवर अपराधियों की तरह पेश किया गया. हालांकि, इस दौरान वो कपड़े से अपना चेहरा ढंके नजर आए.



    दिल्ली पुलिस ने सुशील को गिरफ्तार किया
    इससे पहले, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस रेसलर को दिल्ली के मुंदका इलाके से गिरफ्तार किया. सुशील के साथ ही उनके साथी अजय को भी पुलिस ने दबोचा है. ये दोनों ही 4 मई की देर रात छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में हुई घटना के बाद से ही फरार चल रहे थे. इस दौरान सुशील ने कई राज्यों में फरारी काटी. पुलिस ने सुशील के खिलाफ न सिर्फ लुकआउट नोटिस जारी किया था. बल्कि उन पर एक लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया था. अब उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा. सुशील पर हत्या, अपहरण, आपराधिक साजिश रचने के तहत केस दर्ज हुआ है.

    पुलिस को इस मामले में सुशील कुमार के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं. पुलिस को छत्रसाल स्टेडियम का एक सीसीटीवी फुटेज मिला है. पुलिस का दावा है कि इसमें सुशील हॉकी स्टिक से सागर धनखड़ और उसके साथियों को पीटते दिखे हैं.

    सुशील कई मौकों पर विवादों में घिरे
    सुशील कुमार बीते कुछ सालों से लगातार विवादों में रहे हैं. पहली बार 2017 में वो विवाद में आए. तब प्रवीण राणा से मुकाबले के बाद उनके और प्रवीण के समर्थकों के बीच मारपीट हो गई थी. लेकिन तब मामले को रफा-दफा कर दिया गया था. 2016 के रियो ओलिंपिक से पहले पहलवान नरसिंह यादव ने उन पर डोपिंग में फंसवाने का आरोप लगाया था. तब सुशील ओलिंपिक क्वालिफायर नहीं खेले थे और नरसिंह ने भारत को कोटा दिलाया था और अब वो ऐसे विवाद में उलझे हैं कि सीधे सलाखों के पीछे पहुंच गए हैं.
    Published by:Saurabh Mishra
    First published: