सायना ने पीवी सिंधु को बताया अपना तगड़ा प्रतिद्वंदी, ये है बड़ी वजह

सायना ने पीवी सिंधु को बताया अपना तगड़ा प्रतिद्वंदी, ये है बड़ी वजह
सायना नेहवाल-पीवी सिंधु

सायना ने राष्ट्रमंडल खेलों में टीम स्पर्धा और एकल में स्वर्ण जीतने के बाद एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया था.

  • Share this:
ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने कहा कि पीवी सिंधु को वह किसी अन्य प्रतिद्वंदी की तरह लेती हैं.

सायना ने कहा कि सिंधु के खिलाफ उनका रिकॉर्ड बेहतर क्यों है, यह जानने की उन्होंने कभी कोशिश नहीं की. विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर काबिज सिंधु के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय मैचों में साइना की जीत का रिकार्ड 3-1 का हैं. हाल ही में राष्ट्रमंडल खेलों के फाइनल में भी सायना ने सिंधु को हराया था.

सायना ने कहा, ‘यह मेरे और सिंधू या किसी अन्य प्रतिद्वंदी के बारे में नहीं हैं. मैं उसे (सिंधु) किसी अन्य प्रतिद्वंदी की तरह लेती हूं. कुछ खिलाड़ियों के खिलाफ मुझे परेशानी होती है लेकिन कुछ के खिलाफ मैं ज्यादा सहज रहती हूं. शायद ऐसे खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना मुझे अधिक रास आता है. मुझे नहीं पता की ये कैसे हो रहा है लेकिन कोर्ट में ऐसा हो रहा है.’



राष्ट्रमंडल खेलों में पदक विजेताओं के लिये भारतीय बैडमिंटन संघ द्वारा आयोजित समारोह में सायना ने कहा, ‘मैं कमजोर पक्षों पर काम कर रहीं हूं. मैं ऐसा सोचना चाहती हूं कि मेरा खेल प्रतिद्वंदी खिलाड़ी से बेहतर है, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है. सिंधु या दुनिया की कोई दूसरी खिलाड़ी काफी दमदार है. उनके खिलाफ मैचों में मैंने जो गलतियां की हैं उसे लेकर मुझे सावधान और चौकन्ना रहना होता है.’
सायना ने हाल के दिनों में शानदार प्रदर्शन किया है. राष्ट्रमंडल खेलों में टीम स्पर्धा और एकल में स्वर्ण जीतने के बाद उन्होंने एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया था.

सायना से जब पूछा गया कि क्या प्रशंसक फिर से पुरानी साइना को देख रहे हैं तो उन्होंने कहा, ‘मैं अच्छा खेल रहीं हूं, पुरानी के बारे में नहीं पता. लेकिन मैं पदक जीत रहीं हूं.’

आगामी एशियाई खेलों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत को पहले के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए क्योंकि सभी शीर्ष खिलाड़ी शानदार फार्म में हैं.

उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रमंडल खेलों की तुलना में एशियाई खेल कठिन होगा, यह लगभग ओलंपिक के स्तर का है. यह मुश्किल होगा लेकिन हम सभी इस समय बहुत अच्छा खेल रहे हैं और हमारा आत्मविश्वास वास्तव में बढ़ा हुआ है. यह ड्रॉ पर निर्भर करता है लेकिन मुझे लगता है कि इस बार बेहतर प्रदर्शन होगा.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज