• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • OTHERS SHERPA KAMI RITA SCALED MOUNT EVEREST FOR THE RECORD 25TH TIME

नेपाली शेरपा ने रिकॉर्ड 25वीं बार की माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई, 6 साल पहले दी थी मौत को मात

कामी रीता शेरपा ने पहली बार मई 1994 में माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी. 1994 से 2021 के बीच वो 25 बार माउंट एवरेस्ट पर पहुंचे हैं. (IANS Twitter)

नेपाल के 52 साल के पर्वतारोही कामी रीता शेरपा (Kami Rita Sherpa) ने 25वीं बार दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर चढ़ने में कामयाबी हासिल की. उन्होंने माउंट एवरेस्ट पर सबसे अधिक 24 बार बार चढ़ने के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

  • Share this:
    काठमांडू. नेपाल के 52 साल के पर्वतारोही कामी रीता शेरपा (Kami Rita Sherpa) ने 25वीं बार दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) पर चढ़ने में कामयाबी हासिल की. उन्होंने माउंट एवरेस्ट पर सबसे अधिक 24 बार बार चढ़ने के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ दिया. पर्वतारोहण के इस अभियान का आयोजन करने वाले ‘सेवन समिट ट्रेक्स’ के अध्यक्ष मिंगमा शेरपा ने कहा कि रीता ने 11 अन्य शेरपाओं का नेतृत्व करते हुए इस अभियान की शुरुआत की. इस दल ने शुक्रवार शाम को सफलतापूर्वक माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई पूरी की.

    कामी ने मई 1994 को पहली बार माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई की थी. 1994 से 2021 के बीच वह 25 बार माउंट एवरेस्ट पर पहुंचे. उन्होंने के-2 और माउंट ल्होत्से पर एक-एक बार, माउंट मनासलु पर तीन बार और माउंट चो ओयु पर आठ बार चढ़ाई की है. 2019 में उन्होंने एक महीने में ही दो बार माउंट एवरेस्ट पर पहुंचने की कामयाबी हासिल की थी.

    2015 में रीता कामी मरने से बाल-बाल बचे थे
    रीता कामी के लिए ये सफर आसान नहीं रहा है. 2015 में जब वो एवरेस्ट के बेस कैंप पर मौजूद थे. उसी समय में हिमस्खलन में 19 लोगों की मौत हो गई थी. इस हादसे के बाद परिवार ने उन पर पर्वतारोहण छोड़ने का दबाव बनाया था. लेकिन वो नहीं मानें और आज भी अपने इस जुनून को पूरा कर रहे हैं.

    नेपाल ने 400 से ज्यादा पर्वतारोहियों को चढ़ाई की मंजूरी दी
    इस साल माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई करने वाला ये पहला दल है. अपनी चढ़ाई के दौरान इस दल ने बर्फीले मार्ग पर मौजूद रस्सियों को भी ठीक किया. ताकि आगे आने वाले महीनों में दूसरे पर्वतारोहियों को चढ़ाई में मदद मिले. पिछले साल कोरोना वायरस के कारण नेपाल के दक्षिणी और चीन के उत्तरी हिस्सों वाले माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई रोक दी गई थी. इस साल कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बावजूद नेपाल ने 408 विदेशी पर्वतारोहियों को माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई की मंजूरी दी थी.

    उधर, चीन ने कुछ चुनिंदा पर्वतारोहियों के लिए अपने उत्तरी छोर को खोला है. लेकिन कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही इन्हें चढ़ाई की अनुमति होगी.