लाइव टीवी

Olympic Test Event: बिना रिंग में उतरे 6 मुक्केबाजों के पदक पक्के, शिव थापा भी सेमीफाइनल में

भाषा
Updated: October 29, 2019, 5:17 PM IST
Olympic Test Event: बिना रिंग में उतरे 6 मुक्केबाजों के पदक पक्के, शिव थापा भी सेमीफाइनल में
शिव थापा का इस साल यह तीसरा अंतरराष्ट्रीय मेडल होगा

ओलिंपिक टेस्ट इवेंट (Olympic Test Event) के सेमीफाइनल में पहुंचने वाले सभी भारतीय बॉक्सर (Indian Boxers) ने देश के लिए मेडल पक्का किया है

  • Share this:
टोक्यो. भारत के स्टार मुक्केबाज और चार बार के एशियन चैंपियन शिव थापा (Shiv Thapa) (63 किग्रा) ने मंगलवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबले में जीत दर्ज करके ओलिंपिक टेस्ट इवेंट (Boxing Olympic Test Event) में अपना मेडल पक्का किया जबकि छह अन्य भारतीयों ने रिंग में उतरे बिना ही सेमीफाइनल में जगह बनायी.

थापा (Shiv Thapa) ने स्थानीय मुक्केबाज युकी हिराकावा (Yuqi Hiraqava) को 5-0 से हराया. असम के इस मुक्केबाज ने इस महीने के शुरू में अपना तीसरा राष्ट्रीय खिताब जीता था. सेमीफाइनल में बुधवार को उनका सामना जापान (Japan) के ही देसुके नारिमात्सु से होगा. नारिमात्सु को पहले दौर में बाई मिली थी.

 बिना रिंग में उतरे सेमीफाइनल में पहुंचे छह बॉक्सर

shiv thapa, boxing, olympic event test, olympic 2020, yokyo 2020
शिव थापा ने क्वार्टरफाइनल मुकाबले मेे जीत दर्ज करके सेमीफाइनल में प्रवेश किया है



निकहत जरीन (Nikhat Zareen) (51 किग्रा) सहित छह भारतीयों का रिंग में उतरे बिना ही पदक पक्का हो गया. इन सभी को बाई मिली. जरीन के अलावा सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) (91 किग्रा), आशीष (Aashish) (69 किग्रा), वनालिम्पुइया (75 किग्रा), सिमरनजीत कौर (60 किग्रा) और पूजा रानी (75 किग्रा) ने सेमीफाइनल में जगह बनायी.

एशियाई खेलों की पूर्व कांस्य पदक विजेता पूजा रानी का सामना ब्राजील की बीटरिज सोरेस से होगा. रानी ने इस साल के शुरू में एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीता था. भारत का केवल एक मुक्केबाज अनंत चोपड़े ही क्वार्टर फाइनल से आगे नहीं बढ़ पाया. वह स्थानीय मुक्केबाज तोशो काशिवसाकी से 2-3 से हार गये.  इस महीने के शुरू में राष्ट्रीय खिताब जीतने वाले सांगवान का सामना कजाखस्तान के एबेक ओरलबे से होगा जबकि जरीन जापान की साना कवानो से भिड़ेगी.
Loading...

मैरीकॉम को चैलेंज करने वाली निकहत भी सेमीफाइनल में

nikhat zareen, marykom, world championship boxing
निखत जरीन मैरीकॉम की 51 किग्रा वर्ग में ही लड़ती हैं


जरीन हाल में एम सी मेरीकोम से ट्रायल मुकाबला करवाने को लेकर चर्चा में रही थी. बाई ने  मैरीकॉम को वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद ओलिंपिक क्वालिफायर में सीधा प्रवेश देने का फैसला किया था.
निकहत ने इस फैसले का विरोध किया था. उन्होंने खेल मंत्री किरण रीजीजू को पत्र लिखकर निष्पक्ष ट्रायल कराने की मांग की थी. उनका कहना था कि बाई ने अपने नियमों में बदलाव करते हुए मैरीकॉम को सीधा प्रवेश दिया है. खेल मंत्री ने इस मामले पर केवल इतना कहा था कि साई खिलाड़ियों के सेलेक्शन से जुड़े मुद्दे पर सीधे तौर पर कुछ नहीं कह सकता है लेकिन वह अपील करेंगे कि देश के हित में फैसला हो.

जिस गेंद ने ली थी फिल ह्यूज की जान, शोएब अख्तर ने दी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के खिलाफ वैसी ही गेंद फेंकने की सलाह

सेना के इस जांबाज जवान ने देश के लिए खो दिया था एक पैर, अब जीता ऐतिहासिक गोल्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 4:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...