लाइव टीवी

ओलिंपिक से पहले भारत को बड़ा झटका, बॉक्सर सुमित सांगवान समेत दो एथलीट डोप टेस्ट में फेल

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 11:58 AM IST
ओलिंपिक से पहले भारत को बड़ा झटका, बॉक्सर सुमित सांगवान समेत दो एथलीट डोप टेस्ट में फेल
सुमित सांगवान रवि कुमार डोपिंग टेस्ट में फेल

बॉक्सर सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं वहीं शूटर रवि कुमार (Ravi Kumar) एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुके हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 11:58 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ओलिंपिक (Olympic) से सात महीने पहले दो मुख्य भारतीय खिलाड़ी डोप टेस्ट में फेल हो गए जिसके बाद उनके खेलने पर भी बैन लग गया है. नाडा (National Anti-Doping Agency)  ने मंगलवार को बताया कि भारतीय बॉक्सर सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) और शूटर रवि कुमार (Ravi Kumar) के सैंपल डोपिंग में पॉजिटिव पाए गए हैं. ओलिंपिक खेलों से पहले नाडा (NADA) लगातार खिलाड़ियों पर नजर रखे हुए है समय-समय पर डोप टेस्ट के लिए सैंपल ले रही है.

ओलिंपियन सुमित सांगवान पर लगा बैन
ओलिंपियन सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) के सैंपल में एसिटाजोलामाइड (Acetazolamide) पाया गया जो वाडा (WADA) ने बैन किया हुआ है. 26 साल के इस युवा बॉक्सर ने 2017 एशियन चैंपियनशिप (Asian Championship) में सिल्वर मेडल जीता था. जांच का परिणाम आने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है. वह अब भारतीय दल का हिस्सा नहीं हैं.

sumit sangwan,, sports, doping
सुमित सांगवान लंदन ओलिंपिक 2012 में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं


शूटर रवि कुमार भी नेशनल टीम से हुए बाहर
एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स में देश को शूटिंग में ब्रॉन्ज दिलाने वाले शूटर रवि कुमार (Ravi Kumar) को भी डोपिंग के चलते बैन किया गया है. 29 साल के इस राइफल शूटर के सैंपल में बेटा-ब्लॉकर (Beta-blocker) पाया गया है जो प्रतिबंधित है. बेटा-ब्लॉकर (Beta-blocker) ब्लड प्रेशर कम करता है जिससे शूटिंग के दौरान ध्यान लगाने में मदद मिलती है. आपको बता दें कि इस साल म्यूनिख (Munich) में हुए आईएसएसएफ वर्ल्ड कप (ISSF World Cup) के बाद से रवि नेशनल टीम का हिस्सा नहीं हैं. जून में दिल्ली के कर्णी सेना रेंज पर हुए ट्रायल में उनका यूरिन सैंपल लिया गया था जिसमें वो पॉजिटिव पाया गया. रवि कुमार के केस की सुनवाई के दौरान उन्होंने सफाई देते हुए कहा, 'मैंने जान बूझकर ऐसा नहीं किया. मैंने माइग्रेन की दवाई ली थी जिसके कारण ऐसा हुआ.'

रवि कुमार (Ravi Kumar) ने देश के लिए वर्ल्ड कप (ISSF World Cup 2019) और एशियन चैंपियनशिप (Asian Championship) में मेडल जीते हैं. वह अगले साल टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) के लिए कोटा हासिल करने में नाकाम रहे थे. राइफल शूटिंग में दिव्यांश पवार (Divyansh Panwar) और दीपक कुमार (Deepak Kumar) दो कोटा हासिल कर चुके हैं जो कि राइफल शूटिंग में एक देश को मिलने वाले कोटा की अधिकतम सीमा है.
ravi kumar, doping,shooting, sports
रवि कुमार भारत के अनुभवी राइफल शूटर है


खेल मंत्री ने कहा- जागरूकता की कमी के कारण हो रही है डोपिंग
नाडा (NADA) ने बताया कि इस साल डोपिंग में 150 से भी ज्यादा खिलाड़ी फेल हुए है. इस मुद्दे पर किरण रीजिजू (Kiren Rijiju) ने मंगलवार को कहा कि यह सब गलत है. उन्होंने कहा, 'मैं यह नहीं कह रहा कि डोपिंग में फंसे सभी एथलीटों ने गलती से ड्रग लिए हैं लेकिन ऐसे कई खिलाड़ी है जिन्होंने जानकारी की कमी के कारण ऐसे पदार्थ का सेवन किया. इसलिए जरूरी है कि खिलाड़ियों के बीच इसे लेकर जागरूकता बढ़ाई जाए. हमें कैंपेन लगाने होंगे ताकि उन खिलाड़ियों को जागरूक किया जा सके जो गलती से ऐसा करते हैं.' आपको बता दें कि पिछले साल के मुकाबले इस साल डोपिंग के मामले लगभग दोगुने हो गए हैं. नाडा के मुताबिक इस साल 19 खेलों के 156 खिलाड़ी डोपिंग में फेल हुए हैं जिसमें एथलेटिक्स, शूटिंग, बॉक्सिंग और वेटलिफ्टिंग के ओलिंपियन खिलाड़ी भी मौजूद हैं.

यह भी पढ़ें :

Video: रन लेने के दौरान आधी पिच पर बैठा बल्लेबाज, बॉलर ने फिर भी नहीं किया आउट
IndVsWI: 9 माह पहले खेला पिछला मैच, ये खिलाड़ी हो सकता है प्लेइंग-XI का हिस्सा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 11:29 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर