लाइव टीवी

तेजस्विनी सावंत ने भारत को 12वां ओलिंपिक कोटा दिलाया, पदक से चूकीं

भाषा
Updated: November 10, 2019, 3:36 PM IST
तेजस्विनी सावंत ने भारत को 12वां ओलिंपिक कोटा दिलाया, पदक से चूकीं
निशानेबाज तेजस्विनी सावंत.

पूर्व विश्व चैम्पियन तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant) ने 50 मीटर राइफल थ्री पॉजीशन के फाइनल में पहुंचकर अगले साल के ओलिंपिक खेलों का कोटा हासिल किया.

  • Share this:
दोहा: अनुभवी निशानेबाज तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant) ने भारत को निशानेबाजी में 12वां ओलिंपिक कोटा (Olympic Quota) दिलाया लेकिन वह शनिवार को यहां 14वीं एशियाई चैम्पियनशिप की महिला 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में पदक हासिल करने से चूक गईं. पूर्व विश्व चैम्पियन तेजस्विनी ने 50 मीटर राइफल थ्री पॉजीशन के फाइनल में पहुंचकर अगले साल के ओलिंपिक खेलों का कोटा हासिल किया. आठ फाइनलिस्ट में से पांच पहले ही तोक्यो का टिकट कटवा चुकी थीं जिससे भारत ने तीन उपलब्ध कोटों में से एक अपने नाम किया.

फाइनल में चौथे नंबर पर रहीं तेजस्विनी 
तेजस्विनी (39 वर्षीय) क्वालीफिकेशन में 1171 अंक के स्कोर से पांचवें स्थान पर रहकर फाइनल में पहुंची. फाइनल में हालांकि उन्होंने पूरी कोशिश की लेकिन उन्हें 435.8 अंक के स्कोर से चौथे स्थान से संतुष्ट होना पड़ा. दूसरी सीरीज में वह तीसरे स्थान पर चल रही थी लेकिन 8.8 के निशाने से वह पिछड़ गईं. अगर उन्हें अगले साल टोक्‍यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) की टीम में चुना जाता है तो वह अपने पहले ओलिंपिक में भाग लेंगी क्योंकि वह इससे पहले 2008, 2012 और 2016 में टीम में जगह बनाने से चूक चुकी हैं.

tejaswini sawant olympic quota, tejaswini sawant shooting, tokyo olympic 2020, india olympic quota, तेजस्विनी सावंत निशानेबाजी, तेजस्विनी सावंत टोक्‍यो ओलिंपिक 2020
तेजस्विनी सांवत ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में टोक्‍यो ओलिंपिक 2020 में जगह बनाईं.


2010 में चैंपियन थीं तेजस्विनी 
तेजस्विनी 50 मीटर राइफल प्रोन में भी भाग लेती हैं, उन्होंने कई पदक जीते हैं जिसमें विश्व चैम्पियनशिप, विश्व कप और राष्ट्रमंडल खेलों में पदक शामिल हैं. वह 2010 में म्यूनिख में 50 मीटर राइफल प्रोन स्पर्धा में विश्व रिकॉर्ड स्कोर की बराबरी के साथ विश्व चैम्पियन बनी थी. वह विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली महिला निशानेबाज थी.

चीन की मेंगयाओ शि ने 457.9 अंक के साथ स्वर्ण पदक जबकि मंगोलिया की येसुगेन ओयुनबात (457.0) ने रजत पदक हासिल किया. कांस्य पदक जापान की शिरोरी हिराता (445.9) ने जीता. अन्य भारतीयों में काजल सैनी और गायत्री नित्यानंदम क्रमश: 13वें और 16वें स्थान पर रहीं. एमक्यूएस वर्ग में सुनिधि चौहान ने 1164 अंक जुटाए.
Loading...

भारत को मिली 2023 पुरुष हॉकी वर्ल्‍ड कप की मेजबानी

शूटिंग चैम्पियन चिंकी यादव ने हासिल किया टोक्यो ओलंपिक का टिकट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 9:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...