भारत को लगा बड़ा झटका, बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से हटा शूटिंग

भारत को लगा बड़ा झटका, बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से हटा शूटिंग
1966 से हर कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है. गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने निशानेबाजी में सात गोल्ड सहित कुल 16 मेडल जीते थे.

1966 से हर कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है. गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने निशानेबाजी में सात गोल्ड सहित कुल 16 मेडल जीते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 21, 2019, 11:05 AM IST
  • Share this:
जहां बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से भारत के लिए कुछ समय पहले अच्छी खबर आई तो अब एक बुरी खबर भी आ रही है. 2022 में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को बड़ा झटका लगा है. 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स से शूटिंग को हटा दिया गया है, जिससे भारत के पदको को करारा झटका लगा है. पिछली साल गोल्ड कोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने निशानेबाजी में सात गोल्ड सहित कुल 16 मेडल जीते थे.

कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन हुई बैठक में जहां महिला क्रिकेट, बीच वॉलीबॉल बौर पैरा टेबल टेनिस को 2022 गेम्स के लिए मंजूरी दी गई है. इस गेम्स को तभी शामिल किया जाएगा, जब फेडरेशन के 51 प्रतिशत सदस्यों की मंजूरी मिलेगी.

1966 से अच्छा प्रदर्शन कर रहा है भारत 



हालांकि बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से निशानेबाजी को हटाए जाने पर चर्चा पिछले कुछ समय से चल रही थी. पिछले साल भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ के अध्यक्ष रनिंदर सिंह ने कहा भी था कि अगर 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स से निशानेबाजी को हटाया जाता है तो भारत को इस खेलों का ​बहिष्कार करना चाहिए. 1966 से हर कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत बेहतरीन प्रदर्शन कर रहा है.
पढ़े : कॉमनवेल्थ गेम्स में भी अपनी धाक जमाने को तैयार क्रिकेट!

वहीं इस बैठक में महिला क्रिकेट को भी मंजूरी मिली है. अगर सब कुछ सही रहा तो क्रिकेट की यह प्रतियोगिता एजबेस्टन में आठ टीमों के साथ खेली जाएगी.अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सीजीएफ सदस्यों का अभी इस पर मंजूरी दी जानी बाकी है. आईसीसी ने कहा कि महिला क्रिकेट को कॉमनवेल्थ गेम्स कार्यक्रम का हिस्सा बनाने के लिए आईसीसी और ईसीबी ने काफी मेहनत की है.

कॉमनवेल्थ गेम्स में अभी तक सिर्फ एक बार ही क्रिकेट को शामिल किया गया था. 1998 में मलेशिया में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में क्रिकेट शामिल था, जिसमें साउथ अफ्रीका की टीम शीर्ष पर रही थी. जबकि ऑस्ट्रेलिया ने सिल्वर और न्यूजीलैंड में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था.आईसीसी के मुख्य कार्यकारी मनु साहनी ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा​ कि वह सीजीएफ और बर्मिंघम 2022 में सभी का धन्यवाद करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज