भारत ने ओलंपिक का एक कोटा गंवाया, रेसलिंग फेडरेशन पर 16 साल का जुर्माना भी लगा

सुमित मलिक ने ओलंपिक क्वालिफायर्स में कोटा हासिल किया था. (सुमित मलिक इंस्टाग्राम)

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo olympic) के मुकाबले 23 जुलाई से शुरू होने हैं. इससे पहले भारत को बड़ा झटका लगा है. डोपिंग में फंसे पहलवान सुमित मलिक का ओलंपिक कोटा भी छिन गया है. अब 7 पहलवान ही गेम्स में उतर सकेंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक शुरू होने के पहले ही भारत को तगड़ा झटका लगा है. भारतीय पहलवान सुमित मलिक डोपिंग में फंसने के कारण बाहर हो गए हैं. पिछले महीने बुल्गारिया में आयोजित ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट में वे उतरे थे, इस दौरान उनका टेस्ट हुआ था. इतना ही नहीं वर्ल्ड फेडरेशन ने रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर 16 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है. पिछले ओलंपिक के दौरान भी ऐसा विवाद सामने आया था. नरसिंह यादव डोप में फेल हुए थे. हालांकि उन्होंने इसके लिए सुशील कुमार को जिम्मेदार कहा था.

    फेडरेशन के सचिव वीएन प्रसूद ने कहा कि सुमित मलिक को सस्पेंड कर दिया गया और उनका ओलंपिक कोटा छिन गया है. अब इस मामले में सुमित को वर्ल्ड फेडरेशन के सामने अपना पक्ष रखना होगा. हालांकि वे कहते हैं कि सुमित चोटिल थे और उन्होंने कुछ दवाई ली थी. इस कारण वे इस मामले में फंस गए. वर्ल्ड फेडरेशन 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक से पहले इस मामले की सुनवाई कर सकता है.

    ए औ बी सैंपल एक ही होते हैं, अंतर आना मुश्किल

    कई बार देखा गया है कि खिलाड़ी के ए और बी सैंपल के रिजल्ट अलग-अलग आए हैं. लेकिन यह कम लोगों का मालूम है कि दोनों सैंपल एक ही होते हैं. यदि खिलाड़ी का यूरिन या ब्लड जांच के लिए लिया जाता है तो उसे दो अलग-अगल जगह रखा जाता है, ताकि यदि कभी खिलाड़ी रिपोर्ट को लेकर सवाल उठाए तो दूसरे सैंपल की जांच की जा सके. लेकिन सुमित ने खुद दवाई लेने की बात कही है. ऐसे में दूसरे सैंपल में अंतर आना लगभग नामुमकिन है. सुमित 125 किग्रा वेट कैटेगरी में उतरते हैं.

    नेशनल कैंप के दौरान हुए थे चोटिल

    फेडरेशन के अनुसार 10 जून को सुमित के बी सैंप का परीक्षण किया जाएगा. मलिक घुटने की चोट से जूझ रहे हैं. उन्हें ये चोट ओलंपिक क्वालीफायर शुरू होने से पहले राष्ट्रीय शिविर के दौरान लगी थी. उन्होंने अप्रैल में अल्माटी में एशियाई क्वालीफायर में भाग लिया था, लेकिन कोटा हासिल करने में सफल नहीं हुए.

    अब 7 पहलवान की जा सकेंगे टोक्यो

    सुमित का कोटा छीने जाने के बाद भारत के 7 पहलवान ही ओलंपिक में जा सकेंगे. पुरुष कैटेगरी में रवि कुमार दहिया, बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया को कोटा मिला है. महिला कैटेगरी की बात की जाए तो सीमा बिस्ला, विनेश फोगाट, अंशु मलिक और सोनम मलिक ओलिंपिक कोटा हासिल करने में सफल रही हैं.