सुमित मलिक ने कटाया टोक्यो ओलंपिक का टिकट, वर्ल्ड रेसलिंग क्वालिफाइंग में मिला रजत

सुमित मलिक ने वर्ल्ड रेसलिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में 125 किग्रा वर्ग के फाइनल में पहुंचने के साथ ही ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया. (Twitter- IndiaAllSports)

सुमित मलिक ने वर्ल्ड रेसलिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में 125 किग्रा वर्ग के फाइनल में पहुंचने के साथ ही ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया. (Twitter- IndiaAllSports)

सुमित मलिक (Sumit Malik) ने वर्ल्ड ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने के साथ ही ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया. टूर्नामेंट में पुरुषों की 125 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग के खिताबी मुकाबले में हालांकि उन्हें हार झेलनी पड़ी और रूस के सर्जेई कोजिरेव ने उन्हें मात दी. इस टूर्नामेंट में हर भारवर्ग के फाइनल में पहुंचने वाले पहलवान को टोक्यो ओलिंपिक का टिकट मिल जाएगा.

  • Share this:

सोफिया (बुल्गारिया). भारतीय पहलवान सुमित मलिक (Sumit Malik) ने टोक्यो ओलंपिक का टिकट हासिल कर लिया है. उन्होंने बुल्गारिया के सोफिया में जारी वर्ल्ड ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने के साथ ही ओलंपिक का कोटा हासिल कर लिया. सुमित ने वेनेजुएला के डेनियल डियाज को 5-0 से मात दी और पुरुषों की 125 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग के खिताबी मुकाबले में जगह बनाई. फाइनल में हालांकि उन्हें हार झेलनी पड़ी और रूस के सर्जेई कोजिरेव ने उन्हें मात दी. सुमित को रजत पदक से संतोष करना पड़ा.

28 साल के सुमित ने इस टूर्नामेंट के पहले राउंड में आईल लाजारेव को जबकि दूसरे राउंड में मोल्दोवा के अलेक्सजांद्र रोमानोव को शिकस्त दी. फिर क्वार्टर फाइनल में ताजिकिस्तान के रुस्तम इसकांदारी को 19-5 से हराया. सुमित चौथे भारतीय फ्रीस्टाइल पहलवान हैं जिन्होंने पुरुष वर्ग में ओलंपिक कोटा हासिल किया है. उनके अलावा रवि दहिया (57 किग्रा), बजरंग पूनिया (65 किग्रा) और दीपक पूनिया (86 किग्रा) ने 2019 ओलंपिक क्वालिफिकेशन के जरिये ओलिंपिक टिकट हासिल किया था.

इसे भी पढ़ें, पहलवान मर्डर केस में घायल पीड़ित का दावा-सुशील कुमार थे झगड़े में संलिप्त

इस टूर्नामेंट में हर भारवर्ग के फाइनल में पहुंचने वाले पहलवान को टोक्यो ओलिंपिक का टिकट मिल जाएगा और इसी तरह सुमित ने भी कोटा हासिल किया. इस बीच अमित  धनखड़ और सत्यव्रत कादियान प्रतियोगिता के अलग-अलग वर्गों में हारने के बाद टूर्नामेंट से बाहर हो गए.
धनखड़ 74 किग्रा क्वालिफिकेशन बाउट में मोल्दोवा के मिहेल सावा से 6-9 से हार गए. पहले पीरियड में 0-4 से पिछड़ने के बाद धनखड़ ने दूसरे पीरियड में वापसी की लेकिन वह मोल्दोवा के पहलवान को पटखनी नहीं दे सके. धनकड़ की हार से यह भी तय हो गया कि टोक्यो ओलंपिक खेलों के 74 किग्रा वर्ग में भारत को प्रतिनिधित्व नहीं मिलेगा.


ओलंपिक क्वालिफिकेशन के इस आखिरी टूर्नामेंट में कादियान (97 किग्रा) ने प्री-क्वार्टर फाइनल में प्यूटो रिको के इवान अमादौर रामोस को 5-2 से हराया. क्वार्टर फाइनल में कादियान बुल्गारिया के अहमद सुतानोविच के खिलाफ आखिरी 20 सेकेंड से पहले 5-1 की बढ़त के साथ बेहतर स्थिति में थे लेकिन स्थानीय पहलवान ने चार अंक हासिल कर चौंकाने वाले प्रदर्शन के साथ उनके टोक्यो ओलंपिक में जाने के सपने को तोड़ दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज