लाइव टीवी

लंदन ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले बॉक्सर सुमित सांगवान से डोपिंग प्रतिबंध हटा

भाषा
Updated: March 3, 2020, 9:10 AM IST
लंदन ओलिंपिक में हिस्सा लेने वाले बॉक्सर सुमित सांगवान से डोपिंग प्रतिबंध हटा
प्रतिबंध हटने के बाद सुमित सांगवान ने राहत की सांस ली. (फाइल फोटो)

सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) प्रतिबंध के चलते 2020 टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) क्वालीफायर ट्रायल में भी हिस्सा नहीं ले सके थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्व एशियाई रजत पदक विजेता मुक्केबाज सुमित सांगवान (Boxer Sumit Sangwan) ने राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (नाडा) की सुनवाई में यह साबित कर दिया कि उन्होंने अनजाने में प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया था जिसके बाद उन पर लगा एक साल का डोपिंग प्रतिबंध सोमवार को हटा दिया गया. भारतीय मुक्केबाजी संघ के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘सुमित को मामले में क्लीनचिट मिल गई है और उन पर लगा प्रतिबंध हटा दिया गया. उन्होंने नाडा पैनल को आश्वस्त किया कि उनके नमूने में जो प्रतिबंधित पदार्थ मिला था उन्होंने अनजाने में उसका सेवन किया था.’

सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) को दिसंबर 2019 में विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की प्रतिबंधित सूची में शामिल पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया था. प्रतिबंध हटने के बाद सांगवान ने कहा, ‘मैं राहत महसूस कर रहा हूं. मेरे कंधे से बड़ा बोझ हट गया. मुझे पता था कि मैं गलत नहीं था. मुझे खुशी है कि मैं यह साबित कर पाया. मैंने नाडा पैनल के समक्ष अपनी चिकित्सा रिपोर्ट जमा कर खुद को बेकसूर साबित किया. इस मामले की पहली सुनवाई में मैं इन सबूतों को पेश नहीं कर पाया था.’

लीवर सामान्य से बड़ा हो गया था...
सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) ने पहले भी कहा था कि उन्होंने आंख के संक्रमण के लिए चिकित्सक की सलाह पर दवा ली थी. उन्होंने कहा, ‘मैंने इस दवा का सेवन तभी किया था जब मैं दर्द के कारण अपनी आंखें खोल भी नहीं पा रहा था. अगर मैं आंख खोलने की स्थिति में रहता तो शायद मुझे पता होता कि मैं कौन सी दवा ले रहा हूं. मैंने चिकित्सक पर विश्वास किया. उस समय मेरा यकृत (लीवर) सामान्य से ज्यादा बड़ा हो गया था जिस कारण यह दवा सात दिनों में मेरे शरीर से बाहर नहीं निकल पाई और इसके सेवन के 13वें दिन भी यह मेरे नमूने में पाई गई.’



राष्ट्रीय शिविर में शामिल करने की मांग करेंगे


प्रतिबंध के कारण हालांकि लंदन ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने वाला यह मुक्केबाज 2020 टोक्यो ओलंपिक क्वालीफायर ट्रायल में भाग नहीं ले सका था. सुमित सांगवान (Sumit Sangwan) ने कहा, ‘मैं महासंघ से खुद को राष्ट्रीय शिविर में शामिल करने की मांग करूंगा. जब यह सब हुआ तक मैं राष्ट्रीय चैंपियन था. मुझे वापस शिविर में जगह मिलनी चाहिए.’ सांगवान का नमूना 10 अक्टूबर को लिया गया था जिसमें डायूरेटिक्स और ‘मास्किंग एजेंट’ के अंश पाए गए थे.

टीम इंडिया के नए चीफ सेलेक्टर को लेकर क्रिकेट सलाहकार समिति आज करेगी बड़ा ऐलान

बुरे दौर से गुजर रहे विराट कोहली के लिए पाकिस्तान से आई राहत की खबर, ये है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 3, 2020, 9:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading