• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympic: भारतीय खिलाड़ी 18 खेलों में कर चुके हैं क्वालिफाई, लेकिन इतिहास में सिर्फ 8 खेलों में मिला है मेडल

Tokyo Olympic: भारतीय खिलाड़ी 18 खेलों में कर चुके हैं क्वालिफाई, लेकिन इतिहास में सिर्फ 8 खेलों में मिला है मेडल

Tokyo Olympic: 2016 रियो ओलंपिक में भारत को सिर्फ दो मेडल मिला था. (SAI)

Tokyo Olympic: 2016 रियो ओलंपिक में भारत को सिर्फ दो मेडल मिला था. (SAI)

Tokyo Olympic: ओलंपिक गेम्स की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है. टोक्यो (Tokyo Olympic) के लिए 115 भारतीय खिलाड़ियों ने 18 खेलों में क्वालिफाई किया है. लेकिन उनके लिए यहां मेडल जीतना आसान नहीं होगा. ओलंपिक का इतिहास यही बताता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) यानी खेलों का सबसे बड़ा मंच अधिक दिन दूर नहीं है. 23 जुलाई से टोक्यो में होने वाले गेम्स में 200 से अधिक देशों के 11 हजार से अधिक खिलाड़ी उतरेंगे. कोरोना के कारण पिछले साल इसे स्थगित कर दिया गया था. टोक्यो में दूसरी बार ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है. इससे पहले यहां 1964 में भी खेलों का आयोजन हो चुका है. तब 5 हजार के आस-पास खिलाड़ी उतरे थे और अमेरिका 90 मेडल के साथ टॉप पर रहा था.

    टोक्यो ओलंपिक गेम्स के मुकाबले 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने हैं. 33 खेलों के कुल 339 इवेंट होंगे. भारतीयों की बात की जाए तो अब तब 115 खिलाड़ी 18 खेलों के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं. ओलंपिक इतिहास की बात की जाए तो भारत को सिर्फ 8 खेलों में मेडल मिला है. ऐसे में 10 खेलों में हमें पहली बार मेडल मिल सकता है. 2016 रियो ओलंपिक में भारत को सिर्फ दो मेडल मिला था. पीवी सिंधु ने बैडमिंटन में सिल्वर मेडल जीता था. वहीं कुश्ती में साक्षी मलिक ने ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था. लेकिन इस बार साक्षी क्वालिफाई नहीं कर सकी हैं.

    सबसे ज्यादा 11 मेडल हॉकी में मिला है

    भारतीय खिलाड़ियों ने ओलंपिक इतिहास में अब तक 9 गोल्ड, 7 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज सहित 28 मेडल जीते हैं. हॉकी में सबसे ज्यादा 11 मेडल मिले हैं. हॉकी में अब तक 8 गोल्ड, 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज मेडल मिला है. शूटिंग में 1 गोल्ड, 2 सिल्वर और 1 ब्रॉन मेडल जीता है. इसके अलावा भारतीय खिलाड़ी किसी अन्य खेल में गोल्ड मेडल नहीं जीत सके हैं. ऐसे में भारतीय खिलाड़ियों का रिकॉर्ड ओलंपिक में अच्छा नहीं माना सकता है.

    3 खेलो में मिला है कम से कम एक सिल्वर

    भारतीय खिलाड़ियों ने एथलेटिक्स में 2 सिल्वर, कुश्ती में एक सिल्वर व 4 ब्रॉन्ज और बैडमिंटन में एक सिल्वर व एक ब्रॉन्ज मेडल जीता है. इसके अलावा बॉक्सिंग में दो ब्रॉन्ज जबकि टेनिस व वेटलिफ्टिंग में एक-एक ब्रॉन्ज मेडल मिला है. टेनिस में एकमात्र मेडल 1996 में लिएंडर पेस ने दिलाया था. वहीं वेटलिफ्टिंग में 2000 में कर्णम मल्लेश्वरी ने ब्रॉन्ज पर कब्जा किया था.

    एथलेटिक्स में 21 तो शूटिंग में 15 खिलाड़ियाें ने किया है क्वालिफाई

    टोक्यो ओलंपिक की बात की जाए तो भारत के 115 खिलाड़ियों ने 18 खेल में क्वालिफाई किया है. हॉकी की दोनों महिला व पुरुष टीम के 16-16 खिलाड़ी यानी कुल 32 खिलाड़ी टोक्यो में उतरेंगे. व्यक्तिगत खेलों में एथलेटिक्स में सबसे ज्यादा 21 और शूटिंग के 15 खिलाड़ी दमदख दिखाएंगे. आर्चरी में 4, बैडमिंटन में 4, बॉक्सिंग में 9, घुड़सवारी में 1, तलवारबाजी में 1, गोल्फ में 3, जिम्नास्टिक में 1, जूडो में 1, रोइंग में 2, सेलिंग में 4, तैराकी में 3, टेबल टेनिस में 4, टेनिस में 2, वेटलिफ्टिंग में 1 और कुश्ती में 7 खिलाड़ी दमखम दिखाएंगे.

    6 बार हमें एक भी मेडल नहीं मिला

    ओलंपिक की बात की जाए तो भारतीय खिलाड़ी पहली बार 1900 में पेरिस ओलंपिक में उतरे थे. हालांकि उस समय देश पर अंग्रेजों का शासन था. 1920 से लगातार खिलाड़ी ओलंपिक में उतर रहे हैं. लेकिन 6 बार ऐसे भी मौके आए हैं, जब भारत को एक भी मेडल नहीं मिला. 1920, 1924, 1976, 1984, 1988 और 1992 में हमें एक भी मेडल नहीं मिला था. सबसे अधिक 6 मेडल 2012 लंदन ओलंपिक में मिले थे. तब भारतीय खिलाड़ियों ने 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल जीते थे. अब तक हमें ओलंपिक इतिहास में एक गेम्स में कभी भी दो गोल्ड मेडल नहीं मिला है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन